शरीर में कैफीन का ओवरडोज होने पर दिखते हैं ये 8 लक्षण, जानें इसके नुकसान और बचने के तरीके

कैफीन का ओवरडोज सेहत को कैसे नुकसान पहुंचा सकता है और इसके अलावा क्या-क्या लक्षण देखने को मिलते हैं। इसके बारे में में पता होना जरूरी है।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jul 02, 2021Updated at: Jul 02, 2021
शरीर में कैफीन का ओवरडोज होने पर दिखते हैं ये 8 लक्षण, जानें इसके नुकसान और बचने के तरीके

कोरोनावायरस के कारण लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं। लेकिन ऐसे समय में भी लंबे समय तक एक जगह पर बैठे रहने के कारण थकान और सुस्ती महसूस करते हैं, जिसे दूर करने के लिए वे समय-समय पर कॉफी का सेवन करते हैं। लेकिन उन्हें खुद ही पता नहीं चलता कि वे दिन वे में कितने कप कॉफी पी रहे हैं। ऐसे में उनके शरीर में कैफीन का ओवरडोज हो जाता है, जिसके कारण उनकी सेहत प्रभावित होती है। ऐसा नहीं है कि केवल कैप कॉफी में कैफीन पाया जाता है। कॉफी के अलावा कई ऐसे एनर्जी ड्रिंक, सॉफ्ट ड्रिंक्स, पेय पदार्थ मौजूद होते हैं, जिनमें कैफीन पाया जाता है। ऐसे में कैफीन का ओवरडोज सेहत को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि कैफीन के ओवरडोज होने पर क्या-क्या नुकसान होते हैं। साथ ही कैफीन के ओवरडोज के लक्षण और बचाव भी जानेंगे। इसके लिए हमने न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( wellness expert and nutritionist varun katyal) से भी बात की है।  पढ़ते हैं आगे...

किन चीजों में पाया जाता है कैफीन

बता दें कि कैफीन ब्लैक कॉफी के अलावा सोडा, चॉकलेट बार, एनर्जी बूस्ट करने वाले पेय पदार्थ, कैंडी, कुछ दवाएं, ब्लैक टी, रेड बुल आदि में पाया जाता है।

कैफ़ीन की ओवरडोज के लक्षण

जब शरीर में कैफीन की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो व्यक्ति को सिर में दर्द महसूस होता है। इसके अलावा उसे बुखार, चक्कर आने शुरू हो जाते हैं। वहीं कुछ न्यूरोलॉजिकल समस्या जैसे चिड़चिड़ाहट, उलझन आदि भी नजर आते हैं। इसके अलावा व्यक्ति के विचार भी नकारात्मक बनने शुरू हो सकते हैं। अगर व्यक्ति को बार-बार प्यास लगे या उसे अनिद्रा की समस्या हो जाए तो यह भी कैफीन के ओवरडोज के लक्षण हो सकते हैं। इसके अलावा जब लक्षण गंभीर हो जाते हैं तो व्यक्ति को सीने में दर्द महसूस होता है, उल्टी आनी शुरू हो जाती है, सांस लेने में दिक्कत महसूस होती है, दिल की धड़कन बढ़ जाती है। ऐसी स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी होता है

इसे भी पढ़ें- कैफीन के सेवन से जितने फायदे उतने नुकसान, जानें एक्सपर्ट से इनके बारे में

शिशु में कैफीन का ओवरडोज

आप सोच रहे होंगे कि जब शिशु कैफीन मैं किसी पर पदार्थ का सेवन सीमित मात्रा में करते हैं तो उन्हें कैसे कैफीन का ओवरडोज हो सकता है। बता दें कि अगर ब्रेस्ट मिल्क में कैफीन अधिक मात्रा में मौजूद हो तो शिशु में भी इसके लक्षण दिखाई दे सकते हैं। ऐसे में शिशु जी मिचलाना, मांसपेशियों का तनाव ग्रस्त हो जाना, उल्टी आदि लक्षणों का सामना करता है। 

कैफीन के ओवरडोज के नुकसान

जब शरीर में कैफीन की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो निम्न नुकसान हो सकते हैं

1 - हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाना

2 - ग्लूकोमा की समस्या हो जाए

3 - डायबिटीज की समस्या हो जाना

4 - ओस्टियोपोरोसिस की समस्या

5 - डायरिया की समस्या

6 - ब्लीडिंग डिसऑर्डर्स हो जाना

7 - बाइपोलर डिसऑर्डर में जाना

8 - पार्किसन डिसऑर्डर हो जाना

इसे भी पढ़ें- क्या हार्ट के लिए नुकसानदायक है चाय और कॉफी? डॉक्टर से जानें कैफीन के नुकसान

कैफीन के ओवरडोज से बचने के उपाय

  • यदि आप दिन में चार से पांच कप कैफीन ले रहे हैं तो तो इसकी मात्रा को सीमित करने के लिए केवल यह निश्चित करें कि आपको दिन में एक या दो कप कैफीन लेनी है। इसके अलावा सोडा या पेय पदार्थों के सेवन की मात्रा को भी सीमित करें।
  • कॉफी पीने का मन हो तो आप इसकी जगह हर्बल ड्रिंक का भी सेवन कर सकते हैं।
  • इसके अलावा जो व्यक्ति कैफीन का ओवरडोज कम नहीं कर पाता तो फिर डॉक्टर की मदद से इस समस्या को दूर किया जाता है। डॉक्टर कुछ ऐसी दवाई लिख कर देते हैं जो कैफीन के ओवरडोज को कम करने में उपयोगी हैं।

नोोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि जब शरीर में कैफीन की मात्रा ज्यादा हो जाती है यानी कैफीन ओवरडोज हो जाता है। तो शरीर में  सेहत को ज्यादा नुकसान हो सकता है। ऐसे में सीमित मात्रा का पता होना जरूरी है।

इस लेख में इस्तेमाल की जानें वाली फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Read More Articles on skin care in hindi

Disclaimer