इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या दूर करेंगी ये 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां, जानें सेवन का तरीका

Ayurvedic Herbs For Erectile Dsyfunction: इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या में कई आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां कारगर साबित सकती हैं। जानें इनके बारे में -

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Mar 10, 2023 16:16 IST
इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या दूर करेंगी ये 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां, जानें सेवन का तरीका

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

Ayurvedic Herbs For Erectile Dsyfunction In Hindi: इरेक्टाइल डिस्फंक्शन यानी स्तंभन दोष पुरुषों के यौन स्वास्थ्य से जुड़ी एक गंभीर समस्या है। यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें पुरुषों को शारीरिक संबंध बनाते समय इरेक्शन प्राप्त करने में या उसे बनाए रखने में दिक्कत होती है। वैसे तो ज्यादातर पुरुषों में यह समस्या 40 साल की उम्र के बाद होती है। लेकिन गलत खानपान, खराब जीवनशैली और बढ़ते तनाव के कारण आजकल कम उम्र के लोग भी इस समस्या का शिकार हो रहे हैं। ज्यादतार लोग इस समस्या के बारे में बात करना पसंद नहीं करते हैं या बात करने में शर्माते हैं। लेकिन अगर इस समस्या का सही समय पर इलाज न किया जाए, तो व्यक्ति का पूरा वैवाहिक जीवन बर्बाद हो सकता है। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का इलाज करने के लिए कुछ आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां बेहद कारगर मानी जाती हैं। आज इस लेख में हम आयुर्वेदिक डॉक्टर रितु चड्ढा से इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के आयुर्वेदिक इलाज के बारे में विस्तार से जानेंगे। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन में फायदेमंद आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां इस प्रकार हैं -

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन को दूर करेंगी ये आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां - Ayurvedic Herbs For Erectile Dsyfunction In Hindi

शिलाजीत

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन और सेक्सुअल हेल्थ से जुड़ी अन्य समस्याओं में शिलाजीत का प्रयोग सदियों से किया जा रहा है। शिलाजीत के सेवन से प्राइवेट पार्ट में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और यौन दुर्बलता कम होती है। साथ ही, यह टेस्टोस्टेरॉन लेवल और स्पर्म काउंट बढ़ाने में भी काफी प्रभावी जड़ी-बूटी है। आप रोजाना सोने से पहले एक चम्मच शिलाजीत पाउडर को दूध में मिलाकर पिएं। 

अश्वगंधा

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या से परेशान पुरुषों के लिए अश्वगंधा का सेवन बहुत फायदेमंद है। इसके सेवन से रक्त वाहिकाएं चौड़ी होती हैं, जिससे पेनिस में ब्लड सर्कुलेशन सही तरीके से हो पाता है। अश्वगंधा में एफ्रोडिसिएक गुण होते हैं, जो यौन उत्तेजना को बढ़ाने में मदद करते हैं। अश्वगंधा के सेवन से मानसिक तनाव, थकान और कमजोरी भी दूर होती है। इसके लिए आप रोजाना रात में अश्वगंधा चूर्ण का सेवन गर्म दूध या पानी के साथ कर सकते हैं। 

Herbs-For-Erectile-Dysfuntion

तुलसी के बीज

तुलसी के बीज यानी सब्जा सीड्स औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। आयुर्वेद में तुलसी के बीज का इस्तेमाल कई समस्याओं के इलाज में किया जाता है। ये बीज पुरुषों में इनफर्टिलिटी की समस्या को दूर करने में मदद करते हैं। नियमित रूप से तुलसी के बीजों का सेवन करने से पेनिस में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या दूर होती है। इसके सेवन के लिए रात को सोने से पहले एक गिलास पानी में एक चम्मच तुलसी के बीज भिगोएं। सुबह उठकर इस पानी को पी लें और बीज को चबाकर खा लें।

इसे भी पढ़ें: Treat Erectile Dysfunction With Essential Oils : इन हर्बल तेलों के साथ करें 'इरेक्टाइल डिसफंक्शन' का इलाज

सफेद मूसली

आयुर्वेद में सफेद मूसली का प्रयोग औषधि के रूप में किया जाता है। इसके सेवन से पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन का स्तर बढ़ता है। यह सेक्स पावर को बढ़ाने और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन से छुटकारा पाने के लिए एक बेहतरीन जड़ी-बूटी है। इसका प्रयोग सेक्स टाइम को बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। इसके सेवन के लिए एक चम्मच सफेद मूसली पाउडर को गाय के घी और मिश्री के साथ मिक्स करके खाएं।

शतावरी 

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के इलाज में शतावरी का प्रयोग काफी लाभकारी होता है। यह पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन को बढ़ाने में मदद करती है। इसके सेवन से स्पर्म काउंट बढ़ता है और इनफर्टिलिटी की समस्या दूर होती है। यह सेक्स पावर बढ़ाने में भी सहायक है। रोजाना रात में सोने से पहले शतावरी पाउडर को दूध में मिक्स करके इसका सेवन करें। 

इसे भी पढ़ें: इरेक्टाइल डिस्फंक्शन को दूर करने में मददगार हो सकते हैं ये 5 योगासन

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या में इन सभी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का सेवन फायदेमंद हो सकता है। हालांकि, आपको इनका सेवन किसी एक्सपर्ट या डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए।

Disclaimer