Doctor Verified

प्रदूषण की वजह से हो रही सांस लेने में दिक्कत? अपनाएं ये आयुर्वेदिक उपाय

Ayurvedic Treatment for Breathing Problems: प्रदूषण की वजह से सांस लेने में तकलीफ होने पर अपनाएं ये आयुर्वेदिक उपाय, मिलेगा फायदा।

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Oct 25, 2022 17:11 IST
प्रदूषण की वजह से हो रही सांस लेने में दिक्कत? अपनाएं ये आयुर्वेदिक उपाय

Ayurvedic Treatment for Breathing Problems: हवा में प्रदूषण का स्तर सर्दियों के मौसम में बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। देशभर के कई राज्यों में पराली जलाने और कारखानों के धुंए में मौजूद हानिकारक कण जब आपकी सांस के जरिए शरीर में पहुंचते हैं, तो इससे कई गंभीर बीमारियों और समस्या का जन्म होता है। बढ़ते प्रदूषण की वजह से आपको सांस लेने में तकलीफ का सामना करना पड़ता है। भारत में मौजूदा समय में राजधानी दिल्ली समेत आसपास के राज्यों में वायु प्रदूषण की स्थिति बेहद गंभीर बनी हुई है। बढ़ते प्रदूषण के कारण श्वसन तंत्र से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी बढ़ रहा है। प्रदूषण की वजह से आपको सांस लेने में तकलीफ के अलावा आंख में जलन और खांसी जैसी समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है। अगर आप भी प्रदूषण की वजह से सांस लेने में परेशानी की समस्या से जूझ रहे हैं, तो यह लेख आपके लिए ही है। आइए जानते हैं प्रदूषण के कारण सांस लेने की दिक्कत को दूर करने के बेहतरीन और प्रभावी आयुर्वेदिक उपाय।

सांस लेने में दिक्कत दूर करने के लिए आयुर्वेदिक उपाय- Ayurvedic Treatment for Breathing Problems

हवा में प्रदूषण की समस्या पूरी दुनिया के लिए चिंता का विषय है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी एक आंकड़े के मुताबिक दुनियाभर में लगभग 90 फीसद लोग दूषित हवा में सांस लेने को मजबूर हैं। प्रदूषित हवा में सांस लेने के कारण फेफड़ों से जुड़ी बीमारियां और आंख में खराबी का खतरा सबसे ज्यादा रहता है। हवा में मौजूद प्रदूषण के हानिकारक कण फेफड़ों में पहुंचने पर गंभीर नुकसान देते हैं। आइए आरोग्यं हेल्थ सेंटर के आयुर्वेदिक डॉ एस के पांडेय से जानते हैं प्रदूषण के कारण सांस लेने में दिक्कत होने के लिए आयुर्वेदिक उपाय-

Ayurvedic Treatment for Breathing Problems

इसे भी पढ़ें: Air Pollution: प्रदूषित हवा के हानिकारक प्रभाव से बचने के लिए खाएं ये 5 चीजे

1. नीलगिरी का तेल

प्रदूषित हवा में सांस लेने की वजह से अगर आपको सांस लेने में तकलीफ हो रही है, तो नीलगिरी के तेल का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है। इसके लिए एक भगोना गर्म पानी लें और इसमें नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदें डालें और दस मिनट तक भाप लें। ऐसा दिन में दो बार करने से आपको बहुत फायदा मिलेगा और फेफड़ों में जमा बलगम भी बाहर निकल जाएंगे।

2. शहद और मुलेठी

शाहद और मुलेठी भी सांस से जुड़ी परेशानियों में रामबाण मानी जाती है। प्रदूषित हवा में सांस लेने की वजह से अगर आपको सांस लेने में परेशानी हो रही है या जलन का अनुभव हो रहा है तो इस स्थिति में शहद और मुलेठी का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद है। इसके लिए एक चम्मच शहद में आधा चम्मच मुलेठी का चूर्ण मिलाएं और इसका सेवन करें। दिन में दो बार इसका सेवन करने से आपको फायदा मिलेगा।

3. तुलसी और अदरक

तुलसी और अदरक को सांस के मरीजों के लिए रामबाण माना जाता है। एक चम्मच तुलसी की ताजी पत्तियों का रस, एक चम्मच अदरक का रस और शहद मिलाकर खाने से आपको बहुत फायदा मिलेगा। इसके अलावा आप अदरक और तुलसी की पत्तियों को अच्छी तरह से उबालकर इसमें शहद मिलाकर पिएं।

4. यूकेलिप्टस का तेल

यूकेलिप्टस का तेल सांस के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। प्रदूषित हवा में सांस लेने के कारण अगर आपको सांस से जुड़ी परेशानियां होती हैं, तो यूकेलिप्टस के तेल को पानी में डालकर दिन में दो बार भाप लें। आपको सांस से जुड़ी समस्या में बहुत आराम मिलेगा।

5. त्रिफला का काढ़ा

त्रिफला यानी हर्रे, बहेड़ और आंवला का सेवन सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। वायु प्रदूषण के कारण अगर आपको सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो इसका काढ़ा बनाकर पीने से आपको बहुत फायदा मिलता है।

इसे भी पढ़ें: फेफड़ों को वायु प्रदूषण के दुष्प्रभाव से बचाने के लिए रोज करें ये योगासन

बढ़ते प्रदूषण के कारण लोगों में तमाम तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ा है। इस खतरे से बचने के लिए बाहर निकलने पर फेस मास्क का इस्तेमाल करें। शरीर में पानी की कमी न होने दें और एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर फल और सब्जियों का सेवन करें। इसके अलावा बहुत ज्यादा प्रदूषण होने पर बाहर निकलने से बचें।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer