नारियल के छिलके (जूट) को फेंकने के बजाय इन 5 तरीकों से करें इस्‍तेमाल, स्‍क‍िन और बॉडी को म‍िलेंगे कई फायदे

नार‍ियल के छ‍िलके को हम अक्‍सर फेंक देते हैं पर क्‍या आपको पता है क‍ि इसका इस्‍तेमाल कई समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए क‍िया जाता है, जानते हैं कैसे 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Oct 11, 2021
नारियल के छिलके (जूट) को फेंकने के बजाय इन 5 तरीकों से करें इस्‍तेमाल, स्‍क‍िन और बॉडी को म‍िलेंगे कई फायदे

क्‍या आप भी नार‍ियल का गूदा न‍िकालकर छ‍िलके को फेंक देते हैं, अगर हां तो आपको इसे फेंकने के बजाय नार‍ियल के छिलके (Coconut husk) के फायदों के बारे में जान लेना चाह‍िए। ये छ‍िलका बेहद उपयोगी होता है। आप नार‍ियल के छ‍िलके के इस्‍तेमाल से स्‍क‍िन और शरीर से जुड़ी कई समस्‍याओं को दूर कर सकते हैं। नार‍ियल के छ‍िलके को जलाकर उसका पाउडर तैयार कर इसे कई तरह से इस्‍तेमाल क‍िया जा सकता है। इस लेख में हम नार‍ियल के छ‍िलके को इस्तेमाल करने के तरीके और फायदों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

coconut husk

(image source:netdna)

1. नार‍ियल के छ‍िलके से दूर करे सूजन (Swelling)

सूजन दूर करने के उपाय ढूंढ रहे हैं तो नार‍ियल के छ‍िलके का इस्‍तेमाल करें। सूजन आने पर हम अक्‍सर नार‍ियल का तेल इस्‍तेमाल करते हैं पर नार‍ियल का छिलका भी सूजन उतारने में मदद करता है। सूजन की समस्‍या दूर करने के लिए आप नार‍ियल के छ‍िलके का पाउडर बना लें और उसमें हल्‍दी म‍िलाएं, फ‍िर इस लेप को सूजन वाली जगह लगा दें तो सूजन कम हो जाएगी। आप क‍िसी पत्‍ते की मदद से लेप लगाकर प्रभाव‍ित जगह को बांध भी सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- मुहांसों का आयुर्वेदिक इलाज: चेहरे के कील-मुहांसों को ठीक करती हैं ये 3 जड़ी-बूटियां, जानें प्रयोग का तरीका

2. पीले दांतों से परेशान हैं तो इस्‍तेमाल करें नार‍ियल का छ‍िलका (Yellow teeth)

दांत को फ‍िर से पीला से सफेद करना है तो आप नार‍ियल के छ‍िलके (Coconut husk) का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। नार‍ियल की जटाओं को जला दें फ‍िर उसका पाउडर बना लें। इसमें आप सोडा म‍िलाएं और रोजाना दांत की सफाई करें। इससे दांत भी साफ होंगे और दांतों का पीलापन भी म‍िटने लगेगा। इस पेस्‍ट को दांत पर लगाते समय आपको एक बात का खास खयाल रखना है क‍ि हल्‍के हाथ से ही ब्रश करें दांत या मसूड़े को रगड़े नहीं।

3. बालों को नैचुरल तरह से डाई करे नार‍ियल का छ‍िलका (Natural dye for hair)

coconut husk benefits

(image source:companyconve)

बालों को रंगने के तरीके ढूंढ रहे हैं तो आपको बता दें क‍ि नार‍ियल के छ‍िलके से भी नैचुरल डाई तैयार हो सकती है। आपको बाल कलर करने के ल‍िए बाजार से महंगे प्रोडक्‍ट इस्‍तेमाल करने की जरूरत नहीं है आप घर पर ही नैचुरल तरीके से बालों को नैचुरल रंग दे सकते हैं। इसके ल‍िए आपको नारियल के छ‍िलके को कढ़ाई में लेकर गरम करना है। जब छ‍िलका अच्‍छी तरह से जल जाए तो उसका पाउडर बना लें। उस पाउडर में नार‍ियल तेल म‍िला दें और उसे बालों पर लगाएं और एक घंटे बाद स‍िर धो लें। 

4. बवासीर की समस्‍या दूर करे नार‍ियल का छ‍िलका (Piles)

बवासीर की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए भी नार‍ियल के छ‍िलके का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। नार‍ियल के छ‍िलके (Coconut husk) को जलाकर आप उसका पाउडर बना लें और उसे खाली पेट पानी के साथ सेवन करें तो बवासीर की समस्‍या से न‍िजात म‍िलेगा। नार‍ियल के छ‍िलके में फाइबर मौजूद होता है इससे शरीर की कई समस्‍याएं दूर होती हैं।

इसे भी पढ़ें- जोड़ों का दर्द दूर करने के लिए बनाएं लौंग का लेप, जानें प्रयोग का तरीका

5. पीर‍ियड्स के दौरान दर्द से राहत द‍िलाए नार‍ियल का छ‍िलका (Pain during periods)

coconut husk method

(image source:amazon)

ज‍िन मह‍िलाओं को पीर‍ियड्स के दौरान तेज दर्द होने की समस्‍या होती है वो भी नार‍ियल के छ‍िलके का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। आपको नार‍ियल के छ‍िलके को आंच पर रखकर इसकी भस्‍म तैयार करनी है। जो भस्‍म तैयार होगी उसे एक ग‍िलास पानी के साथ प‍िएं तो दर्द की समस्‍या दूर हो जाएगी।

नार‍ियल के छ‍िलके का प्रयोग आयुर्वेद‍ में और भी कई तरीकों से क‍िया जाता है, अगर आपको इन तरीकों को आजमाते समय स्‍क‍िन में एलर्जी या कोई शारीर‍िक समस्‍या नजर आती है तो आप इसका इस्‍तेमाल रोक दें और डॉक्‍टर की सलाह पर ही नार‍ियल के छ‍िलके का प्रयोग करें।

(main image source:amazon)

Read more on Ayurveda in Hindi 

Disclaimer