कंधा फड़कना भी है एक समस्या, जानें इसका कारण और 5 आसान उपाय

अगर आपको भी कंधा फड़कने का अहसास होता है तो आप कुछ आसान उपाय अपनाकर इस समस्‍या से बच सकते हैं, जानते हैं इसके बारे में 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Oct 01, 2021
कंधा फड़कना भी है एक समस्या, जानें इसका कारण और 5 आसान उपाय

कंधा फड़कने पर कंधे में दर्द, कसाव, अकड़न महसूस होती है। ज्‍यादा समय तक एक ही पोजिशन में बैठे रहने से या कंधे पर लंबे समय से दबाव होने के कारण कंधा फड़कने की समस्‍या होती है। कंधा मसल्‍स, ल‍िगामेंट्स, ज्‍वॉइंट्स, हड्डी को म‍िलाकर बना होता है। जब इस पर दबाव पड़ता है तो मसल्‍स में ख‍िंचाव या झनझनाहट का अहसास होता है ज‍िसे हम कंधा फड़कना कहते हैं। इस लेख में हम कंधा फड़कने का कारण और उपाय पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

shoulder pain

(image source:healthspot)

कंधा फड़कने का कारण (Causes of Shoulder Twitching)

कई कारणों से कंधा फड़क सकता है या कंधे में दर्द हो सकता है जैसे-

  • ड‍िहाइड्रेशन के कारण भी कंधा फड़कने की समस्‍या हो सकती है। अगर आप लगातार एक्‍सरसाइज करते हैं तो आपके शरीर में न्‍यूट्र‍िएंट्स की कमी हो सकती है ज‍िसके चलते कंधा फड़कना या मसल्‍स में झनझनाहट का अहसास हो सकता है।
  • तापमान में बदलाव के कारण भी कंधा फड़कने जैसा अहसास हो सकता है, तापमान बदलने का असर हमारे शरीर पर भी पड़ता है जिसमें कंधा फड़कने जैसी हरकत भी मसल्‍स में हो सकती है।
  • ब्‍लड सर्कुलेशन की कमी के चलते भी कंधे में दर्द या फड़कने जैसी समस्‍या होती है, इससे बचने के ल‍िए आप कंधे पर भारी बोझ न लादें।
  • नर्व डैमेज या नर्व मसल्‍स इंजरी होने पर भी कंधा फड़कने जैसे लक्षण नजर आ सकते हैं, ऐसा होने पर तुरंत डॉक्‍टर के पास जाएं। 
  • अगर आपके शरीर में व‍िटाम‍िन डी, इलेक्‍ट्रोलाइट, कैल्‍श‍ियम, मैग्‍न‍िश‍ियम या सोड‍ियम की कमी है तो भी कंधा फड़कने की समस्‍या हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- फ्रोजन शोल्डर की समस्या से राहत दिलाती हैं 10 एक्सरसाइज, एक्सपर्ट से जानें करने का सही तरीका और फायदे

कंधा फड़कने पर क्‍या करें? (How to treat Shoulder Twitching)

pain treatment

(image source:verywellhealth)

1. कंधे को आराम दें (Rest)

अगर कंधे में दर्द या ख‍िंचाव महसूस हो रही है तो उसे आराम दें। आराम करना कंधे के दर्द से बचाव भी है और इलाज भी। आपको अच्‍छी मसाज लेनी चाह‍िए इससे आपकी मसल्‍स को र‍िलैक्‍स फील होगा, कई बार आराम करने से दर्द चला जाता है। आप हाथों का मूवमेंट न छोड़ें केवल कुछ देर कंधे को आराम दें।

2. कंधे का बोझ न बढ़ाएं (Avoid weight on shoulder)

अगर आप बैग को रोजाना कंधे पर कैरी करते हैं तो भी आपको कंधा फड़कने जैसी समस्‍या हो सकती है, इससे बचने के ल‍िए एक कंधे का बोझ न बढ़ाएं। अगर बैग या सामान भारी है तो उसका भार दोनों कंधों पर टांगकर बांटें या कंधे पर बोझ डालने से बचें। इससे मसल्‍स को आराम म‍िलेगा और ब्‍लड सर्कुलेशन में रुकावट नहीं आएगी।

3. स्‍ट्रेच‍िंग करें (Stretching) 

अगर कंधा फड़कने की समस्‍या है तो आपको स्‍ट्रेच‍िंग करनी चाह‍िए। स्‍ट्रेच‍िंग करते समय आप मसल्‍स को उल्‍टी डायरेक्‍शन में पुल करें ज‍िससे दर्द कम होगा। आपको मसल्‍स को ज्‍यादा स्‍ट्रेच नहीं करना है, आपको स्‍ट्रेच‍िंग का सही तरीका पता होना चाह‍िए, आप क‍िसी एक्‍सपर्ट की मदद भी ले सकते हैं। अगर आपको दर्द होता है तो आप रुक जाएं। अपने अपने कंधे को क्‍लॉक और एंटी-क्‍लॉक डायरेक्‍शन में रोटेट करें। 10 म‍िनट तक ऐसा करने से कंधा फड़कने की समस्‍या नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें- कंधे और बाजू को मजबूत बनाती है 'अल्टरनेटिंग डंबल शोल्डर प्रेस' एक्सरसाइज, जानें इसे करने का तरीका

4. बर्फ की स‍िकाई करें (Use cold presses) 

मसल्‍स को र‍िलैक्‍स करने के ल‍िए बर्फ की स‍िकाई करें। बर्फ की स‍िकाई करने से कंधे का दर्द और फड़कने की समस्‍या दूर होगी। आप गरम स‍िकाई भी कर सकते हैं पर पहली बार दर्द होने पर ठंडी स‍िकाई करें अगर आराम न म‍िले तब आप गरम स‍िकाई कर सकते हैं।

5. तरल पदार्थ पीएं (Drink fluids)

अगर आपको कंधा फड़कने जैसे लक्षण नजर आ रहे हैं तो आप तरल पदार्थ पीएं। आप इलेक्‍ट्रोलाइट या पानी पी सकते हैं। अगर आप बाहर जा रहे हैं तो अपनी बॉटल साथ लेकर जाएं। पानी की कमी यानी ड‍िहाइड्रेशन की समस्‍या होने पर मसल्‍स में दर्द या सूजन जैसा अहसास होता है।

(main image source:www.ebtc.ie)

Read more on Miscellaneous in Hindi 

Disclaimer