मुंह की बदबू, सिरदर्द, लिकोरिया जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करती है कबाब चीनी (शीतल चीनी), जानें प्रयोग

कबाब चीनी का इस्‍तेमाल सर्दी-जुखाम, बुखार, स‍िर दर्द, दांत का दर्द, वजाइनल प्रॉब्‍लम आद‍ि को दूर करने के ल‍िए किया जाता है, जानें अन्‍य लाभ

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Aug 19, 2021Updated at: Aug 19, 2021
मुंह की बदबू, सिरदर्द, लिकोरिया जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करती है कबाब चीनी (शीतल चीनी), जानें प्रयोग

कबाब चीनी के क्‍या फायदे हैं? कबाब चीनी के इस्‍तेमाल से स‍िर का दर्द, दांत का दर्द, मुंह की बदबू, वजाइनल ड‍िस्‍चार्ज आद‍ि समस्‍याएं दूर होती हैं। कबाब चीनी एक पौधा है ज‍िसके बीज या फल काली म‍िर्च जैसे द‍िखते हैं। कबाब चीनी को शीतलचीनी या पाइपर क्‍यूबेबा भी कहा जाता है। कबाब चीनी के बीज का पाउडर या कबाब चीनी के पौधे की छाल व पत्‍ते सभी गुणकारी माने जाते हैं। ज‍िन लोगों को बवासीर की समस्‍या होती है वो भी कबाब चीनी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। बुखार, सर्दी-जुखाम, अस्‍थमा, ब्रोन्‍काइट‍िस आद‍ि समस्‍याओं को दूर करने में कबाब चीनी का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। इस लेख में हम कबाब चीनी के फायदे और उसे इस्‍तेमाल करने के तरीकों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की। 

kabab chini benefits

(image source:spiceography)

1. खांसी-जुखाम, बुखार को दूर करे कबाब चीनी (Kabab chini cures cough, fever)

खांसी-जुखाम या बुखार को ठीक करने के उपाय में कबाब चीनी का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। खांसी दूर करने के ल‍िए आपको एक ग‍िलास गुनगुने पानी में शहद और कबाब चीनी का पाउडर म‍िलाकर पीना है। ब्रोन्‍काइट‍िस की समस्‍या होने पर भी आप कबाब चीनी को दालचीनी के साथ म‍िलाकर काढ़ा बनाकर प‍िएं तो फायेदा होगा। सर्दी या बुखार होने पर भी आप कबाब चीनी से बना काढ़ा पी सकते हैं। कबाब चीनी का काढ़ा बनाने के लि‍ए कबाब चीनी का पाउडर बना लें अब उसे दो कप पानी में डालकर उबालें, अब इसमें अदरक, दालचीनी, नींबू, शहद म‍िलाकर पिएं।

इसे भी पढ़ें- बहुत फायदेमंद होता है लसोड़ा (बहुवार), दांत दर्द और सूजन जैसी इन 5 समस्याओं को तुरंत करता है दूर

2. वजाइनल ड‍िस्‍चार्ज की समस्‍या दूर करे कबाब चीनी (Kabab chini cures vaginal discharge issue) 

वजाइनल ड‍िस्‍चार्ज की समस्‍या है तो कबाब चीनी पाउडर को एक ग‍िलास के बराबर मात्रा के पानी में म‍िलाएं और स्‍प्रे करने वाले बॉटल में रखकर प्राइवेट पार्ट पर इस्‍तेमाल करें। पीर‍ियड्स के दौरान होने वाले दर्द, हार्मोनल चेंज के कारण च‍िड़च‍िड़ापन आद‍ि समस्‍याओं में भी कबाब चीनी को इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इसके ल‍िए कबाब चीनी का पाउडर बना लें और उसे गुनगुने पानी के साथ लें। इससे पीर‍ियड्स के दौरान होने वाली तकलीफ दूर हो जाएगी।

3. मुंह की बदबू दूर करे कबाब चीनी (Kabab chini cures mouth smell)

kabab chini uses 

(image source:anthonythespicemaker)

मुंह की बदबू दूर करने के उपाय ढूंढ रहे हैं तो कबाब चीनी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। आपको एक चौथाई टीस्‍पून कबाब चीनी का पाउडर लेना है और उसे दालचीनी के साथ एक कप पानी में रखना है और आधे घंटे बाद उससे कुल्‍ला कर लें तो मुंह की बदबू दूर हो जाएगी। दांत का दर्द दूर करने के ल‍िए आप कबाब चीनी के ऑयल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं, कबाब चीनी के तेल की 5 से 10 बूंदें गुनगुने पानी में म‍िलाकर दिन में दो बार दांत पर लगाएं तो दर्द दूर हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें- वत्सनाभ का पौधा है डायबिटीज, सूजन, बुखार जैसी इन 5 समस्याओं का आयुर्वेदिक इलाज, जानें प्रयोग का तरीका

4. स‍िर दर्द दूर करे कबाब चीनी (Kabab chini cures headache) 

कबाब चीनी में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं, स‍िर दर्द दूर करने के उपाय में इसका प्रयोग क‍िया जा सकता है। ज‍िन लोगों को माइग्रेन की समस्‍या होती है वो भी कबाब चीनी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। कबाब चीनी का इस्‍तेमाल करने के ल‍िए कबाब चीनी के बीज को पीसकर पाउडर बना लें अब इसमें नार‍ियल का तेल और दो से तीन बूंद नीलग‍िरी के तेल की म‍िला लें और स‍िर पर माल‍िश कर लें, इससे स‍िर का दर्द दूर हो जाएगा, आप कबाब चीनी के तेल को नार‍ियल या बादाम के तेल के साथ म‍िलाकर भी लगा सकते हैं।

5. थकान दूर करे कबाब चीनी (Kabab chini cures fatigue)

अगर आपको थकान महसूस हो रही है तो आप कबाब चीनी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। कबाब चीनी का पाउडर लें उसमें दालचीनी, लेमनग्रास म‍िला दें और 2 कप पानी में उबालें, जब पानी आधा रह जाए तो उसे प‍िएं, आपको द‍िन में दो बार इस म‍िश्रण को पीना है तो शरीर में एनर्जी महसूस करेंगे।

अगर आप गर्भवती हैं तो कबाब चीनी का इस्‍तेमाल न करें, छोटे बच्‍चों को भी इसके इस्‍तेमाल से दूर रखें।

(main image:seriouseats.com)

Read more on Ayurveda in Hindi 

Disclaimer