किशमिश और मिश्री के फायदे: किशमिश और मिश्री को एक साथ खाने से शरीर को मिलते हैं ये 7 फायदे

किशमिश और मिश्री के फायदे : किशमिश और मिश्री दोनों का एंटीऑक्सीडेंट गुण मिल कर फ्री रेडिकल्स के नुकसानों से बचाते हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Feb 28, 2022 12:53 IST
किशमिश और मिश्री के फायदे: किशमिश और मिश्री को एक साथ खाने से शरीर को मिलते हैं ये 7 फायदे

मीठे की क्रेविंग होने पर किशमिश और मिश्री (Kismis and mishri) खाना,  कई मायनों में फायदेमंद है।  ये, दोनों साथ मिल कर शरीर को कई सारी समस्याओं से बचाव में मदद करते हैं। जैसे कि पहले तो ये आपके शरीर को खून की कमी से बचाते हैं और फिर ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। इसके अलावा इसके फाइटोन्यूट्रिएंट्स डायबिटीज, जोड़ों के दर्द और सेल डैमेज से बचाव में मदद करते हैं। इन तमाम चीजों के अलावा भी किशमिश और मिश्री खाने के कई फायदे हैं, आइए जानते हैं सबसे के बारे में विस्तार से। 

insidekismismishriinhindo

किशमिश और मिश्री के फायदे

1. पाचन तंत्र के फायदे

किशमिश और मिश्री दोनों ही, पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद है। किशमिश में फाइबर की एक अच्छी मात्रा होती है, जो कि कब्ज से बचाव में मददगार है। साथ ही ये एसिडिटी और थकान की समस्या को दूर करता है। तो, वहीं  मिश्री पेट के पाचक एंजाइमों को बढ़ावा देता है और इसके प्रोडक्शन को बढ़ता है। जब आप इन दोनों को एक साथ खाएंगे तो, पहले तो ये आपके मेटाबोलिज्म को फास्ट करेगा जिससे कि आपका खाना तेजी से पच जाएगा। फिर ये बॉवेल मूवमेंट को तेज करेगा, जिससे आपका कब्ज से बचाव होगा और बॉवेल मूवमेट सही रहेगा।

2. ब्लड प्रेशर को संतुलित करता है

किशमिश और मिश्री दोनों का रेगुलर सेवन ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मददगार है। दरअसल, जब आप किशमिश और मिश्री को रात को भीगो कर रख दें। फिर सुबह इसे एक साथ खाएं। ये ब्लड प्रेशर को बैलेंस करने में मददगार होगा।

इसे भी पढ़ें : एक कप चाय में कितनी कैलोरीज होती हैं? एक्सपर्ट से जानें कम कैलोरी वाली चाय बनाने के तरीके

3. एनीमिया से बचाव में मददगार 

एनीमिया शरीर में आयरन की कमी से होती है। ऐसे में किशमिश और मिश्री का एक साथ सेवन शरीर में आयरन की कमी को दूर करता है और एनीमिया से बचाव में मददगार है। मिश्री के सेवन से हीमोग्लोबिन के स्तर में सुधार होता है तो, किशमिश खाने से शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ती है। इससे ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद मिलती है। इसलिए महिलाएं जिनमें आयरन की कमी है उन्हें इसका सेवन जरूर करना चाहिए।  लंबे समय तक इसका सेवन करने से महिलाओं में पीरियड्स और प्रेग्नेंसी से जुड़ी समस्याएं नहीं होती।

4. आंखों के लिए फायदेमंद 

रोजाना किशमिश और मिश्री का पानी पीने से आपकी आंखों की सेहत सही रहती है। ऐसा इसलिए कि किशमिश और मिश्री में पॉलीफेनोलिक फाइटोन्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं, जो कि एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं और आंखों को कई समस्याओं से बचाव में मददगार है। 

इसे भी पढ़ें : पुदीना की चटनी: इन 4 चीजों के साथ बनाएं पुदीने की चटनी, प्रेग्नेंसी से लेकर बदहमी तक में है फायदेमंद

5.  वेट लॉस में मददगार 

 किशमिश और मिश्री का सेवन वेट लॉस में मददगार है। दरअसल,  किशमिश का फाइबर मेटाबोलिज्म को तेज करता है जिससे कि आप जो भी खाते हैं, तेजी से पचने लगता है।  तो मिश्री का नियामित सेवन करने से वजन नियंत्रित करने में मदद मिलती है। साथ ही ये शरीर की एनर्जी बढ़ाने में भी मददगार है। जिससे आप तेजी से कसरत करके या फिर वेट लॉस एक्सरसाइज की मदद से वजन घटा सकते हैं।

insidestomavhealth

6. वात-पित्त को बैलेंस करता है

किशमिश और मिश्री का सेवन पेट का ठंडा करता है और शरीर में वात-पित्त को बैलेंस करता है। दरअसल, शरीर में वात-पित्त को बैलेंस करना बेहद जरूरी होता है। नहीं तो इससे आपको सर्दी-जुकाम, पेट की समस्याएं और यहां तक कि हाथ-पैर में जलन भी होती है।

7.  चेहरे की खूबसूरती बढ़ाता है

किशमिश और मिश्री का सेवन चेहरे की खूबसूरती बढ़ाता है। दरअसल, किशमिश और मिश्री शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने के साथ स्किन को अंदर से डिटॉक्स भी करता है। इससे खून अंदर से साफ रहता है और चेहरे में चमक बनी रहती है। जिसकी वजह से ये आपकी खूबसूरती बढ़ाता है।

आप किशमिश और मिश्री का सेवन कई प्रकार से कर सकते हैं। आप चाहें तो मिश्री और किशमिश को एक साथ खा सकते हैं। इसे दूध में मिला सकते हैं, जो कि महिलाओं और पुरुषों दोनों में ही फर्टिलिटी बढ़ाने में मददगार है। इसके अलावा पीरियड्स क्रैंप्स बचाव में भी आप  किशमिश और मिश्री का सेवन कर सकते हैं। ये जहां मेंस्ट्रूअल साइकिल को रेगुलेट करेगा वहीं, पीरियड्स की परेशानियों को कम करने में भी मददगार होगा।

all images credit: freepik

Disclaimer