क्यों होती है मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या? डॉक्टर से जानें कारण, लक्षण और बचाव के तरीके

मांसपेशियों में ऐंठन एक सामान्य समस्या है। यह समस्या किसी भी उम्र के लोगों को हो सकती है। जानें इसके कारण और कैसे की जाए इसकी रोकथाम।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 02, 2021Updated at: Apr 02, 2021
क्यों होती है मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या? डॉक्टर से जानें कारण, लक्षण और बचाव के तरीके

मसल्स क्रैम्प (muscle cramp) क्या होता है? मसल्स क्रैम्प तब होता है, जब शरीर की एक या एक से ज्यादा मांसपेशियों का अचानक और लगातार इनवॉलेंट्री कॉन्ट्रेक्शन (Inventory contraction) होता है यानी जब मांसपेशियां अचानक सिकुड़कर कठोर हो जाती हैं। मांसपेशियों की ऐंठन के कॉमन लक्षणों में अचानक और तेज दर्द होना शामिल हैं। यह दर्द कुछ सेकेंड से लेकर कुछ मिनट तक रह सकता है। त्वचा के नीचे मांसपेशियों के टिश्यू की एक उभरी हुई गांठ ऐंठन होने पर नजर आती है। मांसपेशियों में ऐंठन होने से गंभीर दर्द हो सकता है, हालांकि इस दर्द से कोई हानि नहीं होती है, लेकिन दर्द होने पर कुछ समय के लिए प्रभावित मांसपेशियों से काम करना मुश्किल होता है। सामान्य तौर पर मांसपेशियों में हुई ऐंठन अपने आप ठीक हो जाती है। ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है कि मसल्स क्रैम्प होने पर मेडिकल सहायता लेनी पड़े। लेकिन मांसपेशियों में ऐंठन होने पर अगर आपको परेशानी हो, पैर में सूजन हो, लालिमा या स्किन में कोई दूसरे बदलाव देखने को मिले, मांसपेशियां कमजोर होने लगे तो आपको डॉक्टर से इस बारे में कंसल्ट करना चाहिए। आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल, द्वारका के ऑर्थोपेडिक्स एंड ज्वाइंट रिप्लेसमेंट के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर आशीष चौधरी बता रहे हैं मसल्स क्रैम्प्स के कारण और इसके रोकथाम के बारे में। (Muscle cramp causes and prevention)

 muscles cramp senior

अक्सर मांसपेशियों में ऐंठन पैर के निचले हिस्से के पीछे (Back of the lower leg), जांघ के पीछे (Back of your thigh) और जांघ के सामने वाले हिस्से (Front of your thigh) में होती हैं। एब्डोमिनल वॉल (Abdominal wall), बांह (Arm), हाथ और पैरों के पंजों में भी ऐंठन महसूस हो सकती हैं। लंबे समय तक एक्सरसाइज या शारीरिक रूप से मेहनत करने से भी मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती हैं। इसके अलावा कुछ दवाओं और मेडिकल कंडीशन (Medical condition) की वजह से भी ऐंठन हो सकती हैं। 

मांसपेशियों में ऐंठन होने के कारण (Causes of muscle cramps)

ज्यादातर केसेज में लंबे समय तक एक ही पोजीशन में रहना और डिहाइड्रेशन के कारण मांसपेशियों में ऐंठन हो जाती हैं। कई केस में ऐंठन के कारण का पता नहीं चल पाता है। इसके अलावा कुछ केसेज में मांसपेशियों में ऐंठन किसी अंडरलाइंग मेडिकल कंडीशन (Underlying medical condition) की वजह से भी हो जाती है। मांसपेशियों में ऐंठन होने के कारण हैं-

इसे भी पढ़ें - सिरदर्द और मांसपेशियों के दर्द से राहत दिलाए अरोमा थेरेपी, जानिए अरोमा थेरेपी लेने के 4 आसान से तरीके

अपर्याप्त रक्त की आपूर्ति (Insufficient blood supply) 

आर्टियोस्क्लेरोसिस (Arteriosclerosis) के पतला होने के कारण ब्लड पर्याप्त मात्रा में सप्लाई नहीं हो पाता है, जिससे ऐंठन की समस्या पैदा हो सकती है और एक्सरसाइज करते समय पैरों और तलवों में दर्द हो सकता है। जब आप एक्सरसाइज करना बंद कर देते हैं, तो ये ऐंठन आमतौर पर अपने आप खत्म हो जाती है।

नर्व कंप्रेशन (Nerve compression)

इसे लंबर स्टेनोसिस (Lumbar stenosis) के रूप में भी जाना जाता है। इस मेडिकल कंडीशन की वजह से भी पैरों में ऐंठन हो सकती है। बहुत ज्यादा चलने पर यह दर्द गंभीर हो जाता है। इसलिए आप अपने चलने के तरीके पर भी ध्यान दें।

मिनरल्स की कमी (Lack of minerals)

इलेक्ट्रोलाइट्स (Electrolytes) के असंतुलन से मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती है। पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम की कमी होने पर भी ऐंठन की समस्या होने लगती हैं। पेशाब को बढ़ाने और हाई ब्लड प्रेशर की दवाएं भी शरीर में इन मिनरल्स को कम कर देते हैं। इसलिए इनका ज्यादा सेवन करने से भी बचें।

इन लोगों को ज्यादा होती हैं मसल्स क्रैम्प की समस्या (These people are more prone to muscle cramp)

  • - जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, वैसे-वैसे मांसपेशियों में ऐंठन होने का खतरा बढ़ता जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बुजुर्गों में मांसपेशियों की हानि होने लगती है, जो बचे हुए मांसपेशियों पर आसानी से दबाव तथा खिंचाव डालते हैं। 
  • - खिलाड़ियों को होने वाली मांसपेशियों की ऐंठन डिहाइड्रेशन की वजह से होता है। गर्मियों में एथलीट थक जाते हैं और उनमें डिहाइड्रेशन होने लगता है। इस वजह से उनमें मांसपेशियों में ऐंठन हो जाती हैं। 
  • - गर्भावस्था, डायबिटीज, नर्व, लीवर और थायराइड डिसऑर्डर  जैसे हालात भी मांसपेशियों में ऐंठन का कारण बन सकते हैं। 

इन डिसऑर्डर से होती है मसल्स क्रैम्प की समस्या

कुछ डिसऑर्डर की वजह से मांसपेशियों में ऐंठन के लक्षण नजर आते हैं। ये डिसऑर्डर निम्न हैं-

डायस्टोनियास (Dystonias)

अनैच्छिक मांसपेशी सिकुड़न (Involuntary muscle contraction) आमतौर पर लंबे समय तक रहती है और यह ऐंठन की तुलना में ज्यादा होती है। इसमें पीठ और गर्दन भी प्रभावित होते हैं। अकसर मांसपेशियों में ऐंठन और एक्सरसाइज से संबंधित ऐंठन काल्फ (Calf) की मांसपेशियों को प्रभावित करते हैं।

टेटनी (Tetney)

टेटनी का मतलब पूरे शरीर में मांसपेशियों के निरंतर या बार-बार ऐंठन से होता है। इस तरह की ऐंठन आमतौर पर मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन की तुलना में ज्यादा समय तक बनी रहती हैं। यह ऐंठन मांसपेशियों को भी मरोड़ सकती हैं।

मसल्स क्रैम्प की रोकथाम (Prevention of muscle cramp) 

मसल्स क्रैम्प कोई गंभीर समस्या नहीं है, इसलिए इसका रोकथाम करना आसान होता है। इसके लिए आप इन बातों का ध्यान रखें- 

खुद को हाइड्रेट रहें (Hydrated yourself)

हर दिन खूब सारा लिक्विड पिएं। लिक्विड लेने से मांसपेशियों की कोशिकाएं हाइड्रेटेड रहती हैं।  लिक्विड आपकी उम्र, लिंग आपकी एक्टिविटी का स्तर, मौसम, आपका स्वास्थ्य और आपके द्वारा ली जाने वाली दवाओं पर निर्भर करता है। एक्टिविटी के दौरान लिक्विड को नियमित रूप से लें। इससे आपको मसल्स क्रैम्प की समस्या नहीं होगी। 

drink water in muscles cramp

अपनी मांसपेशियों को स्ट्रेच करें (Stretch your muscles)

अगर आप अपने मांसपेशियों का इस्तेमाल ज्यादा समय के लिए करने जा रहे हैं, तो इससे पहले मांसपेशियों को स्ट्रेच कर लेना सही रहता है। अगर आपको रात में पैरों में ऐंठन होती है, तो सोने जाने से पहले खुद को स्ट्रेच करें। साइकिल चलाने से भी ऐंठन की समस्या को कम किया जा सकता है।

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

 

Disclaimer