देसी स्टाइल में ओट्स से बनाएं ये 5 इंडियन डिशेज, स्वाद और सेहत दोनों मिलेंगे एक साथ

ओट्स हाई-प्रोटीन डाइट के लिए बहुत सही विकल्प है। ओट्स का उपयोग हम कुछ देसी खाने के व्यंजनों को बनाने में कर सकते हैं। आप इससे कई प्रकार के सोउथ-इंडियन

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Jan 06, 2021 17:58 IST
देसी स्टाइल में ओट्स से बनाएं ये 5 इंडियन डिशेज, स्वाद और सेहत दोनों मिलेंगे एक साथ

ओट्स खाने के कई फायदे हैं और आज पूरी दुनिया इस पौष्टिक भोजन की ओर बड़ी तेजी से बढ़ रही है। ओट्स दिल की सेहत, पाचन और वजन घटाने के लिए अविश्वसनीय हैं। चूंकि ओट्स प्रोटीन में उच्च होते हैं, इसलिए ओट्स से बनी हुई कोई भी चीज स्वास्थय के लिए लाभकारी होती है। यदि आप खाना खाने के बाद भरा-भरा सा महसूस करते हैं तो ओट्स आपके लिए एक बेहतर विकल्प हो सकता है। इसके अलावा अगर आ बढ़ते हुए वजन से परेशान हैं, तो ओट्स का हाई प्रोटीन भूख लगने वाले हार्मोन घ्रेलिन को ठीक कर सकता है। घ्रेलिन आपके भूख को कम करके वजन घटाने में मदद कर सकती है। पर जब भी हम किसी को ओट्स खाने को कहते हैं तो वे सिर्फ मोटे दलिया की कल्पना करते हैं। लेकिन सच्चाई यह है कि ओट्स का उपयोग असंख्य व्यंजनों में किया जा सकता है। ओट्स के साथ आप कई प्रकार के देसी व्यंजन जैसे इडली, डोसा, उपमा और खिचड़ी आदि भी बना सकते हैं। 

Inside18_OATS KHICHADI

ओट्स से बनने वाले 5 देसी व्यंजन, जिन्हें आप घर पर आजमा सकते हैं:

1.ओट्स खिचड़ी

प्रोटीन युक्त ट्विस्ट के साथ भारत का पसंदीदा आरामदायक भोजन है खिचड़ी। आप ओट्स से भी खिचड़ी बना सकते हैं। इस खिचड़ी को बनाने में आप मूंग दाल, गाजर, हरी मटर, टमाटर, मिर्च और जैतून का तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप इन सब्जियों को काट लीजिए और जैतून के तेल में हल्का-हल्का भून लीजिए। फिर इसमें ओट्स, गर्म पानी और हल्का सा नमक डालकर पका लीजिए। इस तरह कुछ ही देर में आपकी ओट्स से बनी खिचड़ी तैयार हो जाएगी। यह खिचड़ी आप कभी भी बना कर खा सकते हैं। ज्यादा बेहतर स्वाद के लिए आप इसे पापड़, दही या रायते के साथ खा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें :लिवर को दुरूस्‍त और ब्‍लड शुगर कंट्रोल करता है लहसुन का अचार, जानें इसके 5 जबरदस्‍त फायदे

2.ओट्स इडली

इडली अक्सर लोगों के लिए एक पसंदीदा नाश्ता होता है। ऐसे में बहुत से लोग इडली खाने से इसलिए बचते हैं क्योंकि वह चावल या सूजी को ज्यादा खाना पसंद नहीं करते। उन्हें लगता है कि सूजी या चावल से बने इडली के कारण उनका वजन बढ़ सकता है। तो ऐसे लोग ओट्स से इडली बना कर खा सकते हैं। इसके लिए आप ओट्स को पीस कर और थोड़ृा सा मीठी सोडा मिलाकर फर्मेंट होने तक छोड़ दे। फिर जैसे आप चावल या सूजी से इडली बनाते हैं, वैसे ही इसे बना लें। फिर इस इडली को सांबर या अपनी पसंद की चटनी के साथ खाएं। इस तरह यह हाई प्रोटीन इडली आपके वजन को भी नहीं बढ़ने देगा और इस खाकर आप पूरे दिन फ्रेश व हल्का महसूस कर सकते हैं।

3.ओट्स उत्तपम

उत्तपम में हम सभी सब्जियों का इस्तेमाल कर लेते हैं।  उत्तपम को लोग दक्षिण भारतीय पैन-पिज्जा भी कहते हैं। आप इसे ओट्स से भी बना सकते हैं। इसके लिए आप ओट्स का पेस्ट बना कर उसमें गाजर, हरी मटर, टमाटर, मिर्च, प्याज काटकर मिला लें। फिर उसे डोसा की तरह पैल पर गोल-गोल फैला कर बना लें। इस तरह तैयार हो जाएगा आपका  उत्तपम। अगर आप इसमें थोड़ा क्रंची टेस्ट चाहते हैं तो बनाते वक्त इसमें दो चम्मच ऑलिव ऑयल मिला लें। फिर इसे गर्म सांबर और नारियल की चटनी के साथ खाएं।

इसे भी पढ़ें : सुबह खाली पेट खाएंगे ये 5 फूड तो दिनभर मिलती रहेगी एनर्जी, आलस हो जाएगा दूर

4.ओट्स उपमा

उपमा भारत का एक लोकप्रिय नाश्ता है, खासकर दक्षिण भारत, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात के क्षेत्रों में। इस पकवान को चपटा चावल या सूजी, करी पत्ता, नमक, मसाला और मूंगफली के साथ बनाया जाता है। आप इस उपमा को ओट्स से भी बना सकते हैं। इसके लिए आप थोड़ा तेल लीजिए और उसे हल्का गर्म कर लीजिए। फिर इसमें सरसो के कुछ दोने के साथ करी पत्ता डालिए। फिर ओट्स, मसाले और भूने हुए मूंगफली डालकर कर कुछ देर तप मिलाते रहिए। फिर जब आपको लगे कि आट्स बीकी चीजों के साथ मिल गए हैं तो उसमें नमक और पानी डाल लीजिए। फिर कुछ देर तक पकने दें। जब लगे कि पानी सूख गया है तो गैस ऑफ कर दें और धनिया पत्ते को काटकर ऊपर से मिला दें। इस तरह तैयार हो गया आपका ओट्स से बना उपमा। 

5.ओट्स चीला

ओट्स चीला मूल रूप से ओट्स की अतिरिक्त अच्छाई के साथ बेसन चीला का एक खास अवतार है। इसके लिए ओट्स के दाने को पीस लें फिर इसका चीला बना लें। आप चाहें तो आप इस चीले में टमाटर और प्याज से बनी चटनी को भी भर सकते हैं।

यह चीला स्वाद के हिसाब से बहुत टेस्टी होता है और स्वास्थ्य के लिए भी काफी लाभदायक होता है।ओट्स के इस चीले को आप दही और रायते के साथ भी खा सकते हैं। इस तरह आप ओट्स का अलग-अलग प्रकार से इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi
Disclaimer