घुटनों के अंदर की तरफ मुड़ने (नॉक नीज) की समस्या क्यों होती है? डॉक्टर से जानें इसके लक्षण और इलाज

नॉक नीज या जेनु वेलगम सिंड्रोम एक ऐसी समस्या है जिसमें लोगों के घुटने अंदर की तरफ मुड़े होते हैं, एक्सपर्ट से जानें इस समस्या के लक्षण, कारण और इलाज।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Oct 07, 2021
घुटनों के अंदर की तरफ मुड़ने (नॉक नीज) की समस्या क्यों होती है? डॉक्टर से जानें इसके लक्षण और इलाज

नॉक नी (Knock Knees) या जेनु वेलगम (Genu Valgum) घुटनों से जुड़ी समस्या है जिसमें मरीज के घुटने एक दूसरे को छू रहे होते हैं। सामान्य तौर पर स्वस्थ व्यक्ति जिसके घुटनों में किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं है उसके खड़े होने पर घुटनों के बीच थोड़ा गैप रहता है या घुटनें समानांतर होते हैं। लेकिन नॉक नीज की समस्या में ऐसा नहीं होता है। दुनियाभर में तामम लोग घुटनों से जुड़ी इस समस्या से पीड़ित हैं। ऐसे लोग जो नॉक नीज या जेनु वेलगम की समस्या से ग्रसित हैं उनके घुटने अंदर की तरफ होते हैं और पैर बाहर की तरफ। सबसे ज्यादा यह समस्या छोटे बच्चों में देखने को मिलती है। बचपन में अक्सर लोग इसे सामान्य समझकर नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन आगे चलकर यह समस्या एक बड़ी मुसीबत बन जाती है। दरअसल ऐसे लोग जो नॉक नीज से पीड़ित होते हैं उन्हें चलने फिरने और रोजमर्रा के काम करने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। आइये विस्तार से जानते हैं इस समस्या के कारण, लक्षण और उपचार के बारे में।

क्या नॉक नीज की समस्या सामान्य है? (Are Knock Knees Normal?)

Knock-Knees-Causes-Symptoms-Treatment

(image source - mewarhospitals)

सामान्य रूप से बच्चे जब 1 से 2 साल के होते हैं तो उनके विकास के दौरान घुटनों की बनावट और आकर में थोड़ा अंतर हो सकता है। आमतौर पर यह चीजें आगे चलकर खुद ठीक हो जाती हैं लेकिन जिन बच्चों के घुटनों में यह लक्षण 5 से 6 साल के बीच भी बने रहते हैं उन्हें नॉक नीज की समस्या हो सकती है। ऐसे में बच्चों का चलना-फिरना और दौड़ना प्रभावित होता है। नॉक नीज सिंड्रोम के कारण बच्चों के घुटनें एक दूसरे से छू रहे होते हैं और पैर बाहर की तरफ होते हैं। पारस हॉस्पिटल के ओर्थोपेडिक्स और ट्रॉमा विभाग के चीफ कंसलटेंट डॉ अरविन्द मेहरा के मुताबिक यह समस्या कई कारणों से हो सकती है। इस स्थिति में मरीज अगर अपने पैरों को एक-दो इंच अलग करके खड़ा हो जाता है तो उसके पैरों के बीच के गैप की तुलना में घुटने अधिक अंदर की तरफ होते हैं। यह हड्डियों से जुड़ी समस्या, शरीर में पोषक तत्वों की कमी या कुछ संक्रमण के कारण हो सकता है।

इसे भी पढ़ें : घुटनों के लिगामेंट्स में चोट लगने पर अपनाएं ये 9 घरेलू उपाय, दर्द और सूजन से तुरंत मिलेगा आराम

नॉक नीज की समस्या को जेनु वेलगम के नाम से भी जाना जाता है। यह स्थिति ज्यादातर बच्चों में विटामिन डी की कमी के कारण देखी जाती है। सबसे ज्यादा यह समस्या 3 से 13 साल के बच्चों में देखने को मिलती है। इसके कारण बच्चों के घुटने में गंभीर दर्द और चलने -फिरने में परेशानियां हो सकती हैं। जैसे-जैसे यह समस्या बढ़ती जाती है मरीज को कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। शुरुआत में जब बच्चे 1 या 2 साल के होते हैं तो उनमें घुटने का अंदर की तरफ होना सामान्य माना जाता है। यह एक अस्थाई समस्या होती है जो बच्चों के विकास के साथ ठीक हो जाती है। लेकिन जब किसी भी बच्चे 6 साल की उम्र के बाद भी ऐसी स्थिति होती है तो यह नॉक नीज सिंड्रोम के कारण हो सकती है।

इसे भी पढ़ें : स्लिप डिस्क क्या है? डॉक्टर से जानें इस समस्या के लक्षण, कारण, इलाज और बचाव के टिप्स

Knock-Knees-Causes-Symptoms-Treatment

(image source - reddit)

नॉक नीज के लक्षण (Symptoms of Knock Knees)

नॉक नीज की समस्या के कारण मरीजों को कई अन्य परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए डॉक्टर्स हमेशा यही कहते हैं कि समय के साथ इसके लक्षणों को पहचानकर उसका इलाज जरूर किया जाना चाहिए।  जिन लोगों को नॉक नीज यानी धनुष के आकार में घुटनों के होने की समस्या होती है उन्हें आगे चलकर तमाम कठिनाइयों से गुजरना पड़ता है। नॉक नीज की समस्या में मरीज में ये लक्षण देखने को मिलते हैं। 

  • घुटनों का अंदर की तरफ मुड़ा होना। 
  • घुटनों और टखनों में दर्द। 
  • चलने में परेशानी। 
  • घुटने की अस्थिरता। 
  • जोड़ों में दर्द या अकड़न। 
  • खड़े होने में कठिनाई। 
  • खड़े होने पर या चलते समय संतुलन की कमी। 
  • गठिया की समस्या। 
Knock-Knees-Causes-Symptoms-Treatment
(image source - freepik.com)

नॉक नीज के कारण (What Causes Knock Knees?)

नॉक नीज की समस्या किसी अंतर्निहित, जन्मजात या विकासात्मक बीमारी के कारण हो सकती है। यह समस्या कम उम्र में किसी संक्रमण या घुटनों में लगी गंभीर चोट के कारण भी हो सकती है। शुरुआत में जब बच्चे 1 से 2 साल के होते हैं तो उनमें यह समस्या आसानी से पहचानी नहीं जाती है लेकिन बच्चे के 3 साल के होने के बाद आप उनके घुटनों की बनावट को देखकर इसका अंदाजा लगा सकते हैं। घुटनों के अंदर की तरफ मुड़ने या धनुष के आकर में होने की समस्या को नॉक नीज के नाम से जाना जाता है। आइये जानते हैं समस्या के प्रमुख कारणों के बारे में। 

  • चयापचय से जुड़े रोग।
  • शरीर में विटामिन डी की कमी।
  • किडनी फेलियर
  • घुटनों में लगी गंभीर चोट।
  • गठिया की समस्या।
  • हड्डी में संक्रमण (ऑस्टियोमाइलाइटिस)।
  • जन्मजात स्थितियां।
  • ग्रोथ प्लेट की चोट।
  • बिनाइन बोन ट्यूमर
  • हड्डी में संक्रमण।

जेनु वेलगम या नॉक नीज का इलाज (Knock Knees Treatment)

जेनु वेलगम या नॉक नीज की समस्या हर व्यक्ति में अलग-अलग कारणों से हो सकती है। इन्हीं कारणों के आधार पर मरीजों का इलाज किया जाता है। इस समस्या का इलाज करने के लिए कई तरह के उपचार विकल हैं जिनका प्रयोग अलग-अलग स्थितियों में किया जाता है। आमतौर पर शुरुआत में इस बीमारी का इलाज मेडिकल मैनेजमेंट से हो सकता है। जिसमें विटामिन डी की कमी की स्थिति में मरीज को इसका डोज दिया जाता है। ऐसे मरीजों में सामान्यतः 2 से 3 महीनों में सुधार देखने को मिलता है। जिन लोगों में यह समस्या बहुत गंभीर होती हैं उन्हें कई अन्य तरह के इलाज की जरूरत हो सकती है। कुछ मामलों में नॉक नीज को ठीक करने के लिए सर्जरी की भी आवश्यकता हो सकती है। ऐसी स्थितियों में इन उपचार विकल्पों का सहारा लिया जा सकता है। 

  • घुटनों को बदलने के लिए ब्रेसिंग
  • घुटना अलाइनिंग ऑस्टियोटॉमी
  • विटामिन डी की खुराक
Knock-Knees-Causes-Symptoms-Treatment
(image source - theofy.world)

इसके अलावा जिन लोगों में यह समस्या मोटापा, विटामिन डी की कमी या अन्य सामान्य स्थितियों के कारण होती हैं उन्हें दवाओं के सेवन के साथ-साथ कुछ एक्सरसाइज और थेरेपी का सहारा दिया जाता है। शरीर में किसी अंतर्निहित बीमारी की वजह से बच्चों में यह समस्या होने पर उस बीमारी के इलाज के बाद इस समस्या को दूर किया जा सकता है। कुछ वयस्क रोगियों में लेप्रोस्कोपिक सर्जरी के माध्यम से भी इसका इलाज किया जाता है। अगर इस आपको भी इस समस्या के लक्षण दिखते हैं तो शुरुआत में ही डॉक्टर को दिखाना फायदेमंद होता है। समस्या गंभीर होने पर आपको कई दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है और इसका इलाज भी थोड़ा जटिल हो सकता है। इसलिए बेहतर यह है कि शुरुआत में ही इसके लक्षण दिखने पर चिकित्सक से संपर्क किया जाए। अगर नॉक नीज या जेनु वेलगम से जुड़े कोई सवाल आप हमसे पूछना चाहते हैं तो उसे आप हम तक भेज सकते हैं। हम आपके सवालों के जवाब एक्सपर्ट की राय लेने के बाद जरूर देंगे।

(main image source - freepik.com) 

Disclaimer