आयुर्वेद में बताए इन 4 तरीकों से करें शहद का सेवन, मॉनसून में होने वाले इंफेक्शन और बीमारियां रहेंगी दूर

मानसून के समस्या होने वाली बीमारियों और संक्रमण से बचाव के लिए शहद का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद है, एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Aug 04, 2021 19:10 IST
आयुर्वेद में बताए इन 4 तरीकों से करें शहद का सेवन, मॉनसून में होने वाले इंफेक्शन और बीमारियां रहेंगी दूर

मानसून का सीजन शुरू होते ही कई तरह की बीमारियां और संक्रमण भी फैलने लगते हैं। बारिश के मौसम में इन बीमारियों और संक्रमण से बचने के लिए खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। खासतौर से जिन लोगों के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है उन्हें इस मौसम में बीमारियों और संक्रमण से ज्यादा खतरा रहता है। आयुर्वेद में मानसून यानि बारिश के मौसम में खानपान और बीमारियों से बचाव के बारे में बताया गया है। आयुर्वेद के मुताबिक इस मौसम में कुछ चीजों के सेवन से परहेज करना चाहिए। बारिश के मौसम में होने वाले इंफेक्शन और बीमारियों से बचाव के लिए आयुर्वेद के मुताबिक शहद (Honey) का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। आयुर्वेदिक तरीके से शहद का इस्तेमाल करने से कई बीमारियों में भी फायदा मिलता है। दिल्ली स्थित अजय आयुर्वेद क्लिनिक के आयुर्वेदाचार्य डॉ अजय के मुताबिक इन तरीकों से शहद का इस्तेमाल मानसून में बहुत फायदेमंद होता है। 

मानसून में होने वाले इंफेक्शन और बीमारियों से बचाव के लिए शहद का इस्तेमाल (Honey in Monsoon As Per Ayurveda) 

यूं तो शहद का सेवन संपूर्ण सेहत के लिए बहुत फायदेमंद (Benefits of Honey) होता है। शरीर तमाम बीमारियों में शहद के इस्तेमाल के अलग-अलग तरीके हैं। मानसून में बीमारियों और संक्रमण से बचाव के लिए शहद का इस्तेमाल इन तरीकों से करने पर बहुत फायदा मिलता है। 

Honey-in-Monsoon-As-Per-Ayurveda

1. शहद और नीम की पत्तियों का इस्तेमाल (Neem Leaves and Honey)

आयुर्वेद में शहद और नीम दोनों को ही बहुत फायदेमंद औषधि माना जाता है। शहद में कफ, विष, रक्तपित्त, प्यास और हिचकी आदि को खत्म करने वाले गुण मौजूद होते हैं और नीम की पत्तियों में एंटी फंगल, जीवाणुरोधी गुण पाए जाते है। शहद का सेवन शरीर की कमजोरी को भी दूर करता है। आप मानसून के दौरान होने वाली समस्याओं में शहद और नीम की पत्तियों का एकसाथ इस्तेमाल कर सकते हैं। नीम और शहद का इस्तेमाल पेट से जुड़ी समस्याओं से लेकर शरीर के हर अंग को फायदा देता है। मानसून के दौरान इसका सेवन करने से पेट से जुड़ी समस्याएं ठीक होंगी और संक्रमण से बचाव भी होगा। आप मानसून के दौरान समस्याओं से बचने के लिए शहद और नीम की पत्तियों का इस तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : दही के साथ शहद मिलाकर खाने के 5 फायदे, जानें डायटीशियन से

  • सबसे पहले नीम की कुछ साफ और हरी पत्तियों का रस निकाल लें।
  • अब इस रस में थोड़ी मात्रा में काली मिर्च का पाउडर मिलाएं।
  • इसके बाद इसमें एक चम्मच शहद मिलकर सेवन करें।
  • ऐसा नियमित रूप से कुछ दिनों तक करें।
  • इसके अलावा घाव आदि की समस्या में आप नीम के पत्तों का पेस्ट और शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Honey-in-Monsoon-As-Per-Ayurveda

2. शहद और प्याज के रस का सेवन (Onion Juice and Honey)

शहद में प्याज का रस मिलाकर इसका सेवन करने से सेहत को कई फायदे मिलते हैं। प्याज में कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं इसलिए इसका इस्तेमाल आयुर्वेद में कई समस्याओं के इलाज में भी किया जाता है। खांसी और जुकाम आदि की समस्या में प्याज के रस का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। प्याज में एंटी बैक्‍टीरियल गुण भी पाए जाते हैं जो संक्रमण से बचाव में उपयोगी होते हैं। इसके अलावा शहद में मौजूद  प्रीबायोटिक्स, एंटीऑक्सिडेंट, मिनरल्‍स, एंजाइम, विटामिन बी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करते हैं। मानसून के दौरान खांसी, जुकाम और संक्रमण आदि से बचने के लिए प्याज के रस और शहद का सेवन इस तरह से करें।

  • प्याज को कद्दूकस में घिस कर इसका पइसका अर्क निकालें।
  • अब इसमें शहद को मिलाएं।
  • शहद मिलाने के बाद इसे थोड़ी देर के लिए किसी बर्तन में रख दें।
  • इस सिरप को खांसी, सर्दी आदि समस्या में इस्तेमाल करें।
  • बच्चों को इसका एक छोटा चम्मच दें और वयस्कों को एक बड़ा चम्मच सिरप दें।

3. दूध और शहद का इस्तेमाल (Milk and Honey)

मानसून के दौरान दूषित पानी और कई अन्य वजहों से पेट से जुड़ी समस्याएं होती हैं। पेट से जुड़ी समस्या में शहद के साथ दूध का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। अगर आपको मानसून के दौरान दूषित पानी पीने की वजह से कब्ज की समस्या हो गयी है तो रात को सोने से पहले हल्के गुनगुने दूध में शहद मिलाकर सेवन करें। ऐसा करने से कब्ज की समस्या दूर होती है और पाचन तंत्र भी मजबूत होता है। ध्यान रहे बहुत गर्म या उबलते हुए दूध में शहद न मिलाएं।

4. नींबू के साथ शहद का सेवन (Honey and Lemon)

शहद और नींबू का सेवन सेहत के लिए रामबाण माना जाता है। इसका सेवन कई समस्याओं में फायदेमंद होता है। वजन कम करने से लेकर, शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने तक शहद और नींबू का सेवन फायदेमंद होता है। मानसून के सीजन में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बूस्ट करने के लिए आप शहद और नींबू का सेवन कर सकते हैं। रोजाना एक चम्मच शहद, आधे नींबू का रस हल्के गुनगुने पानी में डालकर पिएं।

Honey-in-Monsoon-As-Per-Ayurveda

इसे भी पढ़ें : अदरक और शहद मिलाकर खाने से ठीक हो सकती हैं ये 7 समस्याएं

ऊपर बताये गए सभही आयुर्वेदिक नुस्खों का इस्तेमाल मानसून के समस्या होने वाली बीमारियों के अलावा कई अन्य समस्याओं में भी फायदेमंद होता है। इन नुस्खों का इस्तेमाल करने से पहले किसी चिकित्सक या एक्सपर्ट से सलाह लेना जरूरी है।

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer