Easy Exercise: सिट अप्स करने का सही तरीका क्या है और इससे शरीर को क्या फायदे मिलते हैं?

एब्स के लिए लोग कई तरह की एक्सरसाइज का अभ्यास करते हैं इनमें सबसे ज्यादा सिट अप्स किया जाता है, जानें इसके बारे में

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Aug 05, 2021Updated at: Aug 05, 2021
Easy Exercise: सिट अप्स करने का सही तरीका क्या है और इससे शरीर को क्या फायदे मिलते हैं?

शरीर का शेप, पोश्चर और कर स्ट्रेंथ को ठीक करने के लिए रोजाना एक्सरसाइज और वर्कआउट करना फायदेमंद होता है। ये वर्कआउट कई तरह के होते हैं शरीर की जरूरतों के हिसाब से इनका अभ्यास किया जाता है। इन्हीं वर्कआउट में से एक है सिट अप्स जो सबसे ज्यादा लोकप्रिय वर्कआउट माना जाता है। शरीर को टोन करने, स्ट्रेंथ बढ़ाने और मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए सिट अप्स का अभ्यास किया जाता है। इस व्यायाम का अभ्यास लेटकर और खड़े होकर किया जा सकता है। सिट अप्स का अभ्यास पाचन में सुधार करने से लेकर, एब्स बनाने और हिप फ्लेक्सर्स, छाती और गर्दन के अलावा रेक्टस एब्डोमिनिस, ट्रांसवर्स एब्डोमिनिस के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है। सिट अप्स का अभ्यास आप जिम में या जिम से बाहर कहीं भी कर सकते हैं। अगर आप नियमित रूप से जिम जाते हैं तो हो सकता है कि आप भी इस एक्सरसाइज का अभ्यास करते हों। लेकिन इसे करने से पहले इस व्यायाम के बारे में जान लेना बहुत जरूरी है। आइये जानते हैं सिट अप्स एक्सरसाइज के बारे में।

क्या है सिट अप्स एक्सरसाइज? (What is Sit Ups Workout?)

सिट अप्स पेट की मांसपेशियों और शरीर की स्ट्रेंथ को मजबूत करने के लिए की जाने वाली एक क्लासिक एक्सरसाइज है। इस एक्सरसाइज में शरीर के वजन को ऊपर उठाकर संतुलन बनाया जाता है। एब्डोमिनल मसल्स को मजबूत और टोन करने के साथ शरीर के पाचन को सुधारने के लिए इसका नियमित अभ्यास बहुत फायदेमंद होता है। इसके नियमित अभ्यास से शरीर को कई फायदे मिलते हैं। सिट अप्स एक्सरसाइज के कई वेरिएशन भी हैं। इस व्यायाम को कई तरीके से किया जाता है। लेकिन अगर आप इसका अभ्यास सही तरीके से नहीं करते हैं तो इसकी वजह से आपको कई समस्याएं भी झेलनी पड़ती है।

Sit-Ups-Workout-Exercise

सिट अप्स एक्सरसाइज के प्रकार (Types of Sit Ups Exercise)

सिट अप्स पेट की मांसपेशियों टोन और मजबूत करने के लिए और एब्स बनाने के लिए की जाने वाली सबसे लोकप्रिय एक्सरसाइज है। इसका अभ्यास करते समय शरीर के वजन को लेट कर ऊपर उठाया जाता है। शुरुआत में इस एक्सरसाइज का अभ्यास एक्सपर्ट की देखरेख में ही किया जाना चाहिए। सिट अप्स के कई वेरिएशन्स भी होते हैं। अगर आप सिट अप्स एक्सरसाइज का अभ्यास कई दिनों से कर रहे हैं तो आप इसके अलग-अलग वेरिएशन को ट्राई कर सकते हैं।

  • वेटेड प्लेट सिट अप्स (Weighted Plate sit ups)
  • डम्बल सिट अप्स (Dumbbell Sit Ups)
  • वी-अप्स (V-Ups)
  • रिवर्स क्रंच (Reverse Crunch) 
  • सीजर्स (Scissors)
  • डेड बग्स (Dead Bugs)

सिट अप्स एक्सरसाइज करने के फायदे (Sit Ups Workout Exercise Benefits)

सिट अप्स एक्सरसाइज का नियमित अभ्यास करने से मांसपेशियां मजबूत होती हैं और शरीर की कोर स्ट्रेंथ बढ़ती है। इसके अलावा इसका अभ्यास शरीर के पोश्चर को ठीक करने और एब्स बनाने में भी इसका अभ्यास बहुत उपयोगी होता है। सिट अप्स एक्सरसाइज छाती, पीठ के निचले हिस्से, गर्दन और हिप फ्लेक्सर और मुख्य रूप से एब्डोमिनल मसल्स पर ज्यादा फोकस करती है। अगर सही तरीके से सिट अप्स एक्सरसाइज का अभ्यास किया जाए तो यह आपके वजन को भी कम करने में फायदेमंद होती है। सिट अप्स का नियमित अभ्यास करने के फायदे इस तरह से हैं।

इसे भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी में साइकिलिंग करने के होते हैं ढेर सारे फायदे, लेकिन इस दौरान जरूरी हैं कुछ सावधानियां

Sit-Ups-Workout-Exercise

1. शरीर की कोर स्ट्रेंथ को बढ़ाती है (Improves Core Strength)

सिट अप्स का नियमित अभ्यास करने से आपके शरीर की कोर स्ट्रेंथ बढ़ती है और शरीर की ताकत भी बढ़ती है। रोजाना सिट अप्स का अभ्यास करने के बाद मांसपेशियां मजबूत होती हैं और पीठ, गर्दन आदि को भी फायदा मिलता है। इसका अभ्यास करने से आपको पीठ और गर्दन के दर्द में भी फायदा मिलता है। 

इसे भी पढ़ें : लैपटॉप और मोबाइल से आंखों पर पड़ रहा है असर? इन 4 एक्सरसाइज से बढ़ाएं आंखों की रोशनी

2.  एथलेटिक प्रदर्शन को सुधारने में फायदेमंद (Improves Athletic Performance)

खेलकूद और शारीरिक गतिविधियों से जुड़े काम में शरीर की मांसपेशियों का मजबूत होने बहुत जरूरी होता है। एथलीटों के बेहतर प्रदर्शन के लिए मजबूत मांसपेशी और ताकत जरूरी है। इसलिए सिट अप्स का अभ्यास एथलीट के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। इससे उनके शरीर की ताकत और सहनशक्ति बढ़ती है।

इसे भी पढ़ें : ढीले और लटकते ब्रेस्ट (ब्रेस्ट सैगिंग) से छुटकारा पाने और इसे सुडौल बनाने के लिए करें ये 5 एक्सरसाइज

3. मांसपेशियों को मजबूत करने में फायदेमंद (Improved Muscle Mass)

पेट, पीठ और छाती की मांसपेशियों को मजबूत करने और उन्हें टोन करने के लिए सिट अप्स का अभ्यास बहुत जरूरी है। उम्र बढ़ने के साथ मांसपेशियों में समस्याएं भी बढ़ने लगती हैं ऐसे में सिट अप्स का अभ्यास करने वाले लोगों को इसका फायदा भी मिलता है। कई शोध और अध्ययन भी इस बात की पुष्टि कर चुके हैं कि सिट अप्स का अभ्यास खिलाड़ियों की कार्यक्षमता बढ़ाने में बहुत फायदेमंद होता है।

इसे भी पढ़ें : सुबह ही नहीं रात में जॉगिंग करना भी है आपके लिए बहुत फायदेमंद, जानें इससे मिलने वाले 6 फायदे

Sit-Ups-Workout-Exercise

4. शरीर को लचीला बनाने में उपयोगी (Increase Flexibility)

सिट अप्स का नियमित अभ्यास शरीर को लचीला बनाने में मदद करता है। इसके अभ्यास से रीढ़ की हड्डी और कूल्हों को लचीला बनाने में फायदा मिलता है। शरीर का लचीलापन बढ़ने से शरीर की गतिशीलता बढ़ती है और तनाव व अकड़न जैसी समस्या से राहत मिलती है। शरीर के लचीले होने से आपकी एकाग्रता में भी सुधार होता है और शरीर की एनर्जी बढ़ जाती है।

इसे भी पढ़ें : कमर सीधी करने की एक्सरसाइज: टेढ़ी हो गई है कमर या खराब हो गया है बॉडी शेप तो इन 4 एक्सरसाइज से करें ठीक

5. शरीर का बैलेंस या संतुलन ठीक करने में फायदेमंद (Improves Balance and Stability)

सिट अप्स का सही तरीके से नियमित अभ्यास आपके शरीर का बैलेंस या संतुलन ठीक करने के लिए उपयोगी माना जाता है। शरीर को संतुलित और स्थिर रखने के लिए सिट अप्स का अभ्यास करना चाहिए। सिट अप्स शरीर में पेट की मांसपेशी और कूल्हे की मांसपेशियों पर ज्यादा प्रभाव डालता है।

इसे भी पढ़ें : रोज साइकिलिंग करते हैं तो जरूर करें ये 4 स्ट्रेच एक्सरसाइज, दूर होगी शरीर में अकड़न और दर्द की समस्या

6. शरीर के पोश्चर में सुधार (Improved Posture)

सिट अप्स का अभ्यास शरीर के पोश्चर में सुधार करता है। इसके अभ्यास से आपके कूल्हे, रीढ़ की हड्डी और कंधे का पोश्चर ठीक होता है। इसके अलावा सिट अप्स का अभ्यास करने से आपके शरीर में दर्द, तनाव और अन्य परेशानियों में भी फायदा मिलता है।

सिट अप्स करने का सही तरीका (How To Do Sit Ups Workout Exercise)

सिट अप्स का अभ्यास कोई भी आसानी से कर सकता है। इसका सही तरीके से अभ्यास करने से ही फायदा मिलता है। इसके अभ्यास में शरीर को वजन को ऊपर उठाना होता है और शरीर का संतुलन बनाते हुए इसका अभ्यास किया जाता है। सिट अप्स का अभ्यास करने के कई तरीके होते हैं लेकिन सामान्य रूप से सिट अप्स एक्सरसाइज का अभ्यास करने के लिए आप इन स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सबसे पहले सिट अप्स का अभ्यास करने के लिए फर्श या योगा मैट पर लेट जाएं।
  • इस दौरान आपका मुहं ऊपर की तरफ होना चाहिए और पीठ पूरी तरह जमीन के सहारे टिकाएं।
  • अब अपने घुटनों को मोड़ें और पंजों को किसी तरह का सपोर्ट दें।
  • दोनों हाथों को गर्दन के पीछे ले जाकर अच्छी तरह से पकड़ लें।
  • अब गहरी सांस लेते हुए पेट को अंदर की तरफ खींचे और फिर सांस को धीरे से बाहर निकाले।
  • इसके बाद अपने वजन को सिर से ऊपर उठाते हुए मांसपेशियों पर जोर दें।
  • अब अपनी हिप्स को ऊपर उठाएं और बॉडी को लगभग 70 डिग्री तक ले जाएं।
  • इसी तरह 10-15 रेप्स के 3-4 सेट करें।
 

सिट अप्स के नियमित अभ्यास से आपके शरीर की मांसपेशियां मजबूत और टोन होंगी। इसके अलावा आपके शरीर की स्ट्रेंथ और मजबूती के लिए यह एक्सरसाइज बहुत फायदेमंद मानी जाती है। इसका अभ्यास जिम या जिम के बाहर कहीं भी किया जा सकता है। शुरुआत में इसका अभ्यास एक्सपर्ट की देखरेख में ही किया जाना चाहिए।

Read More Articles on Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer