Doctor Verified

सीने में गैस के कारण उठ सकता है तेज दर्द, जानें इसे पहचानने के 7 लक्षण, कारण और इलाज

पेट और छाती में गैस या एसिडिटी  (Gas in Hindi) बनना आम हो गया है। जानें छाती में गैस के लक्षण और इलाज

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Feb 15, 2022Updated at: Feb 15, 2022
सीने में गैस के कारण उठ सकता है तेज दर्द, जानें इसे पहचानने के 7 लक्षण, कारण और इलाज

Gas in Hindi: आजकल की अनहेल्दी इटिंग हैबिट्स और इनएक्टिव लाइफस्टाइल की वजह से पेट और छाती में गैस बनना आम हो गया है। गैस की वजह से पेट और सीने में कई बार दर्द का अहसास होता है। आज हम बात कर रहे हैं सीने में गैस के लक्षणों (gas in chest) की। दरअसल, जब शरीर से गैस बाहर नहीं निकल पाता है, तो पेट या शरीर के दूसरे हिस्सों में दर्द होने लगता है। यह दर्द सीने में भी पहुंच जाता है, इससे छाती में दर्द का अहसास होता है। जकड़न और बैचेनी महसूस होती है। इतना ही नहीं सीने में गैस की वजह से जलन भी होती है। मसीना हॉस्पिटल, मुंबई के जनरल मेडिसिन और गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट डॉक्टर तहसीन पेटीवाला (Dr. Tehsin Petiwala General Medicine and Gastroenterologist, Masina Hospital, Mumbai) से जानें सीने में गैस के लक्षण और इलाज-

सीने में गैस के लक्षण (gas in chest symptoms)

अगर आपको भी सीने में दर्द होता है, तो इसका मतलब सिर्फ यह नहीं कि आपको हृदय से जुड़ी कोई समस्या हो रही है। कई बार गैस की वजह से भी छाती में दर्द होने लगता है। जानें छाती में गैस के लक्षण (gas in chest)-   

1. भूख कम लगना

छाती में गैस (gas in hindi) बनने पर दर्द तो महसूस होता ही है, इसके साथ ही भूख कम लगने का अहसास भी हो सकता है। गैस बनने की वजह से कुछ भी खाने का मन नहीं करता है, इससे भूख में कमी आने लगती है।

gas in chest

(image source: medicalnewstoday.com)

2. खट्टी डकार

बार-बार खट्टी डकार आना भी गैस का एक लक्षण होता है। छाती में गैस (gas in chest) बनने पर अक्सर लोगों को खट्टी डकार से परेशान होना पड़ता है। यानी छाती में गैस (gas in chest in hindi) बनने पर खट्टी डकार भी आ सकती है। 

3. सूजन महसूस होना

जब हमारे शरीर में गैस बनती है, तो हमें सूजन महसूस हो सकती है। ऐसे में सूजन के लक्षण को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें - गैस और एसिडिटी दूर करने में फायदेमंद है एलोवेरा और आंवला जूस, जानें कैसे करें सेवन

4. मितली और उल्टी

कई बार सीने में गैस (gas in chest in hindi) बनने की वजह से लोगों को मितली और उल्टी जैसा भी महसूस होता है। गैस बनने की वजह से जी मचलाने लगता है। इस दौरान बैचेनी भी महसूस होने लगती है।

5. चक्कर आना

कुछ लोगों को गैस बनने पर कमजोरी, चक्कर जैसा भी महसूस हो सकता है। लेकिन डिहाइड्रेशन और बीपी लो होने पर भी चक्कर आ सकते हैं।

6. सीने में दर्द (gas pain in chest)

शरीर के जिस हिस्से में भी गैस बनती है, उस जगह पर दर्द होना आम होता है। जब छाती पर गैस (gas pain in chest) बनती है, तो सीने में भी दर्द का अहसास होने लगता है। खाने के बाद सीने में दर्द होना गैस का लक्षण होता है।

इसे भी पढ़ें - आलू खाने से बढ़ती है गैस और अपच की समस्या? जानें इससे बचने के लिए कैसे खाएं आलू

gas in hindi

7. सांस लेने में परेशानी

सांस लेने में परेशानी होना कई गंभीर बीमारियों का संकेत होता है। लेकिन सिर्फ गैस की वजह से भी लोगों को सांस लेने में परेशानी हो सकती है। जब शरीर में गैस ज्यादा फैल जाती है, तो इससे दर्द बढ़ जाता है और सांस लेने में दिक्कत आने लगती है।

सीने में गैस के कारण (gas in chest causes)

छाती में गैस पेट से संबंधित स्थितियों जैसे रिफ्लक्स रोग, हाइपरएसिडिटी, गैस्ट्रिटिस या अंतर्निहित पेप्टिक अल्सर रोग के कारण हो सकती है। इतना ही नहीं यह तनाव, गतिहीन जीवन शैली, मोटापा और अनिद्रा भी छाती में गैस का कारण बनता है।

सीने में गैस का इलाज (gas in chest treatment)

सीने में दर्द होने या सांस लेने में दिक्कत होने पर आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। साथ ही उल्टी या चक्कर आने जैसे सामान्य लक्षणों को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। गैस का इलाज कराने के लिए आपको गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए। गैस से बचने के उपाय-

  • 1.बाहर के खाने से बचें।
  • 2.मसालेदार और तैलीय भोजन से बचें।
  • 3.समय पर खाना खाएं। खाना अच्छी तरह से चबाकर खाएं।
  • 4.समय पर सोएं और उठें। एक दिन में 7-8 घंटे की नींद जरूर लें।
  • 5.भोजन के 45 मिनट बाद पानी पिएं।
  • 6.खाना खाने के बाद वॉक जरूर करें।
  • 7.नियमित व्यायाम, योगा और जॉगिंग करें।

अगर आपको भी सीने में दर्द होता है, तो इस लक्षण तो नजरअंदाज न करें। क्योंकि सीने में बना गैस कई बार गंभीर भी हो सकता है।

(main image source: healthychildren.org)

Disclaimer