कोरोनाकाल में पपीता न मिले तो खाएं ये 6 फल, मिलेंगे वैसे ही फायदे

पपीता की कीमत बढ़ गई है। ऐसे में आप पपीता के जितने गुण देने वाले फलों का सेवन कर सकते हैं। इनसे भी समान फायदा मिलेगा।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: May 21, 2021
कोरोनाकाल में पपीता न मिले तो खाएं ये 6 फल, मिलेंगे वैसे ही फायदे

पपीता स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। यहां तक कि टायफाइड जैसी बीमारियों में डॉक्टर्स पपीता खाने की सलाह देते हैं। लेकिन आजकल कोरोना का कहर भी पूरे देश में फैला हुआ है। ऐसे में कोरोना (Coronavirus in india) के अलावा टायफाइड बुखार जैसी परेशानियां साथ-साथ चल रही हैं। तो वहीं, लोग इम्युनिटी बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं ताकि वे जल्दी बीमार न पड़ें और उन्हें अस्पताल का मुंह न देखना पड़े। इन दिनों पपीते की बढ़ती मांग के चलते पपीते के दाम बढ़ गए हैं। यही वजह है कि मध्यमवर्ग के लिए इसे खाना मुश्किल हो गया है।  नमामी लाइफ में न्यूट्रीशनिस्ट डॉक्टर शैली तोमर का कहना है कि इन दिनों अगर पपीता महंगा हो गया है तो लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। पपीते के अलावा भी कई फल ऐसे हैं जिनसे पपीते जितना ही फायदा (fruits like papaya) मिलता है। यहां हम आपको डॉक्टर शैली तोमर द्वारा उन 6 फलों (substitute for papaya in diet) के बारे में बता रहे हैं जो पपीते की जगह प्रयोग में लाए जा सकते हैं। पपीते की जगह आप आड़ू, शफतालू, आम, खरबूजा आदि का सेवन भी कर सकते हैं। 

inside3_papayasubstitute

पपीता क्यों है खास (Benefits of papaya)

कोरोनाकाल में पपीता के अलावा नारियल पानी और कीवी के भी दाम बढ़ गए हैं। ये सभी फल अच्छी इम्युनिटी के लिए भी जरूरी हैं। पपीता कई वजहों से बाकी फलों से खास है। न्यूट्रीशनिस्ट डॉक्टर शैली तोमर ने बताया कि पपीता में विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन बी9 होता है। इसमें फाइबर और फोलिक एसिड की मात्रा अच्छी होती है जिसकी वजह से दिल की बीमारियों को खतरा कम हो जाता है। पपीते में दो खास एंजाइम्स होते हैं। इसमें पपैन (papain enzyme) और चाइमोपपैन (chymopapain enzymes) एंजाइम्स होते हैं। इन दोनों गुणों की वजह से पाचन संबंधी परेशानियां दूर रहती हैं। साथ ही शरीर में सूजन (papaya reduce inflammation) की परेशानी भी दू रहती है। पपीता में लाइकोपेन होता है जो कैंसर को दूर रखता है।

पपीते में पेटैशियम, विटामिन के और विटामिन ई होता है। यही वजह है कि पपीता इतना खास हो जाता है। लेकिन कोरोना की वजह से अगर पपीता आपकी जेब से बाहर हो गया हो तो यहां हम आपको पपीते जितना ही फायदा पहुंचाने वाले फलों के बारे में बता रहे हैं। इन फलों का सेवन करके भी आप स्वस्थ रह सकते हैं। तो वहीं, पपीता का अधिक सेवन स्वास्थ्य को नुकसान भी पहुंचा सकता है। इस नुकसान से बचने के लिए भी आप इन फलों का सेवन कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें : कोरोनाकाल में पीएं ये 5 ड्रिंक्स, मिलेंगे नारियल पानी जितने फायदे

पपीते के जितने फायदा पहुंचाने वाले फल (fruits like papaya)

खरबूजा

पपीता स्वाद और टेक्सचर में पपीते के बराबर ही होता है। इनमें विटामिन सी की मात्रा अच्छी होती है। विटामिन सी इम्युनिटी और त्वचा के लिए अच्छा होता है। खरबूजे में फाइबर की मात्रा भी अच्छी होती है। पपीता में भी फाइबर अच्छी मात्रा में होता है। तो वहीं विटामिन ए खरबूजा और पपीता दोनों में पाया जाता है। विटामिन आंखों की सेहत, बेहतर इम्युनिटी और स्वस्थ त्वचा के लिए जरूरी है।

अनानास

अनानास में विटामिन सी, ए, ई और विटामिन के अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। तो वहीं फोलेट भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। यह सभी गुण पपीते में भी पाए जाते हैं। यह सभी गुण इम्युनिटी बूस्ट करने के साथ चेहरे की त्वचा और पूरे शरीर की सेहत बनाए रखने में मदद करते हैं। पपीते में जैसे गुण होते हैं वैसे ही अनानास में भी पाए जाते हैं। यह इंफ्लामेशन को कम करने पाचन को दुरुस्त करने में मदद करता है। अनानास में ब्रोमेलेन एंजाइम पाए जाते हैं। 

inside2_papayasubstitute

आम

गर्मियों के मौसम में आम खूब खाया जाता है। फलों का राजा आम लोगों का प्रिय है। इस फल में पपीते जितने ही गुण होते हैं। इस मौसम में अगर आपको पपीता नहीं मिल रहा है तो आम का सेवन भी कर सकते हैं। न्यूट्रीशनिस्ट डॉक्टर शैली तोमार का कहना है कि आम और पपीते में 8 फीसद डायटरी फाइबर होता है। आम में पपीता से ज्यादा विटामिन ए और फोलेट ज्यादा होता है। इन दोनों फलों में विटामिन सी बराबर मात्रा में होता है। आम दिल, पाचन और आंखों के लिए अच्छा होता है। पपीते में भी यह समान गुण होते हैं। गर्मी में आम खाने के कई फायदे हैं।

inside1_papayasubstitute

इसे भी पढ़ें : हरी मिर्च खाने से बढ़ेगी इम्यूनिटी और मिलेंगे ये 8 फायदे, कोरोनाकाल में जरूर करें सेवन

पका हुआ कद्दू (butternut squash)

बटरनट स्क्वैश भी विटामिन सी, ए और ई में भरपूर होता है। पका हुआ बटरनट स्क्वैश में भी पपीते के बराबर ही गुण होते हैं। यह फ्लेवर और टेक्चर में समान होता है। पपीता और बटरनट स्क्वैश में 9 ग्राम फाइबर होता है जो पाचन के लिए बहुत अच्छा है। 

आड़ू (Peaches)

आड़ू दिखने में लाल और स्वाद में मीठा होता है। आड़ू में भी पपीता जैसे ही गुण होते हैं। यह एंटी-इंफ्लामेटरी गुणों से भरपूर होता है। आड़ू से कैंसर, हार्ट अटैक जैसी परेशानियां दूर होती हैं। यह आंखों की सेहत के लिए भी अच्छा होता है। पपीता और आड़ू में बराबर मात्रा में विटामिन के (2.6 mcg) होता है। यह प्लेटलेट काउंट को बढा़ने में मदद करता है। आड़ू में पपीते जितना पोटैशियम होता है जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है। 

शफतालू (Nectarine)

शफतालू में 100 ग्राम नेक्ट्रीन होता है। पपीता में 100 ग्राम कैलोरी होती हैं। इन दोनों की मात्रा समान होती है। इसमें डायटरी फाइबर होता है जो पपीते में भी पाया जाता है। डायटरी फाइबर पाचन के लिए बहुत अच्छा है। शफतालू में विटामिन ए अच्छी मात्रा में होता है। यह आंखों के लिए बहुत अच्छा है। शफतालू में पपीते समान विटामिन ई होता है। विटामिन ई आंखों के लिए, स्वस्थ त्वचा, स्वस्थ बाल और स्वस्थ नाखूनों के लिए अच्छा होता है। 

आड़ू, शफतालू, आम, अनानास ये सभी वे फल हैं जो पपीते के बराबर गुणों से भरपूर हैं। इन फलों का सेवन करने से पीपते जैसे ही गुण मिलते हैं। इन फलों में विटामिन के, विटामिन ई और विटामिन के पाया जाता है। यह सभी गुण बाल, आंख, दिल और नाखूनों के लिए अच्छे होते हैं। अगर आपको पपीता नहीं मिल रहा है तो इन फलों को खरीद सकते हैं। यह फल भी पपीते के जितने ही फायदा पहुंचाते हैं। साथ ही यह सभी मौसमी फल हैं। जो इस मौसम में आराम से मिल जाएंगे।

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

 

Disclaimer