Karnataka: डिप्थीरिया ने ली 7 लोगों की जान, 134 चपेट में, जानें इसके लक्षण

कर्नाटक के कालाबुरागी जिले में इन दिनों डिप्‍थीरिया का प्रकोप बढ़ गया है। इससे अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Dec 13, 2019Updated at: Dec 13, 2019
Karnataka: डिप्थीरिया ने ली 7 लोगों की जान, 134 चपेट में, जानें इसके लक्षण

डिप्थीरिया के कारण हर साल कई लोगों की मौत होती है। यह बीमारी देश के लिए बड़ा खतरा बन चुकी है। बच्चों के साथ-साथ बड़े भी अब इस बीमारी की चपेट में आने लगे हैं। कर्नाटक के कालाबुरागी जिले में डिप्थीरिया का कारण 7 लोगों की मौत हो चुकी है। जिला स्वास्थ्य अधिकारी (District Health Officer) एमके पाटिल ने बताया कि सितंबर 2019 से अब तक जिले में 134 लोग डिप्थीरिया की चपेट में आ चुके हैं जिनमें से सात लोगों की मौत हो चुकी है।

उन्होंने बताया कि जिले में डिप्थीरिया के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने स्कूल, समाज कल्याणकारी हॉस्‍टल्‍स और आंगनबाड़ी केंद्रों में जागरूकता अभियान शुरू किए हैं। जिससे लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक किया जा सके और उन्हें डिप्थीरिया की चपेट में आने से रोका जा सके।

इसे भी पढ़ें: नाखून बताते हैं आप कौन सी बीमारी का हैं शिकार, जानें किस रंग के नाखून होते हैं बेहतर

डिप्थीरिया एक बैक्टीरियल डिजीज है यह कॉरीनेबैक्टेरियम डिप्थीरिया बैक्‍टीरिया के इंफेक्शन से होता है। इसकी चपेट में ज्यादातर बच्चे आते हैं। हालांकि यह बीमारी बड़ों को भी हो सकती है। यह बैक्टीरिया सबसे पहले गले में इंफेक्शन करता है। इंफेक्शन के कारण एक गले में ऐसी झिल्ली बन जाती है जिससे सांस लेने में परेशानी होती है। समय पर इलाज न कराने पर यह इंफेक्शन शरीर के अन्य अंगों में भी फैल जाता है। इसके बैक्टीरिया के हृदय तक पहुंचने से जान जाने का भी खतरा होता है। डिप्थीरिया के मरीज के संपर्क में आने से अन्य लोगों को भी यह बीमारी होने का खतरा रहता है।

इसे भी पढ़ें: थायराइड से ही नहीं इन 4 कारणों से भी टूटते हैं आपके नाखून, जानें टूटते नाखूनों को बचाने का तरीका

डिप्थीरिया के लक्षण

  • सांस लेने में तकलीफ
  • गला खराब होना
  • हल्का बुखार होना
  • गर्दन में सूजन होना 
  • नाक का बहना 
  • बुखार आदि।

Read More Articles On Health News In Hindi

Disclaimer