खिलाड़ियों से सीखें ये 4 बातें, जीवन में असफलता से नहीं लगेगा डर

टोक्यो ओलंपिक के समापन के साथ खिलाड़ियों ने देशवासियों को जीत का मंत्र दिया है कि अगर आप लक्ष्य के प्रति जुनूनी हैं तो सफलता आपसे दूर नहीं जा पाएगी।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Aug 09, 2021
खिलाड़ियों से सीखें ये 4 बातें,  जीवन में असफलता से नहीं लगेगा डर

हर व्यक्ति को सफलता चाहिए। कोई भी असफल नहीं होना चाहता। लेकिन जब खिलाड़ियों के जीवन की तरफ देखते हैं तो ऐसा नहीं है कि वे हमेशा हर मैदान से जीतकर ही वापस लौटें। कभी-कभी हारते भी हैं। लेकिन उनसे हमें सीखने को बहुत कुछ मिलता है। अभी हाल ही में टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic 2021) में भारत के शानदार प्रदर्शन के साथ देश भर में युवाओं में खेल को लेकर एक नया जुनून देखने को मिल रहा है। 

Inside1_tokyo2021

टोक्यो ओलंपिक में जीते हुए यही खिलाड़ी कई देशवासियों के लिए प्रेरणास्रोत का काम करेंगे। खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर किसी देश की छवि टिकी होती है। ऐसे में उन खिलाड़ियों पर जीत का मानसिक दवाब भी होता है। इन सभी कठिन परिस्थितियों में होते हुए भी वे कैसे खुद को जीत के लिए प्रेरित कर पाते हैं, आज के लेख हम उन्हीं सीखों पर बात करेंगे। किसी खिलाड़ी से हम क्या सीख सकते हैं और अपने जीवन में कैसे सफलता प्राप्त कर सकते हैं। यह इस लेख में जानेंगे।

1. लक्ष्य के लिए जुनूनी होना

अगर आपको जीवन में सफल होना है तो अपने लक्ष्य के प्रति जुनूनी होना पड़ेगा। इस जुनून को हम ऐसे समझ सकते हैं कि टोक्यो ओलंपिक में बॉक्सिंग में ब्रॉन्ज जीतने वाली लोवलीना बोरगोहेन ने अपने गांव में एलपीजी सिलेंडर उठाकर प्रैक्टिस की थी। इससे हमें यह सीख मिलती है कि जब आपका लक्ष्य तय होता है तब संसाधनों की कमी बहुत छोटी हो जाती है। तो वहीं मीराबाई चानू को देखें तो उनसे भी समझ सकते हैं को कठिन परिस्थितियों में रहते हुए भी वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीतकर लाईं। यह सभी खिलाड़ी अपने लक्ष्य के प्रति जुनूनी थे और यही वजह है कि आज देश इनसे सीख ले रहा है। 

Inside2_tokyo2021

2. आत्मविश्वासी बनें

जब आपका लक्ष्य दृढ़निश्चित होता है तो आत्मविश्वास भी उसके लिए बनने लग जाता है। ऐसा नहीं है कि हर खिलाड़ी हर मैदान से जीतकर ही वापस निकले। कुछ खिलाड़ी हार कर भी अपने शानदार प्रदर्शन से जीत जाते हैं। टोक्यो में ऐसा देखने को मिला कि हमारे कई खिलाड़ियों को चोट भी लगी और कुछ खिलाड़ी स्वर्ण पदक की दौड़ से बाहर भी निकले। लेकिन अपना आत्मविश्वास बनाए रखा तब वे सिल्वर या ब्रोन्ज जीत पाए। इसलिए हमेशा खुद की मेहनत पर विश्वास पर करना चाहिए। फल तो आपको मिल ही जाता है। आत्मविश्वासी बनकर आप पर्सलन और प्रोफेशनल लाइफ दोनों सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : हर कदम सफलता के लिए जरूरी है आगे बढने की ललक, एक्सपर्ट से जानें इसे बढ़ाने के 6 तरीके

Inside4_tokyo2021

3. हेल्दी लाइफस्टाइल

जितने भी खिलाड़ी मैदान में उतरते हैं वे अपने लाइफस्टाइल का बहुत ख्याल रखते हैं। उनका सोना, जागना सब कुछ तय होता है। साथ ही उनकी प्रैक्टिस का समय भी तय होता है। ऐसे में हम सभी को इन युवाओँ से सीख लेनी चाहिए दुनिया सिर्फ स्मार्टफोन नही हैं। इससे बाहर भी एक दुनिया है जो स्मार्टफोन से ज्यादा रियल है। सफल जीवन के लिए सही डाइट, सही थिकिंग जरूरी है। मानसिक और शारीरिक दोनों रूपों में हेल्दी लाइफस्टाइल को अपनाने से ही आप अपने लक्ष्य में सफल हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : जीवन में सफलता प्राप्त करने में अपनी इंद्रियों (Senses) का कैसे करें सही इस्तेमाल? जानें मनोवैज्ञानिक से

4. जेंडर कोई बाउंड्री नहीं

जीत के लिए जेंडर कोई बाउंड्री नहीं है। टोक्यो ने यह समझा दिया कि लड़कियां भी किसी से कम नहीं। खेल का कोई जेंडर नहीं होता है। इसलिए अगर आप लड़की हैं तो खुद को सिर्फ इसलिए न रोकें कि आप लड़की हैं तो आप किसी खेल को खेल नहीं पाएंगी, बल्कि आप यह सोचें कि आपका लक्ष्य यह काम करना है तो आप जरूर आगे बढ़ेंगी। सिर्फ खेल ही क्यों आप जिस भी फील्ड में आगे बढ़ना चाहती हैं उसमें जाएं। पूरे आत्मविश्वास और ईमानदारी से काम करें आपको सफलता जरूरी मिलेगी। इन महिला खिलाड़ियों से हमने यही सीखा है कि पितृसत्तात्मक समाज में परिस्थितियां आपके अनुकूल बेशक न हों, लेकिन अगर आप अपने लक्ष्य लिए जिद्दी बन जाएं तो सब कुछ पाया जा सकता है। ये महिला चोट लगने से भी नहीं घबरातीं और लक्ष्य के प्रति आगे बढ़ती हैं।

टोक्यो के समापन के साथ इन खिलाड़ियों ने देशवासियों को जीत का मंत्र दिया है कि अगर आप लक्ष्य के प्रति जुनूनी हैं तो सफलता आपसे दूर नहीं जा पाएगी। 

Read More Articles on mind-body in hindi

Disclaimer