अधिक पपीता का सेवन स्किन को पहुंचा सकता है नुकसान, जानें पपीता खाने के अन्य 6 दुष्परिणाम

पपीता स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है। लेकिन जरूरत से ज्यादा पपीता का सेवन आपके लिए नुकसानदेय साबित हो सकता है।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Mar 17, 2021
अधिक पपीता का सेवन स्किन को पहुंचा सकता है नुकसान, जानें पपीता खाने के अन्य 6 दुष्परिणाम

पपीता के गुणों से आप अच्छी तरह वाकिफ होंगे। वेट लॉस करने से लेकर स्किन केयर रुटीन फॉलो करने वाले लोग पपीता का सेवन करते हैं। पपीते में मौजूद पोषक तत्व वजन को कम करने के साथ-साथ पाचन को दुरुस्त करने में लाभकारी मानें जाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जरूरत से ज्यादा पपीता का सेवन करना भी नुकसानदेय हो सकता है? जी हां, किसी भी चीज का जरूरत से ज्यादा सेवन करना सेहत के लिए हमेशा नुकसानदेय ही रहा है। पपीता भी ऐसी ही चीजों में शामिल है। यह कई पोषक तत्वों से भरपूर है, लेकिन अगर आप अति से ज्यादा इसका सेवन करते हैं, तो यह फायदा पहुंचाने के बजाय आपको नुकसान पहुंचाने लगता है। इसलिए हमेशा सीमित मात्रा में ही पपीता का सेवन करें। चलिए जानते हैं कि जरूरत से ज्यादा पपीता का सेवन करने (Papaya Side Effects) से सेहत को क्या नुकसान होते हैं।

1. स्किन के लिए है हानिकारक (Skin Allergy)

पपीता स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। इसमें पपैन नामक एंजाइम मौजूद होता है, जिसका अधिकतर इस्तेमाल स्किन केयर क्रीम को बनाने के लिए किया जाता है। लेकिन यह एंजाइम सभी टाइप के स्किन के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। ऐसे में अगर किसी को इस एंजाइम से एलर्जी है, तो उनके स्किन पर रैशेज और जलन की शिकायत हो सकती है। इसलिए पपीता का सेवन सीमित मात्रा में ही करना आपके स्किन के लिए बेहतर होता है।

इसे भी पढ़ें - क्या शिशुओं को स्तनपान कराने वाली महिलाओं को खाना चाहिए पपीता? जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

2. बढ़ा सकती है रेस्पिरेटरी एलर्जी

पपीता में मौजूद पपैन नामक एंजाइम एक शक्तिशाली एलर्जीन है। अगर आपको किसी तरह की श्वास संबंधी समस्या है। उदाहरण के लिए अस्थमा, एलर्जी तो इसका सेवन सावधानी पूर्वक करें। अगर आप काफी ज्यादा पपीता खाते हैं, तो आपकी परेशानी बढ़ सकती है। अधिक पपीता खाने से अस्थमा, घबराहट और सांस लेने में परेशानी जैसी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

3. हार्ट बीट कर सकता है धीमा

दिल से जुड़ी बीमारियों से ग्रसित लोगों को पपीते के अधिक सेवन से बचना चाहिए। अधिक पपीते के सेवन से आपके दिल की धड़कनों की दर अनिश्चित रूप से कम होती है। इसके साथ ही यह दिल से जुड़ी परेशानियों को बढ़ा सकती हैं। ऐसे में अगर आपको हृदय से जुड़ी कोई परेशानी हैं, तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

4. बढ़ सकती है पेट की समस्या

अति से ज्यादा पपीते का सेवन करने से हमारा गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम प्रभावित होता है। इसके कारण पेट में गैस, जलन जैसी समस्या बढ़ सकती हैं। दरअसल, पपीते में फाइबर की अधिकता होती है। अधिक फाइबर का सेवन पाचन को प्रभावित करता है। जिसके कारण कब्ज, एसिडिटी और दस्त की शिकायतें हो सकती है।

5. गर्भवती महिलाओं के लिए नुकसानदेय

इस बात से शायद आप अच्छे से वाकिफ होंगे कि गर्भवती महिलाओं को पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि पपीता का सेवन करने से गर्भवती के भ्रूण को नुकसान पहुंच सकता है। दरअसल, पपीते में लेटेक्स की अधिकता होती है, जिसके कारण गर्भाशय सिकुड़ने की संभावना होती है। इसके अलावा इसमें मौूद पपैन भ्रूण के विकास की झिल्ली को नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में गर्भवती महिलाओं को पपीता का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें - गर्मियों में मट्ठा का सेवन है लाभकारी, लेकिन इन 7 स्थितियों में कभी खाली पेट न पिएं मट्ठा वर्ना होगा नुकसान

6. लो ब्लड शुगर (Low Blood Sugar)

हाई ब्लड शुगर रोगियों के लिए पपीता का सेवन फायदेमंद हो सकता है। लेकिन लो ब्लड शुगर रोगियों के लिए पपीता का अधिक सेवन नुकसानदेय माना जाता है। वहीं, अगर आप ब्लड शुगर की दवा ले रहे हैं, तो डॉक्टर से पूछ कर ही पपीता का सेवन करें।

 

ध्यान रहे कि पपीता आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। इसलिए इसका सेवन करें। लेकिन सीमित मात्रा में। वहीं, अगर आपको पपीता खाने के बाद किसी तरह परेशानी महसूस हो, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

 

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

 

 
Disclaimer