ध्‍यान न देने पर गंभीर हो सकती है बच्‍चों में गले के खराश की समस्‍या, जानें इससे बचाव के 5 उपाय

बच्‍चे के गले में खराश अगर चार से पांच द‍िनों में ठीक न हो तो इसे गंभीरता से लें और जल्‍दी इलाज करवाएं नहीं तो समस्‍या गंभीर हो सकती है

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Aug 18, 2021Updated at: Aug 18, 2021
ध्‍यान न देने पर गंभीर हो सकती है बच्‍चों में गले के खराश की समस्‍या, जानें इससे बचाव के 5 उपाय

बचपन में ज्‍यादातर बच्‍चों का गला कभी न कभी खराब होता ही है, गले की खराश वैसे तो आम समस्‍या है पर बच्‍चों में अगर ये समस्‍या ज्‍यादा समय तक रहे और आप इस पर ध्‍यान न दें तो ये गंभीर बीमारी का रूप ले सकती है इसल‍िए बच्‍चों में गले की खराश का इलाज करना जरूरी है। अगर सर्दी या जुखाम के कारण गले में खराश है तो वो एक हफ्ते के भीतर ठीक हो जाएगा वहीं अन्‍य कुछ कारण हो सकते हैं ज‍िसमें बच्‍चों के गले में खराश का कारण अन्‍य बीमारी हैं जैसे स्‍ट्रेप थ्रोट, स्टोमाटाइटिस आद‍ि। इन बीमार‍ियों के लक्षणों पर गौर करें और इसे जल्‍द से जल्‍द ठीक करने की कोश‍िश करें। बच्‍चों का गला खराब हो जाए तो आप कुछ आसान उपाय अपना सकते हैं ज‍िनके बारे में हम इस लेख में चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

sore throat in kids

(image source:keepkidshealthy)

बच्‍चों में कब गंभीर होती है गले में खराश की समस्या? (When throat problem is serious in kids)

अगर आपके बच्‍चे का गला खांसी या सर्दी-जुखाम जैसी आम समस्‍याओं के कारण खराब है तो उसे 5 से 6 द‍िन या एक हफ्ते के अंदर ठीक हो जाना चाह‍िए उससे ज्‍यादा समय लगने पर कुछ गंभीर बीमार‍ियों के संकेत भी हो सकते हैं जैसे- 

  • कुछ बच्‍चों को स्‍ट्रेप थ्रोट की समस्‍या हो जाती है। ये एक तरह का इंफेक्‍शन है ज‍िसमें आंख, कान, गले में इंफेक्‍शन हो जाता है।
  • स्‍ट्रेप थ्रोट की बात करें तो ये इंफेक्‍शन होने पर गले में खराश, सूजन और दर्द की समस्‍या बच्‍चे को हो सकती है।
  • गले में खराश के अलावा स्‍ट्रेप थ्रोट होने पर बुखार, स‍िर दर्द, उल्‍टी जैसे लक्षण भी देखने को म‍िल सकते हैं। 
  • स्‍ट्रेप थ्रोट होने पर डॉक्‍टर बच्‍चे को एंटीबायोट‍िक्‍स दवाएं दे सकते हैं। 
  • बच्‍चे के गले में खराश होने का कारण स्‍टोमाटाइट‍िस भी हो सकता है। इस बीमारी में बच्‍चे के मुंह और गले में छाले हो सकते हैं। 
  • स्‍टोमाटाइट‍िस होने पर खाने और पीने में बच्‍चे को परेशानी हो सकती है, जिन बच्‍चों को ड‍िहाइड्रेशन की समस्‍या होती है उन्‍हें भी स्‍टोमाटाइट‍िस होने का खतरा ज्‍यादा होता है।

इसे भी पढ़ें- 'राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम' क्या है? जानें इस योजना के तहत बच्चों को क्या लाभ मिलते हैं?

बच्‍चे को गले में खराश के साथ ये लक्षण नजर आएं तो सर्तक हो जाएं (Serious symptoms with sore throat)

  • अगर आपके बच्‍चे को गले में खराश के साथ सांस लेने में परेशानी हो रही है तो आप डॉक्‍टर से तुरंत संर्पक करें।
  • बच्‍चे की गर्दन में अकड़न होने पर भी आपको डॉक्‍टर से बात करनी चाह‍िए।
  • अगर बच्‍चे को खाना गुटकने या पानी पीने में परेशानी हो तो ये गंभीर समस्‍या का लक्षण हो सकता है।
  • गले में खराश के साथ बुखार 100 से ऊपर हो तो डॉक्‍टर को द‍िखाएं।
  • अगर आपका बच्‍चा उठाने पर भी न उठे तो उसे कोई तकलीफ हो सकती है। 
  • अगर बच्‍चे को उल्‍टी आए, स‍िर में दर्द हो, रैशेज की समस्‍या हो तो ये च‍िंताजनक बात हो सकती है। 

खराश की समस्‍या से बचने के उपाय (Prevention tips to cure sore throat)

1. बच्‍चे को गले की खराश से बचाने के लि‍ए शहद ख‍िलाएं (Use honey to prevent sore throat in kids)

honey for sore throat

(image source:reed.com)

शरीर के अन्‍य ह‍िस्‍सों के ल‍िए गले के ल‍िए भी शहद के फायदे अनग‍िनत हैं। अगर आप बच्‍चे को गले में खराश की समस्‍या से बचाना चाहते हैं तो उसे शहद ख‍िलाएं, इससे बच्‍चे के शरीर की इम्‍यून‍िटी भी बनेगी और बच्‍चे का शरीर इंफेक्‍शन से लड़ पाने में सक्षम होगा। आपको बच्‍चे को एक कप गरम पानी में शहद और नींबू का रस म‍िलाकर देना है। इससे गले की खराश दूर भी होती है और बच्‍चे को गले की खराश से बचाव भी म‍िलेगा। अगर आपका बच्‍चा एक साल से कम उम्र का है तो उसे शहद न दें। 

2. बच्‍चे को गले में खराश की समस्‍या से बचाने के ल‍िए घी चटाएं (Use ghee to prevent sore throat in kids)

ghee for sore throat

(image source:feastingathome)

छह महीने और उससे ऊपर के बच्‍चे को आप मौसम बदलने पर या इंफेक्‍शन का खतरा होने पर घी चटा सकते हैं। घी में आप प‍िसी हुई काली म‍िर्च को म‍िलाएं और बच्‍चे को चटाएं। अगर बच्‍चे का गला खराब है तो उसे ठीक करने में भी घी फायदेमंद है। गले में सूजन की समस्‍या दूर करने में भी घी फायदेमंद है। घी के अलावा आप बच्‍चे को सूप भी दे सकते हैं, इससे गले में नीम बरकरार रहेगी और गले में खराश की समस्‍या नहीं होगी। 

इसे भी पढ़ें- बच्चों को दही खिलाने के 6 फायदे, कुछ नुकसान और खिलाने के दौरान जरूरी सावधानियां

3. ह्यूम‍िड‍िफायर से बच्‍चे को इंफेक्‍शन हो सकता है (Avoid humidifier to prevent infection in kids)

कुछ लोग छोटे बच्‍चों के ल‍िए घर में ह्यूम‍िड‍िफायर लगवाते हैं ज‍िससे कमरे की हवा में नमी बढ़ती है लेक‍िन आपको इस बात का ध्‍यान रखना है क‍ि उसमें ताजा पानी डलता रहे और मशीन साफ रहे। नहीं तो ह्यूम‍िड‍िफायर से भी कीटाणु बढ़ सकते हैं और हवा के जर‍िए बच्‍चे के गले में जाकर इंफेक्‍शन का कारण बन सकते हैं। आपको कोश‍िश करनी चाह‍िए क‍ि ह्यूम‍िड‍िफायर को न लगवाएं।

4. बच्‍चे को गले में खराश से बचाने के ल‍िए केला ख‍िलाएं (Banana prevents sore throat in kids)

banana for sore throat

(image source:immediate.co.uk)

केला खाने से गले में खराश की समस्‍या का इलाज भी होता है और गले में खराश की समस्‍या से बचा भी जा सकता है। केले को न‍िगलने में आसानी होती है और इसमें विटाम‍िन सी, बी6, पोटैश‍ियम आद‍ि पोषक तत्‍व होते हैं ज‍िसे खाने से गले में खराश की समस्‍या दूर होती है। आपको इस बात का भी ध्‍यान रखना चाहिए क‍ि बच्‍चा आइसक्रीम या कोल्‍डड्र‍िंक जैसी चीजों का सेवन तो नहीं करता है, इन चीजों से गला जल्‍दी खराब होने की आशंका रहती है। 

5. बच्‍चे को गले में इंफेक्‍शन से बचाने के ल‍िए माल‍िश करें (Oil massage to prevent throat infection in kids)

बार‍िश के मौसम में बच्‍चे के गले में इंफेक्‍शन हो सकता है, इस दौरान आप बच्‍चे के गले की माल‍िश सरसों के तेल से कर सकते हैं। सरसों के तेल को गुनगुना कर लें और उस तेल से बच्‍चे के गले की माल‍िश करें तो गले में इंफेक्‍शन का डर नहीं रहेगा। तेल से माल‍िश करने से गले को गरमाहट म‍िलेगी और इंफेक्‍शन से बचाव होगा।

अगर बच्‍चे के गले में खराश है और समस्‍या ठीक नहीं हो रही है तो डॉक्‍टर के पास जाएं क्‍योंक‍ि गले की खराश में कुछ दवाएं जरूरी होती हैं इसल‍िए इलाज में देरी न करें।

(main image source:imimg.com,patientpop)

Read more on Children Health in Hindi 

Disclaimer