गठिया (गाउट) के मरीज क्या खाएं और क्या नहीं? एक्सपर्ट से जानें पूरे दिन का डाइट प्लान

गाउट होने पर क्या खाएं और क्या नहीं, इसके बारे में पता होना जरूरी है। एक्सपर्ट से जानते हैं गाउट से संबंधित पूरी डाइट के बारे में

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Sep 03, 2021
गठिया (गाउट) के मरीज क्या खाएं और क्या नहीं? एक्सपर्ट से जानें पूरे दिन का डाइट प्लान

जैसे-जैसे लोगों की उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे शरीर कई समस्याओं का घर बनना शुरू हो जाता है। कुछ समस्याएं तो दूर हो जाती हैं पर कुछ के कारण व्यक्ति को रोजमर्रा के कार्यों में दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। ऐसी ही एक समस्या है जोड़ों में दर्द की। जब व्यक्ति गाउट नाम की बीमारी का शिकार हो जाता है तो उसके जोड़ों में दर्द, सूजन, तनाव, ऐंठन आदि समस्याएं होने लगती हैं।ऐसे में गाउट की समस्या को दूर करने के लिए जरूरी पोषक तत्व को अपनी डाइट में जोड़ना जरूरी है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि गाउट की समस्या होने पर व्यक्ति किन चीजों का सेवन कर सकता है और किन चीजों के सेवन से व्यक्ति को बचाना चाहिए। इसके लिए हमने न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( Nutritionist and wellness expert varun katyal) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

गाउट होने पर इस्तेमाल करें यह डाइट चार्ट

1 - व्यक्ति अपनी सुबह की शुरुआत मौसमी फल जैसे- केला, सेब, अनार आदि से कर सकता है। इसके अलावा वे पोहा, उपमा, दलिया, ओट्स आदि इनमें से किसी एक चीज को अपने नाश्ते में जोड़ सकता है। 

2 - लंच की बात की जाए तो व्यक्ति हरी पत्तेदार सब्जी, एक कटोरी दाल और सलाद के साथ दो चपाती‌ को जोड़ सकता है।

3 - शाम के स्नैक्स की बात की जाए तो एक कटोरी सूप या सलाद का सेवन गाउट की समस्या के लिए बेहद उपयोगी है।

4 - डिनर में व्यक्ति एक कटोरी हरी सब्जी के साथ साथ मूंग की दाल और दो चपाती को अपनी डाइट में जोड़ सकता है। रात का खाना जितना हल्का हो उतना बेहतर होता है। ऐसे में व्यक्ति इस भोजन को 7:00 से 8:00 के बीच में कर सकता है।

 इसे भी पढ़ें- ज्यादा खाना खाने से मोटे हो जाएंगे आप? एक्सपर्ट से जानें खाने से जुड़े ऐसे 7 मिथकों का सच

नोट - ऊपर बताई गई डाइट हर व्यक्ति फॉलो नहीं कर सकता। हर व्यक्ति के शरीर की बनावट अलग होती है। ऐसे में व्यक्ति एक बार इस डाइट को जोड़ने से पहले एक्सपर्ट की राय जरूर लें।

गाउट की समस्या के दौरान किन चीजों का सेवन करें?

गाउट की समस्या होने पर व्यक्ति अपनी डाइट में दलिया, खिचड़ी, लौकी, परवल, करेला, बथुआ, पपीता, खीरा, टमाटर, गाजर, सेब, अनार, अंगूर, मूंग की दाल, अरहर की दाल, हरी पत्तेदार सब्जियां, हल्दी, लौंग, काली मिर्च, ग्रीन टी, मक्खन, जौं, गेहूं आदि को जोड़ सकता है।

गाउट की समस्या के दौरान किन चीजों का सेवन ना करें?

जिस व्यक्ति को गाउट की समस्या हो जाए तो वे अपनी डाइट से चावल, मैदा, कुलथी की दाल, काबुली चने की दाल, राजमा, मूली, नींबू, मटर, लाल मिर्च, दही, खजूर, चीनी, नमक, चॉकलेट, फूलगोभी आदि को अपनी डाइट से निकाल सकता है।

 इसे भी पढ़ें- नारियल पानी जितने फायदे मिलेंगे इन 5 ड्रिंक्स को पीने से, न्यूट्रिशनिस्ट से जानें

गाउट की समस्या होने पर किन बातों का रखें ध्यान

जब व्यक्ति गाउट की समस्या का शिकार हो जाए तो उस दौरान उसे इन बातों का ध्यान रखना जरूरी है-

1 - सुबह उठकर खाली पेट एक या दो गिलास गुनगुना पानी पीना चाहिए।

2 - प्रभावित स्थान की मालिश करनी चाहिए।

3 - अपनी दिनचर्या में ध्यान और योग को जोड़ना चाहिए।

4 - अपनी डाइट से कैफीन को निकालना।

5 - भरपूर आराम करना।

6 - दिन में तीन से चार बार भोजन करना।

7 - भोजन करने के बाद टहलना।

8 - हफ्ते में एक बार लिक्विड डाइट फॉलो करना।

9 - रात को समय पर सोना।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि गाउट की समस्या होने पर व्यक्ति अपनी डाइट में कुछ बदलाव करके समस्या को दूर कर सकता है। ऐसे में कुछ समस्याओं का सेवन करने से यह समस्या बढ़ सकती है। ऐसे में उन चीजों को अपनी डाइट से निकालें जो चीज गाउट की समस्या को बढ़ा सकती है। इसमें ऊपर बताई गई चीजें आपके बेहद काम आ सकती हैं। अपनी डाइट में किसी भी प्रकार का बदलाव करने से पहले एक बार एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। यदि आप किसी गंभीर बीमारी में ग्रस्त हैं तब भी ऊपर बताए गई चीजों को जोड़ने से पहले एक्सपर्ट की राय जरूर लें।

इस लेख में इस्तेमाल की जानें वाली फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Read More Articles on healthy diet in hindi

Disclaimer