प्रेग्नेंसी में साइकिलिंग करने के होते हैं ढेर सारे फायदे, लेकिन इस दौरान जरूरी हैं कुछ सावधानियां

प्रेग्नेंसी में साइकिलिंग करना आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। लेकिन साइकिलिंग करते वक्त कुछ सावधानियां बरतने की आवश्यकता है। 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 29, 2021Updated at: Jul 29, 2021
प्रेग्नेंसी में साइकिलिंग करने के होते हैं ढेर सारे फायदे, लेकिन इस दौरान जरूरी हैं कुछ सावधानियां

साइकिलिंग स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। नियमित रूप से साइकिलिंग करने से कई तरह की बीमारियों से बचाव किया जा सकता है। इसलिए हर व्यक्ति को साइकिलिंग करने की सलाह दी जाती है, लेकिन कुछ लोगों का मानना होता है कि प्रेग्नेंसी के दौरान साइकिलिंग नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे गर्भवती महिला को परेशानी हो सकती है। क्या आपकी भी यही राय है? अगर हां, तो आज से इस राय को बदल लीजिए। जी हां, नोएडा स्थि मदरहुड हॉस्पिटल की गायनाकोलॉजिस्ट मनीषा रंजन बताती हैं कि प्रेग्नेंसी में महिलाएं साइकिलिंग कर सकती हैं। इससे उन्हें किसी तरह का कोई नुकसान नहीं होता है। अगर आपको लग रहा है कि इससे आपको गर्भ को किसी तरह का नुकसान होगा, तो यह बिल्कुल सही नहीं है। अगर आप प्रेग्नेंसी में हल्के-फुल्के एक्सरसाइज करती हैं, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा साबित होता है। साइकिलिंग को भी आप अपने रुटीन में एक बेहतरीन एक्टिविटी के तौर पर शामिल कर सकते हैं। लेकिन गर्भावस्था में साइकिलिंग करते वक्त आपको थोड़ी सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है, ताकि आपको किसी तरह की परेशानी न हो।। चलिए जानते हैं गर्भावस्था में साइकिलिंग करने के फायदे और सावधानियां-

गर्भावस्था में साइकिलिंग के फायदे (Benefits of cycling During Pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान साइकिलिंग के कई फायदे हो सकते हैं। जैसे-

वजन रहता है कंट्रोल

प्रेग्नेंसी के दौरान कई महिलाओं का वजन बढ़ जाता है। ऐसे में साइकिलिंग करना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। अगर आप प्रेग्नेंसी में हल्की-फुल्की साइकिलिंग करते हैं, तो आपका वजन कंट्रोल में रहता है। 

इसे भी पढ़ें - कमर सीधी करने की एक्सरसाइज: टेढ़ी हो गई है कमर या खराब हो गया है बॉडी शेप तो इन 4 एक्सरसाइज से करें ठीक

डायबिटीज से करे बचाव

अगर आप प्रेग्नेंसी में हल्के-फुल्के एक्सरसाइज के तौर पर साइकिलिंग करते हैं, तो इससे प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले डायबिटीज के खतरे से काफी हद तक बचा जा सकता है। रिसर्च में बताया गया है कि एक्सरसाइज से आप शरीर की कैलोरी बर्न करते हैं, जिससे डायबिटीज से बचाव किया जा सकता है।

दिल को रखे स्वस्थ

प्रेग्नेंसी में आप हल्के-फुल्के एक्सरसाइज करते हैं, तो यह आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा माना जाता है। रिसर्च में बताया गया है कि प्रेग्नेंसी के दौरान यदि आप एक्सरसाइज करते  हैं, तो इससे कार्डियोवैस्कुलर के फंगशन में सुधार होता है। यानि आप प्रेग्नेंसी में एक्सरसाइज के तौर पर साइकिलिंग करते हैं, तो यह आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है।

नींद में सुधार

प्रेग्नेंसी में नींद से जुड़ी परेशानियां कई लोगों को होती है। ऐसे में आपको शारीरिक एक्टिविटी की आवश्यकता है। अगर आप साइकिलिंग जैसी एक्सरसाइज करते हैं, तो इससे आपके नींद में सुधार आता है। साथ ही आप प्रेग्नेंसी में होने वाली बेचैनी से भी राहत पा सकते हैं।

हड्डियों को करे मजबूत

नियमित रूप से साइकिलिंग करने से हड्डियां मजबूत होती हैं। इससे हड्डियों की डेंसिटी की कमी में सुधार आता है। इसलिए प्रेग्नेंसी में हड्डियों की मजबूती के लिए साइकिलिंग की जा सकती है। 

इसे भी पढ़ें - ढीले और लटकते ब्रेस्ट (ब्रेस्ट सैगिंग) से छुटकारा पाने और इसे सुडौल बनाने के लिए करें ये 5 एक्सरसाइज

शरीर को रखे फिट

प्रेग्नेंसी में साइकिलिंग करना महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा साबित हो सकता है। इससे आप खुद को फिट रख सकते हैं। गर्भवस्था में एक्सरसाइज करने से शारीरिक फिटनेस अच्छी होती है। इसलिए आप एक्सरसाइज के तौर पर साइकिलिंग कर सकते हैं। साइकलिंग करने से आप फिट रहते हैं। 

प्रेग्नेंसी में साइकिलिंग करते वक्त सावधानियां

  • प्रेग्नेंसी में अगर आप साइकिलिंग करना चाह रहे हैं, तो ऐसी साइकिल का चुनाव करें, जिसमें आपको अपनी पीठ को ज्यादा झुकाना न पड़े। यानि पीठ को हमेशा सीधी रखकर ही साइकिलिंग करें।
  • प्रेग्नेंसी में साइकिलिंग के दौरान आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप किसी कॉम्पटीशन में नहीं हैं। यानि आपको एक सामान्य गति में साइकिल चलानी है। ज्यादा स्पीड में साइकिलिंग न करें। क्योंकि इससे आपको हृदय गति तेज हो सकती है, जो प्रेग्नेंसी में सही नहीं है।
  • प्रेग्नेंसी में साइकिलिंग करने के लिए चौड़ी सीट वाली साइकिल का इस्तेमाल करें। छोटी सीट वाली साइकिल में आपको बैठने में परेशानी हो सकती है। जिसकी वजह से आपको दर्द भी हो सकता है।
  • साइकिल चलाने से पहले सीट और हैंडल को अपने हिसाब से एडजस्ट करें। ताकि साइकिलिंग के वक्त आपको किसी तरह की परेशानी न हो। 
  • थकान महसूस होने पर साइकिलिंग न करें। 
  • साइकिलिंग करते वक्त बीच-बीच में थोड़ा आराम करें।
  • साइकिलिंग के बाद हल्के फुल्के योग जरूर करें। 
  • इसके अलावा डॉक्टर से सलाह लेकर ही साइकिलिंग करें। 

प्रेग्नेंसी में साइकिलिंग करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है, लेकिन साइकिलिंग के वक्त जरूरी सावधानियों को बरतवा बहुत ही जरूरी है। ताकि आप खुद को और अपने बच्चे को सुरक्षित रख सकें। 

Read more on Articles on Fitness and Exercise in Hindi 

Disclaimer