विश्व स्वास्थ्य नेटवर्क (WHN) ने मंकीपॉक्स को घोषित किया महामारी, 58 देशों में फैला संक्रमण

58 देशों में 3 हजार से ज्यादा मामले सामने आने के बाद मंकीपॉक्स वायरस को विश्व स्वास्थ्य नेटवर्क ने महामारी घोषित कर दिया है।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jun 23, 2022Updated at: Jun 23, 2022
विश्व स्वास्थ्य नेटवर्क (WHN) ने मंकीपॉक्स को घोषित किया महामारी, 58 देशों में फैला संक्रमण

कोरोना वायरस महामारी के बाद दुनिया में अब एक और महामारी आ चुकी है। मंकीपॉक्स संक्रमण को विश्व स्वास्थ्य नेटवर्क (World Health Network) ने महामारी घोषित कर दिया है। वर्ल्ड हेल्थ नेटवर्क ने दुनियाभर के 58 देशों में फैल चुके मंकीपॉक्स संक्रमण को महामारी घोषित करते हुए अपने बयान में कहा है कि यह संक्रमण तेजी से फैल रहा है और यह संक्रमण बिना ग्लोबल एक्शन के नहीं रुकने वाला है। विश्व स्वास्थ्य नेटवर्क के मुताबिक दुनियाभर में मंकीपॉक्स संक्रमण के 3 हजार से ज्यादा मामले आ चुके हैं। दुनिया के कई देशों के वैज्ञानिकों के संगठन WHN ने मंकीपॉक्स को महामारी घोषित करते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन से यह अपील की है कि इस महामारी को हल्के में न लिया जाए।

WHN ने विश्व स्वास्थ्य संगठन से की ये अपील (WHN Urges WHO to Declare Monkeypox a Pandemic)

डब्ल्यूएचएन ने मंकीपॉक्स संक्रमण को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन और राष्ट्रीय रोग नियंत्रण और रोकथाम संगठनों से अपील करते हुए इस पर ध्यान देने की बात कही है। न्यू इंग्लैंड कॉम्प्लेक्स सिस्टम इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष और डब्ल्यूएचएन के सह-संस्थापक यानीर बार-यम ने बयान जारी करते हुए कहा है कि, "मंकीपॉक्स महामारी को बढ़ने देने का अब कोई औचित्य नहीं बचा है। इस संक्रमण को महामारी बनने से रोकने के लिए पब्लिक कम्युनिकेशन, टेस्टिंग और आइसोलेशन के साथ कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग पर जोर देने की जरूरत है। इसमें देरी करने पर दुनिया को मंकीपॉक्स संक्रमण के गंभीर परिणाम देखने को मिल सकते हैं।"

monkeypox declared as pandemic by wnn

इसे भी पढ़ें: Monkeypox: मंकीपॉक्स के चलते देश के इन राज्यों में अलर्ट, WHO ने बताए 6 गंभीर लक्षण, जानें जरूरी बातें

दुनियाभर में मंकीपॉक्स संक्रमण की स्थिति (Monkeypox Outbreak Worldwide)

दुनियाभर के 58 देशों में मंकीपॉक्स का संक्रमण फैल चुका है और अब तक मंकीपॉक्स के 3,417 पुष्ट मामले सामने आए हैं। जानवरों से इंसानों में फैलने वाला यह संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। मंकीपॉक्स वायरस का सबसे ज्यादा प्रकोप अमेरिका और साउथ अफ्रीका में देखा जा रहा है। 

मंकीपॉक्स वायरस के लक्षण (Monkeypox Virus Symptoms in Hindi)

मंकीपॉक्स का संक्रमण होने पर सबसे पहले शरीर में गहरे लाल रंग के दानें और रैशेज नजर आते हैं जो कि चेचक की समस्या (Smallpox in Hindi) में होने वाले दानें की तरह होते हैं। मंकीपॉक्स के कुछ प्रमुख लक्षण इस प्रकार से हैं-

  • शरीर पर लाल रंग के दानें और चकत्ते।
  • बुखार, शरीर में दर्द।
  • ठंड लगना और थकान।
  • मुंह और गले में छाले और दानें।
  • लिम्फ नोड में सूजन।

मंकीपॉक्स एक ऑर्थोपॉक्सवायरस है जो चेचक की तरह से काम करता है। मंकीपॉक्स का संक्रमण होने पर आपको चेचक की बीमारी के लक्षण दिखाई दे सकते हैं। मौजूद जानकारी के मुताबिक मंकीपॉक्स का संक्रमण, संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से फैलता है। अगर कोई व्यक्ति मंकीपॉक्स से संक्रमित है और आप उसके साथ स्किन टू स्किन कांटेक्ट करते हैं तो आपको भी यह संक्रमण हो सकता है। 

(Image Source - Freepik.com)

Disclaimer