आयुर्वेद में बताया गया है भोजन करने का सही तरीका, ये नियम आपको रखेंगे स्वस्थ

आयुर्वेद के अनुसार, जो लोग सही तरीके से खाना खाते हैं, वे स्वस्थ और फिट रहते हैं।

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Nov 08, 2022 16:30 IST
आयुर्वेद में बताया गया है भोजन करने का सही तरीका, ये नियम आपको रखेंगे स्वस्थ

Khana Khane Ka Sahi Tarika Kya Hai?: जकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपनी सेहत का सही ध्यान नहीं रख पाते हैं। गलत खानपान और सुस्त जीवनशैली के कारण कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होने लगती हैं। खुद को बीमारियों से बचाने के लिए सही खानपान बहुत जरूरी है। आयुर्वेद के अनुसार, शरीर को स्वस्थ रखने के लिए शुद्ध और पौष्टिक भोजन करना चाहिए, जिससे शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिल पाएं। आयुर्वेद में भोजन करने से जुड़े कुछ नियम बताए गए हैं, जिनका पालन करने से शरीर को कई बीमारियों से बचाया जा सकता है। पौष्टिक भोजन खाने के साथ आपको इस बात की भी जानकारी होनी चाहिए कि भोजन को कैसे खाया जाए। आयुर्वेद के अनुसार, जो लोग सही तरीके से खाना खाते हैं, वे स्वस्थ और फिट रहते हैं। आइए जानते हैं कि आयुर्वेद के अनुसार खाना खाने का सही तरीका क्या है (Right way to eat as per ayurveda) -

मौसम के अनुकूल भोजन करें 

आयुर्वेद के मुताबिक, हमेशा मौसम के अनुसार ही भोजन करना चाहिए। मौसम के अनुकूल भोजन करने से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से बचाव होता है। आयुर्वेद के मुताबिक, गर्मियों में हल्का और जल्दी पचने वाला भोजन करना चाहिए। इसके साथ ही, गर्मियों में तरल पदार्थों और ठंडी चीजों का सेवन  ज्यादा करना चाहिए। वहीं, सर्दियों के मौसम में ऐसी चीजें ज्यादा खानी चाहिए, जो शरीर को गर्म रखें। सर्दियों में बासी और ठंडी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए।

Eating-Rules-Ayurveda

जमीन पर बैठकर खाना खाएं 

आयुर्वेद के अनुसार, जमीन पर बैठकर भोजन करना चाहिए। आयुर्वेद में बताया गया है कि जमीन पर बैठकर भोजन करने से खाना अच्छी तरह पचता है। इससे शरीर को भोजन के पौष्टिक तत्व मिल पाते हैं।

इसे भी पढ़ें: आयुर्वेद‍ में पेकोटी विधि (नाभ‍ि पर तेल लगाने) के बताए गए हैं बड़े फायदे, जानें सर्दियों में इसे लगाने के लाभ

एक बार में ज्यादा ना खाएं 

आजकल की व्यस्त जीवनशैली में लोग अक्सर सुबह का नाश्ता स्किप कर देते हैं और फिर लंच में एक साथ ज्यादा भोजन करते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, कभी भी एक साथ ज्यादा भोजन नहीं करना चाहिए। एक बार में बहुत ज्यादा खाना खाने से पाचन तंत्र पर अधिक दबाव पड़ता है और भोजन को पचाने में मुश्किल होती है। आयुर्वेद के मुताबिक, हमेशा भूख से थोड़ा कम खाना ही खाना चाहिए।

भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं 

कुछ लोग बहुत जल्दी-जल्दी खाना खाते हैं। लेकिन, ये सही तरीका नहीं है। आयुर्वेद के अनुसार, भोजन को हमेशा चबा-चबाकर खाना चाहिए। ऐसा करने से भोजन जल्दी और अच्छी तरह पच जाता है। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाने से शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं।

भोजन करते समय पानी ना पिएं 

कुछ लोगों को खाना खाते समय पानी पीने की आदत होती है। लेकिन, आयुर्वेद के अनुसार, खाना खाते समय पानी नहीं पीना चाहिए। इससे खाना सही तरह से नहीं पचता है, जिससे उसे पचाने में ज्यादा समय लगता है। भोजन करते समय पानी पीने से पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। आयुर्वेद के अनुसार,  भोजन करने से लगभग 40 मिनट पहले और भोजन करने के लगभग आधे घंटे बाद पानी पीना चाहिए।

भोजन करने के बाद टहलें 

आयुर्वेद के अनुसार भोजन करने के बाद थोड़ी देर वॉक करनी चाहिए। खाना खाने के तुरंत बाद लेटने से या एक जगह बैठे रहने से खाना सही तरह से नहीं पचता है, जिससे मोटापा और पाचन संबंधी समस्याएं होती हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रदूषण की वजह से हो रही सांस लेने में दिक्कत? अपनाएं ये आयुर्वेदिक उपाय

स्वस्थ रहने के लिए आपको अपना खानपान सही रखना चाहिए। फिट रहने के लिए बैलेंस और पौष्टिक डाइट लें। इसके साथ ही, आपको भोजन करने के  सही तरीके के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए। अगर आप सही तरीके से भोजन नहीं करेंगे तो आपको स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इनसे बचने के लिए आयुर्वेद में बताए गए इन नियमों का पालन करें।

Disclaimer