Doctor Verified

बेंगलुरु जिम डेथ: पोस्टमार्टम में सामने आई महिला के मौत की वजह, कहीं जिम में आप भी तो नहीं करते ये गलतियां

बेंगलुरू में एक 44 साल की महिला की जिम में वर्कआउट करते समय मौत हो गयी, जिम में वर्कआउट या वेट ट्रेनिगं करते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Apr 06, 2022Updated at: Apr 06, 2022
बेंगलुरु जिम डेथ: पोस्टमार्टम में सामने आई महिला के मौत की वजह, कहीं जिम में आप भी तो नहीं करते ये गलतियां

हाल ही में बेंगलुरू में जिम करते समय एक 44 साल की महिला की मौत हो गयी थी जिसका विडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। जिम में वर्कआउट करते समय महिला की अचानक मौत के बाद अब उस महिला की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से उसकी मौत के कारण का खुलासा हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि महिला की मौत सेरेब्रल हेमरेज के कारण हुई थी। सेरेब्रल हेमरेज एक ऐसी समस्या है जिसमें मस्तिष्क में तनाव के कारण रक्त वाहिकाएं डैमेज हो जाती हैं। मस्तिष्क में धमनी के फटने की वजह से ब्लीडिंग होती है और इसकी वजह से व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। इस घटना बाद बेंगलुरू के ईस्टर्न डिवीजन के डीसीपी डॉ. भीमाशंकर गुलेड़ा ने लोगों से जिम में एक्सरसाइज करते समय अधिक वजन वाले उपकरण (वेट लिफ्टिंग) करते समय सावधान रहने की अपील की है। जिम जाने वाले लोग अक्सर जल्दी में बॉडी बनाने के लिए तमाम तरह के एक्सरसाइज करते हैं जिसकी वजह से कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। ज्यादा जिम करने की वजह से लोगों को कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं और कई बार ऐसी रिपोर्ट सामने आई है जिसमें इंसान की मौत भी हो गयी है। बेंगलुरू की घटना के बाद आपको भी जिम करते समय, खासकर वेट लिफ्टिंग के दौरान कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

क्या है सेरेब्रल हेमरेज की समस्या? (What is Cerebral Haemorrhage in Hindi)

डॉ रघुराम जी, न्यूरोसर्जन, मणिपाल अस्पताल बेंगलुरू के मुताबिक जिम में वर्कआउट कर रही महिला की अचानक मौत मस्तिष्क में ब्लीडिंग की वजह से हुई है। इस समस्या के ठीक पहले व्यक्ति को गंभीर सिरदर्द या उल्टी की समस्या हो सकती है। सेरेब्रल हेमरेज को ब्रेन हेमरेज के नाम से भी जाना जाता है। इस समस्या में मस्तिष्क में ब्लड की आपूर्ति करने वाली रक्त वाहिकाएं फट जाती हैं जिसकी वजह से मस्तिष्क के अंदर ब्लीडिंग होती है। ब्लीडिंग की वजह से मस्तिष्क की कोशिकाओं को नुकसान होता है और सही समय पर इलाज न मिलने की वजह से व्यक्ति की मौत भी हो जाती है। सेरेब्रल हेमरेज को ब्रेन हेमरेज, इंट्राक्रैनील हेमरेज या इंट्रासेरेब्रल हेमरेज भी कहा जाता है। जिम में एक्सरसाइज के दौरान वेट लिफ्टिंग करते समय आपके मस्तिष्क में रक्त प्रवाह तेज हो सकता है और बहु जयादा वजन उठाने की वजह से रक्त वाहिकाएं फट सकती हैं। ऐसे में आपको भी जिम करते समय इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : वर्कआउट के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज के दौरान न करें ये गलतियां, बॉडी पर पड़ता है गलत असर

Bengaluru-Gym-Death-Case

जिम में वेट ट्रेनिंग करते समय रखें इन बातों का ध्यान (Precautions to Follow While Working With Weights in Hindi)

सुडौल और आकर्षक बॉडी बनाना किसकी चाहत नहीं होती है? लोग शरीर को मस्कुलर और आकर्षक बनाने के लिए जिम में वर्कआउट करते हैं। कई बार यह देखा गया है की जल्दबाजी में बॉडी बनाने की चाहत की वजह से लोग अपनी कैपेसिटी से अधिक एक्सरसाइज या वर्कआउट का अभ्यास करने लगते हैं। मांसपेशियों के लिए तमाम तारह के सप्लीमेंट्स का सेवन भी करते हैं। जरूरत से ज्यादा वर्कआउट करने से और जरूरत से ज्यादा सप्लीमेंट्स का सेवन करने से आपको सेहत से जुड़ी कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं और जान भी जा सकती है। इसलिए जिम में वेट लिफ्टिंग करते समय आपको इन सावधानियों का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

1. जिम में वेट ट्रेनिंग करते समय आपको अपनी क्षमता से अधिक भार नहीं उठाना चाहिए। ज्यादातर लोग पहली बार जिम करते समय ये गलती कर बैठते हैं जिसकी वजह से उन्हें गंभीर समस्या का सामना करना पड़ सकता है। शुरुआत में ट्रेनर की देखरेख में कम वजन उठाने की प्रैक्टिस करें।

2. वेट ट्रेनिंग करते समय अपने फॉर्म को ध्यान में जरूर रखें। एक्सरसाइज करते समय सही फॉर्म होना बहुत जरूरी है। फॉर्म सही न होने की वजह से आपको चोट भी लग सकती है और शरीर में कई अन्य दिक्कतें हो सकती हैं।

3. एक्सरसाइज करते समय सांस लेने का सही तरीका जरूर आना चाहिए। वेट ट्रेनिंग करते समय सही तरीके से सांस लेना बहुत जरूरी है। वजन उठाते समय आपको सांस नहीं रोकना चाहिए और वजन छोड़ते हुए सांस अंदर नहीं खींचना चाहिए। 

4. संतुलन बनाने रखने से आपको जिम करते समय इंजरी होने का खतरा नहीं रहता है और सही तरीके से एक्सरसाइज का फायदा मिलता है।

5. वेट ट्रेनिंग से पहले वार्म अप जरूर करना चाहिए। वार्म करने से आपका शरीर वेट ट्रेनिंग के लिए एक्टिव हो जाता है। इसलिए वजन उठाने से पहले 5 से 10 मिनट के लिए वार्म अप जरूर करें।

6. किसी भी एक्सरसाइज का अभ्यास करते समय जल्दबाजी नुकसानदायक हो सकती है। वर्कआउट करते समय जल्दबाजी बिलकुल भी नहीं करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें : एक्सरसाइज और वर्कआउट के दौरान ये 6 गलतियां शरीर को पहुंचाती हैं नुकसान, जानें इन्हें

अगर आप जिम में वेट ट्रेनिंग का अभ्यास करते समय इन बातों का ध्यान रखते हैं तो आपको इंजरी या स्वास्थ्य से जुड़ी किसी भी समस्या का खतरा नहीं होगा। वेट ट्रेनिंग एक्सरसाइज करते समय आपको अधिक वजन बिलकुल भी नहीं उठाना चाहिए। अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज या कोई अन्य समस्या है तो जिम जाने से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में बात जरूर करें।

(All Image Source - Freepik.com)

 
Disclaimer