Monkeypox: मंकीपॉक्स के चलते देश के इन राज्यों में अलर्ट, WHO ने बताए 6 गंभीर लक्षण, जानें जरूरी बातें

15 दिनों के भीतर मंकीपॉक्स के मामले 15 देशों में फैल चुके हैं, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंकीपॉक्स वायरस के कुछ लक्षण बताए हैं, जानें।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 25, 2022Updated at: May 25, 2022
Monkeypox: मंकीपॉक्स के चलते देश के इन राज्यों में अलर्ट, WHO ने बताए 6 गंभीर लक्षण, जानें जरूरी बातें

कोरोना वायरस महामारी के बीच दुनिया में एक नई बीमारी के आने से चिंता और बढ़ गयी है। दुनियाभर के 15 देशों में मंकीपॉक्स (Monkeypox) वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। 15 देशों में मंकीपॉक्स के 100 से ज्यादा मामले आ चुके हैं। हालांकि इस वायरस से अभी तक किसी भी मरीज की मौत नहीं दर्ज की गयी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन लगातार मंकीपॉक्स के बढ़ते मामलों पर नजर बनाये हुए है। दुनियाभर के कई वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर इसी तरह से मंकीपॉक्स के मामले बढ़ते रहे तो आने वाले समय में यह महामारी का रूप ले सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंकीपॉक्स के बढ़ते मामलों को देखते हुए चेतावनी देते हुए इसके कुछ गंभीर लक्षणों के बारे में बताया है। राहत की बात यह है कि भारत में अभी तक मंकीपॉक्स का कोई भी मामला सामने नहीं आया है लेकिन देश के कुछ राज्यों में मंकीपॉक्स वायरस को लेकर अलर्ट जारी किया गया है।

भारत में मंकीपॉक्स को लेकर अलर्ट (Monkeypox Virus Outbreak India Update in Hindi)

देश में कोरोना वायरस महामारी के बीच मंकीपॉक्स वायरस को लेकर भी अलर्ट जारी किया गया है। देश के कुछ राज्यों में मंकीपॉक्स वायरस को लेकर निगरानी अभी से शुरू कर दी गयी है। देश में तमिलनाडु, महाराष्ट्र और राजस्थान में मंकीपॉक्स को लेकर सरकार की तरफ से जोरों से तैयारी शुरू कर दी गयी है। महाराष्ट्र में तो BMC की तरफ से मंकीपॉक्स को लेकर अलग से क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। इसके अलावा बीएमसी की तरफ से इसकी निगरानी भी कड़ाई से की जा रही है। बीते 21 दिनों में जो भी लोग विदेश से यात्रा कर भारत लौटे हैं उनकी निगरानी भी की जा रही है। इसके अलावा राजस्थान में मंकीपॉक्स को लेकर यह जानकारी मिली है कि राज्य सरकार की तरफ से इसको लेकर पहले से ही सख्ती बरती जा रही है। राजस्थान सरकार की तरफ से यह बताया गया है कि राज्य में मंकीपॉक्स संक्रमण का मामला आने पर उन्हें अलग रखने और कड़ी निगरानी के प्रावधान किये गए हैं। तमिलनाडु में भी मंकीपॉक्स वायरस के दुनियाभर के कई देशों में फैलने पर अलर्ट जारी किया गया है।

Monkeypox-Virus-Outbreak

इसे भी पढ़ें : अमेरिका समेत इन देशों में फैली मंकीपॉक्स की बीमारी, WHO ने दी चेतवानी, जानें लक्षण और बचाव

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताये मंकीपॉक्स के लक्षण (Monkeypox Virus Symptoms in Hindi)

विश्व स्वास्थ्य संगठन दुनियाभर में तेजी से बढ़ रहे मंकीपॉक्स के मामलों को लेकर लगातार चेतावनी दे रहा है। WHO के मुताबिक मंकीपॉक्स एक ऑर्थोपॉक्सवायरस है जो चेचक की तरह से काम करता है। मंकीपॉक्स वायरस से संक्रमित होने के बाद मरीजों में दिखाई देने वाले लक्षण भी चेचक के लक्षण की तरह से दिखते हैं। यह एक ऐसी बीमारी है जो जानवरों से इंसानों में फैलती है। मंकीपॉक्स का सबसे पहला मामला दक्षिण अफ्रीका में मिला था जहां पर रिसर्च के लिए इस्तेमाल किये गए बंदरों में इसके संक्रमण की पुष्टि हुई थी जिसके बाद इंसानों में इसका संक्रमण फैलना शुरू हुआ था। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक मंकीपॉक्स का संक्रमण होने पर इंसानों में दिखने वाले कुछ प्रमुख लक्षण इस प्रकार से हैं। 

इसे भी पढ़ें : कोरोना वायरस के बाद अब 'मंकीपॉक्स' का खतरा, ब्रिटेन में सामने आये मामले, जानें इस बीमारी के लक्षण

1. मंकीपॉक्स के मरीजों में शुरुआत में बहुत तेज बुखार होता है और इसकी वजह से लिम्फ नोड्स में सूजन की समस्या होती है। 

2. इसके अलावा मंकीपॉक्स का संक्रमण होने पर स्किन पर गहरे लाल रंग के दानें होते हैं।

3. गंभीर रूप से सर्दी और जुकाम की समस्या।

4. खुजली और एलर्जी की समस्या।

5. मांसपेशियों में तेज दर्द।

6. ठंड लगना।

इसके अलावा मंकीपॉक्स का संक्रमण होने पर थकान और लिम्फ नोड्स में सूजन के साथ-साथ निमोनिया के लक्षण भी दिखाई देते हैं।

किन देशों में हैं मंकीपॉक्स के मामले (Monkeypox Virus Cases in World in Hindi)

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनियाभर के 15 देशों में मंकीपॉक्स वायरस का संक्रमण पहुंच चुका है। कई वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करने वाली संस्थाओं का मानना है कि मंकीपॉक्स की बीमारी अमेरिका में सबसे ज्यादा समलैंगिक संबंध बनाने वाले पुरुषों में फैली है। दुनियाभर के 15 देशों में मंकीपॉक्स के लगभग 100 से ज्यादा मामले मिले है। राहत की बात यह है कि अभी तक मंकीपॉक्स के संक्रमण की वजह से किसी भी मरीज के मौत की सूचना नहीं है। मंकीपॉक्स की बीमारी पिछले 15 दिनों में 15 देशों में पहुंच चुकी है। ऐसा माना जा रहा है कि अगर इस बीमारी को लेकर कड़े कदम नहीं उठाये गए तो यह कोरोना वायरस महामारी की तरह से दुनियाभर में फैल सकती है। मंकीपॉक्स के मामले अभी तक अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी,  इटली, फ्रांस, स्वीडन, स्पेन, पुर्तगाल, ऑस्‍ट्रलिया, इजरायल, कनाडा, नीदरलैंड्स, बेल्जियम, ऑस्ट्रिया और स्विट्जरलैंड में मिले हैं।

(All Image Source - Shutterstock)

Disclaimer