तनाव में हो पार्टनर तो इन 8 तरीकों से पार्टनर को करें सपोर्ट, मजबूत होगा आपका रिश्ता

अगर आपका पार्टनर तनाव से जूझ रहा है, तो इन आसान तरीकों से उनका साथ देकर उन्हें तनावमुक्स करें।

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 13, 2021Updated at: Jul 13, 2021
तनाव में हो पार्टनर तो इन 8 तरीकों से पार्टनर को करें सपोर्ट, मजबूत होगा आपका रिश्ता

अगर आप किसी के साथ रिलेशनशिप में हैं, तो आपका फर्ज है कि आप अपने साथी का हर तरह से सपोर्ट करें। पार्टनर को सपोर्ट करने से आपका रिश्ता मजबूत होगा। खासतौर पर भावनात्मक सपोर्ट रिश्ते को गहरा करती है। इसलिए अगर आपका पार्टनर किसी भी तरह के स्ट्रेस या फिर डिप्रेशन से गुजर रहा है, तो उन्हें समझें और स्ट्रेस या डिप्रेशन से निकलने में उनकी मदद करें। आज हम आपको इस लेख में कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं, जिससे आप स्ट्रेस से जूझ रहे साथी को स्ट्रेस से बाहर निकाल सकते हैं। चलिए जानते हैं उन टिप्स के बारे में-

1. पहले जानें क्या उन्हें आपकी जरूरत है?

अगर आपका साथी स्ट्रेस से जूझ रहा है, तो सबसे पहले यह जानने की कोशिश करें कि आपके साथी को क्या चाहिए? यह जानें क्या उन्हें अभी किसी के साथ की जरूरत है? क्योंकि कभी-कभी स्ट्रेस में व्यक्ति अकेला रहना चाहता है, ऐसे में अगर आप उनके पास जाकर बार-बार सवाल करते हैं, तो व्यक्ति आप ज्यादा परेशान होने लगता है। ऐसी स्थिति में अपने साथी को कुछ समय के लिए अकेला छोड़ दें। हां, लेकिन उनके आसपास रहें और उनकी एक्टिविटी पर जरूर ध्यान देते रहें। उन्हें बिल्कुल अकेला न छोड़ें। बस उनके पास से हट जाएं और उनकी निगरानी करते रहें। 

इसे भी पढ़ें - पार्टनर से असहमति या शिकायत बताते समय न करें ये 5 गलतियां, रिश्ते पर पड़ सकता है बुरा असर

2. उनकी भावनाओं को समझें

अक्सर हमारे साथ ऐसा होता है कि जो हमें पसंद हो वो किसी और को पसंद नहीं होता है। ठीक ऐसा ही कुछ चिंता होने का विषय हो सकता है। कुछ बातें आपको परेशान नहीं करती होंगी, लेकिन वही बात आपके साथी को परेशान कर रही हैं। ऐसे में उनकी बातों को नकार देना आपके लिए भारी पड़ सकता है। इसलिए अपने साथी की भावनाओं को समझने की कोशिश करें और उनके तर्क पर जाएं। अगर आपको कुछ गलत लगे, तो उन्हें समझाएं। 

3. पार्टनर की बातों से आहत न हों

कभी-कभी इंसान गुस्से में या स्ट्रेस में सामने वाले को बुरा भला कह देता है। इसलिए जब भी आपका पार्टनर स्ट्रेस में हो और आपको कुछ बुरा-भला कहे, तो उनकी बातों का बुरा मानकर उन्हें छोड़े नहीं, बल्कि उनका साथ दें। स्ट्रेस में कही बातों को दिल पर लेने से रिश्ता खराब हो सकता है। इसलिए ऐसी स्थिति में एक समझदार व्यक्ति का परिचय देकर अपने साथी से बात करें और उन्हें समझें।

4. पार्टनर के काम में बंटाएं हाथ

स्ट्रेस या डिप्रेशन में व्यक्ति के कार्य करने की क्षमता पर असर पड़ने लगता है। इस वजह से वह काम के दौरान चिड़चिड़े हो जाते हैं। अगर आपके साथ भी यही परिस्थिति है, तो जितना हो सके उतना अपने पार्टनर के काम में हाथ बंटाएं।

इसे भी पढ़ें - घर में आए नई बहू तो इन 6 तरीकों से करें उसे सपोर्ट, जल्द बनेगी अच्छी बॉन्डिंग

5. डीप ब्रीथिंग कराएं

जब भी आपके पार्टनर का स्ट्रेस बढ़ जाए, तो उन्हें डीप ब्रीथिंग करने के लिए कहें। करीब 5 मिनट तक डीप ब्रीथिंग लेने से हृदय की गति धीमी हो जाती है, ऐसे में काफी हद तक स्ट्रेस और डिप्रेशन की समस्या को कंट्रोल किया जा सकता है।

6. पार्टनर के साथ टहलने जाएं

स्ट्रेस से जूझ रहे व्यक्ति के लिए शारीरिक एक्टिविटी बहुत ही जरूरी है। अगर आपका पार्टनर अकेले घूमने या फिर अन्य एक्टिविटी नहीं कर रहा है, तो आप भी उनके साथ घूमने जाएं। उनके साथ टहलें। ऐसा करने से वे अपने दिमाग से ज्यादा शरीर पर ध्यान देंगे। इससे स्ट्रेस को कम किया जा सकता है।

7. जीने की उम्मीद जगाएं

स्ट्रेस धीरे-धीरे डिप्रेशन का रूप धारण कर लेती है। डिप्रेशन किसी भी व्यक्ति के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। डिप्रेशन से जूझ रहा व्यक्ति कब कैसा कदम ले ले, यह कहना काफी मुश्किल होता है। अगर आपके पार्टनर की सोच नकारात्मक हो रही है, तो आपका कर्तव्य होता है कि आप उनके अंदर पॉजिटिव सोच जाएं। उनके अंदर जीने की नई उम्मीद जगाएं। उन्हें डिप्रेशन से निकलने में उनकी मदद करें।

इसे भी पढ़ें - दिलीप कुमार और सायरा बानो के 55 साल की लव स्टोरी में आए कई उतार-चढ़ाव, कपल्स को उनसे सीखनी चाहिए ये 4 बातें

8. पार्टनर का इलाज कराएं

अगर आपको लग रहा है कि स्थिति आपके हाथों से बाहर हो चुकी है, तो इस स्थिति में किसी अच्छे  मानसिक रोग विशेषज्ञ से पार्टनर का इलाज कराएं। क्योंकि लगातार बढ़ रहा स्ट्रेस आपके पार्टनर के साथ-साथ आपके लिए भी घातक हो सकता है। इसलिए सही समय पर उनका इलाज करना बहुत ही जरूरी होता है।

इन आसान तरीकों से आप अपने पार्टनर को तनाव मुक्त कर सकते हैं। ध्यान रखें कि अगर आपका पार्टनर किसी भी मानसिक परेशानी से गुजर रहा है, तो उन्हें अकेला छोड़ने के बजाय उनका साथ दें। ऐसे में वे जल्द ही ठीक हो सकते हैं।

Read More Articles on Marriage in Hindi

Disclaimer