डिलीवरी के बाद बॉडी की रिकवरी से जुड़े इन मिथकों पर न करें भरोसा, जानें सच्चाई

शिशु की डिलीवरी के बाद महिलाओं को रिकवरी के लिए विशेष देखभाल की जरूरत होती है, जानें पोस्टपार्टम रिकवरी से जुड़े कुछ मिथक के बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 11, 2022Updated at: Jul 11, 2022
डिलीवरी के बाद बॉडी की रिकवरी से जुड़े इन मिथकों पर न करें भरोसा, जानें सच्चाई

Postpartum Recovery Myths: गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को 9 महीने तक तमाम तरह के शारीरिक बदलाव से गुजरना पड़ता है। शिशु को जन्म देने के बाद महिलाओं के शरीर में कमजोरी, थकान और कई अन्य समस्याएं हो सकती हैं। डिलीवरी के बाद शरीर को सही ढंग से रिकवर करने के लिए खानपान और लाइफस्टाइल में बदलाव जरूर करना चाहिए। डिलीवरी के बाद बॉडी की रिकवरी (Postpartum Recovery) के लिए न सिर्फ अच्छी डाइट और लाइफस्टाइल की जरूरत होती है, बल्कि सही सलाह भी सबसे ज्यादा जरूरी होती है। ज्यादातर महिलाओं को डिलीवरी के बाद बॉडी की रिकवरी को लेकर सही जानकारी नहीं होती है। इसके चलते महिलाऐं अक्सर ऐसी बातों पर भी भरोसा कर लेती हैं, जिसमें कोई सच्चाई नहीं होती है। आइए जानते हैं डिलीवरी के बाद बॉडी की रिकवरी को लेकर प्रचलित कुछ मिथक के बारे में।

पोस्टपार्टम रिकवरी से जुड़े मिथक- Myths About Postpartum Recovery

शिशु को जन्म देने के बाद महिलाओं के शरीर में हुए बदलाव को ठीक करने के लिए 4 से 5 महीने तक विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। कई बार जानकारी के अभाव में महिलाऐं सही डाइट का सेवन या सही केयर नहीं कर पाती हैं। आइए जानते हैं डिलीवरी के बाद बॉडी की रिकवरी से जुड़े कुछ प्रचलित मिथक और उनकी सच्चाई के बारे में।

Myths About Postpartum Recovery

इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी में इन 5 लक्षणों को सामान्य समझकर कभी न करें नजरअंदाज, हो सकते हैं खतरनाक संकेत

1. आप डिलीवरी के 6 हफ्ते बाद कुछ भी कर सकती हैं

डिलीवरी के बाद कामकाज को लेकर अक्सर यह बात सुनने को मिलती है कि आप 6 हफ्ते बाद किसी भी तरह के कामकाज के लिए तैयार हो गयी हैं, लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। शरीर की स्थिति और स्वास्थ्य के हिसाब से ही यह फैसला लेना चाहिए।

2. अगर आपको कोई लक्षण नहीं दिख रहे तो आपको पोस्टपार्टम केयर की जरूरत नहीं है

पोस्टपार्टम केयर को लेकर अक्सर यह कहा जाता है कि अगर आपमें कोई ऐसे लक्षण नहीं देखे जा रहे हैं, जिनकी वजह से परेशानियां हों, तो आपको विशेष केयर की जरूरत नहीं है। लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। कई बार महिलाओं में डिलीवरी के बाद होने वाली समस्याओं के लक्षण नहीं दिखते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आपको केयर नहीं रखनी है।

इसे भी पढ़ें: डिलीवरी के बाद जल्द चाहती हैं रिकवरी, तो महिलाएं रखें इन 4 बातों का ध्यान

3. डिलीवरी के बाद आप कुछ भी खा सकती हैं

पोस्टपार्टम केयर को लेकर यह बात बहुत ज्यादा प्रचलित है। लेकिन अगर आप डिलीवरी के बाद रिकवर कर रही हैं, तो आपको बिना डॉक्टर की सलाह के कुछ भी नहीं खाना चाहिए। इस दौरान संतुलित और पौष्टिक भोजन का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।

4. पोस्टपार्टम डिप्रेशन सभी को होता है

डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर को विशेष देखभाल की जरूरत होती है। इस दौरान महिलाओं में डिप्रेशन और एंग्जायटी जैसी मानसिक समस्याएं भी देखने को मिलती हैं। कई लोगों को लगता है कि पोस्टपार्टम डिप्रेशन डिलीवरी के बाद सभी महिलाओं में होता है, जबकि ऐसा बिलकुल भी नहीं है।

5. शिशु के जन्म के बाद बेबी बंप गायब हो जाते हैं

यह बात अक्सर कही जाती है कि शिशु के जन्म के बाद बेबी बंप खत्म हो जाते हैं, लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। बेबी बंप को गायब होने में कुछ महीने का समय लग सकता है।

इसे भी पढ़ें: बच्चे के जन्म के बाद कैसे करें नवजात शिशु और मां की देखभाल? जानें WHO की पूरी गाइडलाइन

पोस्टपार्टम रिकवरी से जुड़ी इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। कई बार महिलाऐं भ्रामक बातों पर भरोसा कर लेती हैं, जिसकी वजह से उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer