पुरुषों को रात में सोते समय ज्यादा पसीना आने के हो सकते हैं ये 5 कारण, जानें बचाव के उपाय

रात में अगर आपको सोने के दौरान अधिक पसीना आता है, तो इसके कई कारण हो सकते हैं, जिसे आपको इग्नोर नहीं करना चाहिए। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Apr 18, 2022Updated at: Apr 18, 2022
पुरुषों को रात में सोते समय ज्यादा पसीना आने के हो सकते हैं ये 5 कारण, जानें बचाव के उपाय

कई बार आपने देखा होगा कि कई पुरुषों को रात में सोते समय बहुत अधिक पसीना आता है। पसीने के कारण वह ठीक से सो नहीं पाते हैं और सुबह होने पर वह फ्रेश महसूस नहीं करते हैं। साथ ही पूरे दिन उनका काम भी प्रभावित होता है। साथ ही इससे उनके स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है क्योंकि रात में अच्छे से नहीं सोने पर धीरे-धीरे आप स्ट्रेस और चिंता से घिरा हुआ महसूस करते हैं। वैसे पुरुषों को रात में सोते समय पसीना आने के कई कारण हो सकते हैं इसलिए आपको इन कारणों को समझते हुए उनके समाधान पर ध्यान देना चाहिए। आइए विस्तार से इसके बारे में समझते हैं। 

पुरुषों को रात में पसीना आने के कारण

1. चिंता या तनाव के कारण

यदि आप अपने जीवन में चिंता या तनाव से जूझ रहे हैं, रात को सोते समय आपको बहुत अधिक पसीना आ सकता है। यदि आप दिनभर या काम के दौरान अधिक स्ट्रेस ले रहे हैं या किसी बात को लेकर परेशान है, तो इस कारण भी आपको रात में अधिक पसीना आ सकता है। पसीना आने के साथ आप कई और भी लक्षणों का अनुभव कर सकते हैं। जैसे लगातार चिंता, भय और तनाव का अनुभव करना। इसके अलावा सोने में कठिनाई, कमजोर इम्यून सिस्टम, थकान और शरीर में दर्द भी आम लक्षण है, जिससे ये समझा जा सकता है कि आप दैनिक जीवन में बहुत अधिक स्ट्रेस का अनुभव कर रहे हैं। 

Night-sweat-men

Image Credit- Freepik

2. गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स (जीईआरडी)की समस्या

रात में पसीने जीईआरडी के कारण भी आ सकता है। इस दौरान आपके पेट में एसिड एसोफैगस में बढ़ सकता है और जलन का कारण बन सकता है जिसे आप दिल की धड़कन भी तेज हो सकती है। इससे आपके पेट में जलन, सीने में दर्द, सांस संबंधी समस्याएं, पसीना आना और नींद न आने की परेशानी हो सकती है। 

3. हाइपरहाइड्रोसिस

हाइपरहाइड्रोसिस आम स्थिति है जिसमें किसी व्यक्ति को बहुत ज्यादा पसीना आता है, और उसके शरीर को तापमान को नियमित करने के लिए जरूरत से ज्यादा पसीना बहता है। अत्यधिक पसीना आना आमतौर पर किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए कोई गंभीर खतरा नहीं है लेकिन यह संकोच की स्थिति और परेशानी बढ़ाने वाला हो सकता है। इसे हाइपरहाइड्रोसिस डिसऑर्डर कहा जाता है। इडियोपैथिक हाइपरहाइड्रोसिस में लोगों को अत्यधिक पसीना आता है, जिसके कारणों के बारे में ठीक से पता नहीं होता है। इस दौरान रात को आपके कपड़े भीग जाते हैं। इसके अलावा अपने पैरों, हथेलियों, चेहरे या अंडरआर्म्स पर पसीना और नींद भी प्रभावित होती है। यह समस्या अधिक होने पर आपको डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें-  ज्यादा पसीना के कारण चेहरे पर हो सकती हैं ये 9 समस्याएं, जानें इनसे छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

4. दवाओं के कारण 

कुछ दवाओं के सेवन से भी आपको अधिक पसीना आ सकता है। अलग-अलग दवाओं के साइड इफेक्ट्स के कारण भी आपको रात में सोने के दौरान परेशानी हो सकती है। जैसे अगर आप ट्राइसाइक्लिक एंटीडिप्रेसेंट्स, कोर्टिसोन, प्रेडनिसोन, एसिटामिनोफेन, एस्पिरिन या अन्य दर्द निवारक दवाएं लेते हैं, तो आपको परेशानी हो सकती है। इसके अलावा हार्मोन थेरेपी दवाएं, डायबिटीज संबंधित दवाएं और डिप्रेशन से संबंधित दवाएं लेने के कारण भी आपको रात में सोते समय पसीना आ सकता है।  

Night-sweat-men

Image Credit- Freepik

5. टेस्टोस्टेरोन के स्तर में कमी

यदि आपका टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम है, तो आपको रात को पसीना आ सकता है। जैसे-जैसे आप बड़े होते जाते हैं आपका शरीर स्वाभाविक रूप से कम टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन करता है लेकिन चोट, दवाओं के सेवन, स्वास्थ्य की स्थिति और मादक पदार्थों के सेवन के कारण भी टेस्टोस्टेरोन की मात्रा में कमी आ सकती है। इसके लक्षणों में मांसपेशी में कमज़ोरी, थकान, हड्डियों में कमजोरी, चीजों को याद रखने में परेशानी, मूड खराब होना और चिड़चिड़पना आदि इसके लक्षण होते हैं। इससे निपटने के लिए आप टेस्टोस्टेरोन रिप्लेसमेंट थेरेपी की मदद ले सकते हैं। 

डॉक्टर को कब दिखाएं

रात को सोते समय अधिक पसीना आना काफी आम होता है। इससे आपके शरीर को वैसे तो कोई हानि नहीं होती है। बस आपको इस दौरान बहुत अधिक पानी पीने की जररूत होती है और तैलीय भोजन का सेवन न करने की जरूरत होती है। सोने से पहले किसी तरह के गर्म पदार्थों का सेवन न करें लेकिन अगर इस तरह के परिवर्तन के बाद भी रात को सोने में आपको परेशानी हो रही है, तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करना चाहिए क्योंकि इससे आपका स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। ये लक्षण दिखने पर आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, जैसे रात में एक से अधिक बार पसीना आना, बुखार आना, वजन कम होना, थकान महसूस करना और नींद में कमी के लक्षण दिखने पर आप सही उपचार ले सकते हैं। इसके अलावा आपको किसी भी तरह के मादक पदार्थों और पैकेटबंद चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे भी परेशानी बढ़ सकती है।

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer