वर्कआउट के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज के दौरान न करें ये गलतियां, बॉडी पर पड़ता है गलत असर

वर्कआउट के बाद शरीर और मसल्स की रिकवरी के लिए कूल डाउन एक्सरसाइज करते समय ये गलतियां पड़ सकती हैं आपकी सेहत पर भारी, जानें इनके बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Sep 21, 2021
वर्कआउट के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज के दौरान न करें ये गलतियां, बॉडी पर पड़ता है गलत असर

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से एक्सरसाइज या योग का अभ्यास बहुत फायदेमंद माना जाता है। रोजाना एक्सरसाइज या वर्कआउट करने से शरीर तो स्वस्थ होता ही है बल्कि कई बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है। लेकिन नियमित रूप से वर्कआउट या एक्सरसाइज करने से पहले और बाद में वार्म अप करना बहुत जरूरी होता है। शरीर को एक्सरसाइज या वर्कआउट करने के लिए तैयार करने का काम वार्म अप करता है। इसके बाद जब आप वर्कआउट कर चुके होते हैं तो शरीर को कूल डाउन यानी आराम देने के लिए और सांस को सामान्य करने के लिए कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास किया जाता है। कूल डाउन एक्सरसाइज की सहायता से आप मसल्स की रिकवरी और एक्सरसाइज या वर्कआउट के दौरान हुई इंजरी से बच सकते हैं। कूल डाउन एक्सरसाइज के अभ्यास से आप शरीर को वर्कआउट के बाद रिकवरी मोड में लेकर जाते हैं। इसके अभ्यास के दौरान कुछ गलतियां करने पर आपको फायदे की जगह नुकसान हो सकता है। एक्सरसाइज या वर्कआउट के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास करते समय आपको इन गलतियों से बचना चाहिए।

कूल डाउन एक्सरसाइज के दौरान बचें इन गलतियों से (Warm Up and Cool Down Exercise Mistakes To Avoid)

Cool-Down-Exercise-Mistakes-To-Avoid

(iamge source - freepik.com)

जिस तरह से शरीर को वर्कआउट के लिए तैयार करने के लिए वार्म अप करना जरूरी होता है ठीक उसी प्रकार एक्सरसाइज या वर्कआउट के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास जरूरी होता है। मसल्स रिकवरी और शरीर को आराम देने के साथ-साथ इसका अभ्यास आपकी सांसों को सामान्य करने का काम करता है। सामान्यतः इसका अभ्यास करने में बहुत ज्यादा समय नहीं लगता है आप थोड़ी ही देर में कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास कर सकते हैं। लेकिन इसके अभ्यास के दौरान आपको कुछ गलतियों से जरूर बचना चाहिए। अक्सर देखा गया है कि जल्दबाजी में लोग कूल डाउन का अभ्यास करते समय कुछ गलतियां कर बैठते हैं। इन गलतियों को बार-बार दोहराने से आपकी मसल्स रिकवरी पर प्रभाव पड़ सकता है इसके अलावा कई अन्य नुकसान शरीर को झेलने पड़ सकते हैं। कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास करते समय आपको इन गलतियों से बचना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : जिम न जाने या एक्सरसाइज न करने के अक्सर ये 5 बहाने बनाते हैं लोग, जानें कैसे सही रखें एक्सरसाइज रूटीन

1. कूल डाउन का अभ्यास रेगुलर न करना (Not Doing Cool Down Exercise Regularly)

कुछ लोग बीच-बीच में वर्कआउट या एक्सरसाइज का अभ्यास करने के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास करते हैं जो कि सही नहीं माना गया है। कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास नियमित रूप से जरूर करना चाहिए। एक दिन छोड़कर दूसरे दिन या फिर बीच-बीच में इसका अभ्यास स्किप करने से आपकी मांसपेशियों को नुकसान होता है। जब आप नियमित रूप से वर्कआउट के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास नहीं करते हैं तो इसकी वजह से आपको सांस लेने में तकलीफ या मसल्स की सही ढंग से रिकवरी न हो पाने जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है।

Cool-Down-Exercise-Mistakes-To-Avoid

(iamge source - freepik.com)

इसे भी पढ़ें : जिम में इन जगहों पर ज्यादा होता है इंफेक्शन फैलाने वाले बैक्टीरिया और वायरस का खतरा, बरतें सावधानी

2. फोम रोलर का इस्तेमाल न करना (Not Using a Foam Roller)

अगर आप कूल डाउन एक्सरसाइज के दौरान फोम रोलर का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो यह आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। एक अध्ययन के मुताबिक कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास करते समय फोम रोलर का इस्तेमाल आपकी गति को बढाता है और मांसपेशियों को नुकसान पहुंचने से रोकता भी है। फोम रोलर के इस्तेमाल से आपकी मांसपेशियों को भी फायदा मिलता है और साथ ही यह एक्सरसाइज को आसन बनाने का काम करता है। 

इसे भी पढ़ें : बॉडी बिल्डर्स की तरह हाथों की नसों को पंप करने (उभारने) के लिए एक्सरसाइज और अन्य जरूरी टिप्स

3. अचानक से वर्कआउट को बंद करना (Stopping Your Workout Suddenly)

वर्कआउट और एक्सरसाइज का अभ्यास करने के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज आपके शरीर को रिकवरी मोड में ले जाने का काम करता है। इसके अभ्यास से आप एक्सरसाइज के कारण सांसों में असंतुलन और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल कर सकते हैं। अचानक से किसी वर्कआउट का अभ्यास बंद कर देने से आपको कई मुश्किलें हो सकती हैं। अगर आप अचानक से वर्कआउट करना बंद कर देते हैं तो इससे आपके शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है जैसे मान लीजिए आप तेजी से दौड़ रहे हैं और अचानक से आप खुद को रोक लें तो इससे क्या होगा? आप अचानक रुकने की वजह से अपना संतुलन खो सकते हैं और आपको गंभीर चोटें भी आ सकती हैं। ठीक इसी तरह से अचानक वर्कआउट बंद नहीं करना चाहिए, आप चाहें तो धीरे-धीरे इसका अभ्यास कम कर सकते हैं।

5. सही ढंग से स्ट्रेचिंग न करना (Not Stretching Properly)

सही ढंग से स्ट्रेचिंग न करने की वजह से आपको मांसपेशियों के दर्द से लेकर शरीर की अकड़न जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। वर्कआउट के बाद शरीर की मांसपेशियों और शरीर पर टेंशन क्रिएट करने के लिए वर्कआउट के बाद स्ट्रेचिंग जरूर करना चाहिए। इंटेंस वर्कआउट और रेजिस्टेंस ट्रेनिंग के बाद मसल्स टिश्यूज में  टियर्स आने लगते हैं जिसको कम करने के लिए रोजाना सही ढंग से स्ट्रेचिंग जरूर करना चाहिए। वर्कआउट के दौरान आपका शरीर लैक्टिक एसिड का निर्माण करने लगता है जिसकी वजह से वर्कआउट के बाद मांसपेशियों में दर्द की समस्या होती है। सही ढंग से स्ट्रेचिंग करने से आप इस दौरान होने वाले दर्द से बच सकते हैं।

Cool-Down-Exercise-Mistakes-To-Avoid

(iamge source - freepik.com)

इसे भी पढ़ें : लोअर बैक (कमर) के लिए एक्सरसाइज करते समय इन जरूरी बातों का रखें ध्यान, वर्ना हो सकते हैं कई नुकसान

तो ऊपर बताई गयी इन बातों का ध्यान रखकर आप कूल डाउन एक्सरसाइज के दौरान होने वाली समस्याओं से बच सकते हैं। कूल डाउन का सही ढंग से अभ्यास करने से आपकी मांसपेशियों की रिकवरी भी ठीक ढंग से हो पाती है और सांस भी सामान्य होती है।

(main image source - freepik.com)

Read More Articles on Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer