डिहाइड्रेशन का संकेत हैं ये 5 बातें, गर्मी में रहें सावधान

डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी हो जाना। गर्मी में डिहाइड्रेशन की समस्या आम है। इसका कारण यह है कि गर्मी में हमारे शरीर से पसीना निकलता है और शरीर के तापमान को संतुलित करने के लिए ज्यादा पानी की जरूरत पड़ती है। ऐसे में अगर आप कम पानी पीते है

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Mar 31, 2019Updated at: Mar 31, 2019
डिहाइड्रेशन का संकेत हैं ये 5 बातें, गर्मी में रहें सावधान

डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी हो जाना। गर्मी में डिहाइड्रेशन की समस्या आम है। इसका कारण यह है कि गर्मी में हमारे शरीर से पसीना निकलता है और शरीर के तापमान को संतुलित करने के लिए ज्यादा पानी की जरूरत पड़ती है। ऐसे में अगर आप कम पानी पीते हैं, तो डिहाइड्रेशन का खतरा बढ़ जाता है। कई बार डिहाइड्रेशन या हीट स्ट्रोक के कारण व्यक्ति की मौत भी हो जाती है इसलिए इससे बचाव जरूरी है। आइए आपको बताते हैं डिहाइड्रेशन के संकेत।

आठ घंटों से पेशाब न आना

अगर आप पर्याप्त पानी पीते हैं, तो आमतौर पर 30 मिनट से 4 घंटे के अंतराल पर आपको पेशाब लगती है। मगर यदि आपको लगातार 8 घंटों से पेशाब नहीं आई है, तो ये डिहाइड्रेशन का संकेत हो सकता है।

इसे भी पढ़ें:- गर्मियों में फूड पॉयजनिंग से बचना है, तो अपनाएं ये 10 टिप्स

पेशाब का गहरा पीला रंग

कई बाद दवाओं का सेवन करने से पेशाब का रंग पीला हो जाता है। मगर यदि आप दवाओं का सेवन नहीं करते हैं, यानी सामान्य स्थिति में भी आपके पेशाब का रंग गहरा पीला, बदबूदार है या बहुत कम मात्रा में पेशाब हुई है, तो ये भी हिहाइड्रेशन का संकेत हो सकता है।

अचानक चक्कर आना और अंधेरा

डिहाइड्रेशन का स्तर बढ़ जाने पर व्यक्ति को अचानक चक्कर आने, आंखों के आगे अंधेरा छाने या तेज सिरदर्द की समस्या हो सकती है। ऐसी स्थिति में जितनी जल्दी हो सके, व्यक्ति को पानी के बजाय दूसरे तरल पदार्थ जैसे- नींबू पानी, नारियल पानी, छाछ आदि देना चाहिए।

इसे भी पढ़ें:- दांतों और मसूड़ों को लंबे समय तक स्वस्थ रखने के लिए जरूरी हैं ये 10 ओरल केयर टिप्स

होंठ फटना और त्वचा का रूखापन

डिहाइड्रेशन होने पर शरीर में पानी की कमी होने के कारण व्यक्ति की त्वचा रूखी हो जाती है और होंठ फटने लगते हैं। यानी होठों का फटना या त्वचा पर सफेद रेखाएं डिहाइड्रेशन का संकेत हो सकती हैं। कई बार त्वचा पर लाली भी छा जाती है।

सिरदर्द

शरीर में पानी की कमी के कारण भी सिरदर्द हो सकता है। सिरदर्द के ज्यादातर मरीजों में डिहाइड्रेशन की समस्या पाई जाती है। दिमाग एक प्रकार के द्रव की झिल्‍ली में होता है, यह खोपड़ी को शांत रखने में मदद करता है। यदि इस झिल्‍ली में पानी की कमी के कारण द्रव की मात्रा कम हो जाये तो इससे सिरदर्द और दूसरी समस्‍यायें होने लगती हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Other Diseases in Hindi

Disclaimer