बालों की देखभाल से जुड़े ये 7 मिथक जिन्हें शायद आप सच मानती हैं, जानें इन मिथक से जुड़ी सच्चाई

क्या बालों को साफ करने के लिए एक ही ब्रांड के शैंपू और कंडीशनर इस्तेमाल करने चाहिए? अगर आपको भी यही लगता है, तो चलिए जानते हैं इसकी सच्चाई

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: May 12, 2021
बालों की देखभाल से जुड़े ये 7 मिथक जिन्हें शायद आप सच मानती हैं, जानें इन मिथक से जुड़ी सच्चाई

बालों की देखभाल को लेकर हम काफी ज्यादा सोचते हैं। सुंदर और आकर्षक बालों की चाहत के लिए कई नुस्खों को अपनाते हैं। कई तरह के हेयरट्रीटमेंट्स भी लेते हैं। सुंदर दिखने के लिए बालों को अच्छा दिखना बहुत जरूरी होता है, ऐसे में बालों की केयर करना जरूरी भी होता है (Hair Care)। लेकिन कुछ लोग इंटरनेट पर फैली अफवाहों या किसी से सुनी बातों को सच मान लेते हैं और उसे एक धारणा बना लेते हैं। जैसे हम में से कई लोग मानते हैं कि एक सफेद बाल टोड़ने से बाकि के बाल भी धीरे-धीरे सफेद होने लगते हैं। हमें एक ही कंपनी का शैंपू और कंडीशनर इस्तेमाल करना चाहिए। लेकिन क्या ये धारणाएं सही है? आज हम आपको ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा गोयल से बातचीत करके बालों को लेकर फैली इस तरह की 7 अफवाहों की सच्चाई बताने जा रहे हैं। चलिए जानते हैं इन 7 अफवाहों (Biggest Nutrition Myths) की क्या है सच्चाई?

white hairs

1) सफेद बाल ना तोड़े- ऐसा करने से बाल अधिक सफेद होने लगते हैं? (Do Not Break The White Hair-By Doing This Does The Hair Become More White?)

यह धारणा काफी लंबे समय से चलती आ रही है। आपने भी अकसर अपनी दादी या मम्मी को यह बोलते जरूर सुना होगा कि सफेद बाल टोड़ने नहीं चाहिए, क्योंकि इसे टोड़ने से बाल अधिक सफेद होने लगते हैं। लेकिन आपको बता दें कि ऐसा कुछ भी नहीं होता है। सफेद बाल टोड़ने से ज्यादा बाल अपने-आप सफेद नहीं होने लगते हैं। दरअसल, सफेद बाल तब होते हैं जब आपके बालों के फॉलिकल्स (Fallicals) में रंग की कमी हो जाती है। इसलिए एक सफेद बाल को टोड़ने से उसके आस-पास के बाद सफेद नहीं होते हैं। जब तक आपके बालों में फॉलिकल्स पिगमेंट (Pigment) है, तब तक आपके बालों का नैचुरल रंग बना रहेगा।  

इसे भी पढ़ें - Hair Care : एलोवेरा और नारियल तेल एक साथ लगाने से बालों और स्किन को मिलेगा दोगुना फायदा

2) शैंपू और कंडीशनर एक ही ब्रांड के होने चाहिए? (Shampoos and Conditioners Must Be of The Same Brand)

बालों को धोने या साफ करने के लिए एक ही ब्रांड के शैंपू और कंडीशनर का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसी धारणा लोगों के मन में बनी हुई है। आप भी ज्यादातर एक ही ब्रांड के शैंपू और कंडीशनर का इस्तेमाल करती होंगी। लेकिन ऐसा करना जरूरी नहीं है, आप अलग-अलग ब्रांड के शैंपू और कंडीशनर का इस्तेमाल भी कर सकती हैं। एक ही ब्रांड के दो प्रोडक्ट यूज करने से बालों पर कुछ खास फर्क नहीं पड़ता है। इसके अलावा आप ऐसे प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें, जो आपके स्कैल्प और बालों के अनुकूल हो। बालों के हिसाब से प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना ज्यादा फायदेमंद होता है। जरूरत के हिसाब से प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना एक बेहतर उपाय है, न कि एक ही ब्रांड के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना।

3) ठंडे पानी से बाल धोने से बालों की चमक बढ़ती है? (Washing Hair With Cold Water Increases Hair Shine?)

हम में से कई लोगों का मानना है कि ठंडे पानी से बालों को धोने से उनकी चमक बढ़ती है। यह कुछ हद तक सही भी है, क्योंकि ठंडा पानी कंडीशनर को अपना काम करने में मदद करता है। लेकिन शुरुआत हल्के गर्म पानी से करें। गर्म पानी शैंपू के लिए बेहतर होता है। हल्का गर्म और ठंडा पानी, दोनों के अलग-अलग फायदे होते हैं। हल्का गर्म पानी आपके फॉलिकल्स को खोलने में मदद करता है और बालों को अच्छी तरह से साफ करता है। जबकि आखिरी में ठंडे पानी से बाले धोने पर एक्सट्रा प्रोडक्ट निकल जाता है और मॉयश्चराइजिंग तत्व बालों को फायदा पहुंचाता है।

trim hairs 

4) नियमित ट्रिम से आपके बाल जल्दी बढ़ते हैं? (Does Regular Trim Make Your Hair Grow Faster)

आपने अकसर ही सुना होगा कि बालों को ट्रिम करवाते रहना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से बालों के बढ़ने की रफ्तार तेज हो जाती है। लेकिन इसमें जरा भी सच्चाई नहीं है, क्योंकि बालों की ग्रोथ स्कैल्प से होती है। ऐसे में बालों को ट्रिम करने से बाल कैसे बढ़ सकते हैं? हां बालों को समय-समय पर ट्रिम करने से बाल भले ही बढ़ते नहीं है, लेकिन इससे दो मुंहे बालों की समस्या दूर होती है। इसलिए बालों को बढ़ाने के लिए आपको अपने स्कैल्प पर ध्यान देने की जरूरत होती है, एंड्स पर नहीं। बालों पर तेल लगाने से और मालिश करने से बालों के फॉलिकल्स तक ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। जिससे बालों की ग्रोथ बहुत ही तेजी से होती है। 

इसे भी पढ़ें - Skin Care : क्या है अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड? त्वचा पर इसके इस्तेमाल से मिलते हैं ढेर सारे फायदे

5) डैंड्रफ फैलता है? (Does Dandruff Spread)

दुनिया में कई ऐसी चीजें हैं, जो एक से दूसरे में फैलती हैं। इसमें वायरल, जुएं शामिल हैं। लेकिन कई लोगों का मानना है कि डैंड्रफ भी फैलता है। जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। डैंड्रफ आपके स्कैल्प पर हेयर प्रोडक्ट्स से होने वाली इरिटेशन या ड्राय स्कैल्प और शैंपू न करने की वजह से होता है। इसलिए डैंड्रफ होने पर खुद हो अलग करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह दूसरों तक नहीं फैलता है। इसके उपचार के लिए आप अपने शैंपू में टी ट्री ऑयल की कुछ बूंद मिलाएं और स्कैल्प को अच्छे से धोएं। इससे इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरियल तत्व (Anti Bacterial Ingredients) अपना काम करेंगे और डैंड्रफ की समस्या से जल्दी निजात मिलेगा। 

hair wash

6) बालों को रोजाना नहीं धोना चाहिए? (Hair Should Not be Washed Daily)

अगर आपने कभी ऐसा सुना है कि बालों को ज्यादा धोने से इन पर गलत असर पड़ता है। इससे बाल ज्यादा ऑयली हो जाते हैं और बाल कमजोर हो जाते हैं, तो आप अकेले नहीं हैं। बालों को ज्यादा धोने से बाल ऑयली तो नहीं होते हैं, लेकिन बालों को बार-बार धोने से स्कैल्प का कुदरती ऑयल निकल जाता है। गर्मियों में बालों पर पसीने की वजह से बाल रोज धोने पड़ते हैं। इसके लिए आप एक सौम्य शैंपू का इस्तेमाल करें। इस शैंपू को आप जितनी बार चाहें, उतनी बार इस्तेमाल कर सकती हैं।  इससे आपके बालों का कुदरती ऑयल भी नहीं निकलेगा।

7) बालों को सुखाने से ग्रोथ रुकती है? (Drying Hair Stops Growth)

हेयर ड्रायर की मदद से बालों को सुखाने पर बालों की ग्रोथ रुक जाती है, ऐसी धारणा भी आपने जरूरी सुनी होगी। बाल सुखाने का मतलब बालों को डैमेज करना नहीं होता है। बाल सुखाने के प्रोसेज में हीट प्रोटेक्शन यूज करके हीट डैमेज को कम किया जा सकती है। जब बालों की ग्रोथ की बात हो, तो जब तक बालों को सुखाने के दौरान फॉलिकल जल न जाए तब तक आपके हेयर ड्रायर से आपके बालों की ग्रोथ पर कोई फर्क नहीं पड़ता। 

अगर आप भी इन मिथक को सच मानती आई हैं, तो इनकी सच्चाई जानना आपके लिए बहुत ही जरूरी है। कई बार इन धारणाओं को सच मानने से हम खुद भी इन्हें फॉलो करने लगते हैं। ऐसे में हमारे बालों को ज्यादा नुकसान होने लगता है। इसलिए बालों की देखभाल करने से पहले इनके बारे में बनी गलत धारणाओं के बारे में जरूर जान लें। 

Read More Articles on Hair Care in Hindi

Disclaimer