एंटीबायोटिक दवाओं को दूध के साथ खाना कितना सही? जानें डॉक्टर से

एंटीबायोटिक का सेवन दूध के साथ करना चाहिए या नहीं? ये सवाल अकसर लोगों के मन में उठता है। डॉक्टर से जानते हैं इस प्रश्न का उत्तर

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jun 11, 2021
एंटीबायोटिक दवाओं को दूध के साथ खाना कितना सही? जानें डॉक्टर से

जीवन में कभी ना कभी सभी ने एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन किया ही होगा। कभी दर्द को भगाने के लिए तो कभी किसी संक्रमण से बचने के लिए। इन दवाओं से तुरंत आराम मिलते ही लोग इन्हें काफी असरदार भी मानते हैं। लेकिन इनका अनियमित इस्तेमाल सेहत के लिए बेहद नुकसानदेह है। ऐसे में लोगों के मन में अक्सर यह सवाल आता है कि एंटीबायोटिक का सेवन दूध के साथ करना चाहिए या नहीं। माना कि दूध के अंदर भरपूर मात्रा में प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर, शुगर, कोलीन, विटामिन ए, के, b6, b2 आदि पोषक तत्व मौजूद होते हैं। लेकिन दूध के साथ एंटीबायोटिक दवाओं को लेना कितना प्रभावशाली है, यह जानना जरूरी है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि एंटीबायोटिक दूध के साथ लेनी चाहिए या नहीं साथ ही एंटीबायोटिक दवाओं के नुकसान के बारे में भी जानेंगे। इसके लिए हमने जेपी हॉस्पिटल नोएडा के फिजिशियन डॉक्टर नवीन प्रकाश वर्मा (General Physician Dr. Naveen Prakash Verma)  से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

क्या एंटीबायोटिक दवाओं के साथ दूध ले सकते हैं?

जेपी हॉस्पिटल नोएडा के फिजिशियन डॉक्टर नवीन प्रकाश वर्मा कहते हैं कि एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन पानी के साथ ही करना चाहिए। लेकिन इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि हम सभी एंटीबायोटिक दवाइयों का सेवन पानी के साथ कर सकते हैं। कुछ दवाईयां ऐसी होती हैं, जिनका सेवन दूध के साथ किया जा सकता है। वहीं कुछ दवाओं का प्रभाव दूध के कारण कम हो जाता है इसलिए हम दूध लेने के लिए मना करते हैं। अगर किसी व्यक्ति को दूध का सेवन या किसी डेयरी प्रोडक्ट का सेवन करना ही है तो वे एंटाबोटिक लेने के तकरीबन 2 घंटे बाद दूध पी सकता है। दूध के साथ दवाई न लेने का एक कारण ये भी है कि पानी को आसानी से डायजेस्ट किया जा सकता है। जबकि दूध के यूटिलाइजेशन में समय लग सकता है। 

इसे भी पढ़ें- बहुत अधिक एंटीबायोटिक दवाएं लेना बन सकता है इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम का कारण : शोध

डॉक्टर कब लेने की सलाह देते हैं एटीबायोटिक दवाईयां-

1 - त्वचा रोगों के लिए

2 - स्ट्रेप थ्रोट

3 - डायरिया

4 - मूत्र पथ संक्रमण यानी यूटीआई

5 - मुंहासे के लिए

6 - एयटीडी के लिए

7 - कंजक्टिवाइटिस यानी गुलाबी आंख के लिए आदि।

इसे भी पढ़ें- नेचुरल एंटीबायोटिक का काम करता है ओरेगेनो ऑयल, जानिए इसके फायदे 

एंटीबायोटिक दवा के नुकसान

अगर एंटीबायोटिक बिना किसी कारण ली जाए तो यह शरीर में कुछ नुकसान को पैदा कर सकती है। जानते हैं इनके बारे में-

1 - एंटीबायोटिक दवाओं के कारण शरीर में एलर्जी पैदा हो सकती है।

2 - एंटीबायोटिक दवाओं के कारण शरीर में दस्त, उल्टी या मतली की समस्या भी पैदा कर सकती हैं।

3 - शरीर में कुछ ऐसे सूक्ष्मजीव होते हैं जो बीमारियों को रोकते हैं कभी-कभी एंटीबायोटिक उन्हें भी खत्म कर सकती हैं।

4 - एंटीबायोटिक दवाओं के कारण कभी-कभी त्वचा पर कुछ लाल चकते पैदा हो जाते हैं।

इसे भी पढ़ें- कब्ज की समस्या से हैं परेशान? एंटीबायोटिक दवाओं के साथ गलती से भी न खाएं ये चीजें

कब नहीं लेनी चाहिए एंटीबायोटिक

1 - वायरस से पैदा होने वाली बीमारियों के लिए एंटीबायोटिक नहीं लेनी चाहिए। 

2 - घर पर रखी पुरानी एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन नहीं करना चाहिए।

नोट  - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन दूध के साथ नहीं करना चाहिए। हालांकि कुछ दवाओं को दूध के साथ लिया जा सकता है। एंटीबायोटिक का अगर अनावश्यक रूप से इस्तेमाल किया जाए तो शरीर में कुछ नुकसान को भी पैदा कर सकती है, जिनका जिक्र ऊपर किया गया है। ऐसे में इनके सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

Read More Articles on miscellaneous in hindi

Disclaimer