डर्मेटोलॉजिस्ट से जानें कैसे रखती हैं वो अपनी त्वचा का ख्याल और क्या है उनका स्किन केयर रूटीन

डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. इशिता और डॉ. नंदिनी बरूआ से जानिए कि वे अपनी स्किन का ख्याल कैसे रखती हैं। आपको भी इससे मदद मिलेगी। 

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Jun 03, 2021
डर्मेटोलॉजिस्ट से जानें कैसे रखती हैं वो अपनी त्वचा का ख्याल और क्या है उनका स्किन केयर रूटीन

बेदाग, निखरी, जवां और चमकती त्वचा कौन नहीं चाहता, लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारी त्वचा पर किसी तरह की समस्या होने पर हमारा इलाज करने वाले त्वचा रोग विशेषज्ञ अपनी त्वचा का ख्याल कैसे रखते हैं। ये उत्सुकता जितनी मुझे है शायद आपको भी उतनी ही होगी। हम सभी यह जानना चाहते हैं कि हमारी त्वचा को बेदाग बनाने और रोगों से मुक्त कराने के लिए जो डॉक्टर हमें दवाएं देते हैं या जरूरत पड़ने पर ऑपरेशन भी करते हैं, आखिर वे अपनी त्वचा के लिए क्या स्किन केयर रूटीन अपनाते होंगे। पारस अस्पताल में डर्मेटॉलोजिस्ट डॉ. नंदिनी बरूआ और आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में डॉ. इशिता राका पंडित से हमने जाना कि आखिर ये डॉक्टर अपनी चमकती त्वचा के लिए चेहरे पर क्या लगती हैं। इनका स्किन केयर रूटीन क्या है। 

Inside6_baboolgond

AM-PM रूटीन को करती हैं फॉलो : डॉ. इशिता राका पंडित

आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. इशिता का कहना है कि उनका एएम और पीएम रूटीन अलग-अलग है। वे सुबह उठकर फेसवॉश से पहले चेहरा साफ करती हैं। वे बताती हैं कि उनका स्किन टाइप मिक्स्ड है। उनका टी जोन एरिया ऑइली है और बाकी चेहरा ड्राई है। इसलिए उन्हें दो तरह के फेसवॉश का प्रयोग करना पड़ता है। 

31 साल की डॉ. इशिता का कहना है कि उनका टी जोन ऑइली है इसलिए वे एक सेलेसिलिक एसिड (salicylic acid) बेस्ड फेसवॉश और दूसरा नॉर्मल फेसवॉश का प्रयोग करती हैं, जिसमें झाग नहीं बनते हैं। स्किन टाइप के अनुसार फेसवॉश बदलती रहती हैं। 

सुबह मुंह धोने के बाद मौसम के अनुसार टोनर लगाती हैं। टोनर में वे रोजवॉटर प्रयोग में लाती हैं। सुबह वे विटामिन सी सीरम लगाती हैं। इसके बाद मॉश्चराइजर और सनस्क्रीन लगाती हैं। डॉक्टर कहती हैं कि उनका स्किन टाइप इंडियन है। इसलिए टैनिंग ज्यादा होती है, इसलिए वे 2 घंटे बाद सनस्क्रीन वापस रिपीट करती हैं। अगर वे दोपहर में कहीं जा रही हैं तो फिर से सनस्क्रीन लगाती हैं। 

इसे भी पढ़ें : इन 6 फूलों से दूर होंगी त्वचा संबंधी परेशानियां, जानें कैसे

inside1_derma

चेहरे पर लगाती हैं फलों का जूस 

डॉक्टर कहती हैं कि वे अपनी क्लीनिक से शाम को 7 बजे घर आती हैं। घर आकर वे चेहरे का साफ पानी से धोती हैं। फिर जो भी फल वे खा रही होती हैं तो उसे ही चेहरे पर लगा लेती हैं। जैसे अगर वे तरबूज खा रही हैं तो उसको ग्रेट करके उसके जूस को चेहरे पर लगा लेती हैं। रात में सोने से पहले चेहरे को धोती हैं। फिर नियासिनामाइड  सीरम ( niacinamide serum) लगाती हैं। क्योंकि उन्हें स्किन टोन इवन करना होता है। फिर एक मॉश्चराइजर लगाती हैं। 

वैकल्पिक दिनों पर आईबाम लगाती हैं डॉक्टर

डॉ. इशिता का कहना है कि वैकल्पिक दिनों पर वे आंखों पर आईबाम लगाती हैं। दूसरे दिन लिप बाम लगा लिया। तनाव को कम करने के लिए वे आईबाम लगाती हैं। दूसरा आंखें फ्रेश रहें इसके लिए भी वे आईबाम लगाती हैं। वे बताती हैं कि आईबाम में कम मात्रा में रेटिना ऑइल रहता है, इसलिए वह एक आई बाम की तरह काम करता है। डॉक्टर कहती हैं कि रेटिनी ऑइल सीरम भी डॉक्टर की सलाह से लगाना चाहिए। 30 की उम्र में एजिंग को कम करने के लिए भी इसका प्रयोग किया जा सकता है। तो वहीं, वैकल्पिक दिनों में चेहरे को बर्फ के पानी से धोती हैं। डॉक्टर इशिता का कहना है कि वे हफ्ते में एक बार क्ले मास्क लगाती हैं।

सप्लीमेंट भी लेती हैं डॉ. इशिता

डॉ. इशिता का कहना है कि वे फूडी हैं। इस वजह से उन्हें हेयर सप्लीमेंट और स्किन सप्लीमेंट लेना पड़ता है। स्किन सप्लीमेंट्स को दो महीनों में बदलती रहती हैं। रोजाना नारियल पानी पीती हैं। शुगर को अवॉइड करती हैं। और ग्रीन टी लेती हैं।  

इसे भी पढ़ें : कोरोनाकाल में बढ़ रही हैं ये त्वचा समस्याएं, डॉक्टर से जानें बचाव के लिए 4 स्किन केयर टिप्स

Inside_Truestoryofdermatologist1

स्किन को हाइड्रेट रखना जरूरी : डॉ. नंदिनी बरूआ

पारस अस्पताल में डॉ. नंदिनी बरूआ का कहना है कि वे रोजाना एक अच्छे फेसवॉश से चेहरा साफ करती हैं। फिर सनस्क्रीन लगाती हैं। वे कहती हैं कि वे पिछले 12 सालों से सनस्क्रीन लगा रही हैं। दिन में 2-3 बार लगा लेती हैं। मॉश्चराइजर लगाती हैं। कभी-कभी मॉश्चराइजर और सनस्क्रीन साथ-साथ लगाती हैं। रात में हाइ्रेटिंग मॉश्चराइजर लगाती हैं। कभी-कभी विटामिन सी सिरम भी प्रयोग में लाती हैं। खुद को हाइड्रेट रखती हैं। हरी सब्जियां खाती हैं। साथ ही वे बताती हैं कि दूध की जगह दही खाती हैं। क्योंकि दही स्किन के लिए ज्यादा अच्छा है। 

Inside_Truestoryofdermatologist

वे कहती हैं कि सभी की स्कीन अलग होती है, इसलिए अपनी स्किन के अनुसार मॉश्चराइजर और सनस्क्रीन लेना चाहिए। वे कहती हैं मेरी स्किन कांबीनेशन है। सर्दियों में यह बहुत ड्राई हो जाती है और गर्मियों में बहुत ऑइली। तो उसके अनुसार प्रोडक्ट प्रयोग करती हैं। 

डॉ. इशिता और डॉ. नंदिनी बरूआ का स्किन केयर रूटीन जानकर आप समझ ही गए होंगे कि त्वचा की देखभाल कितनी जरूरी है। डॉक्टर इशिता और डॉ. नंदिनी का कहना है कि खुद को भीतर और बाहर दोनों जगह से सुंदर रखना एक स्वस्थ शररी के लिए जरूरी है। 

Read More Articles on Skin Care in Hindi

Disclaimer