जिम न जाने या एक्सरसाइज न करने के अक्सर ये 5 बहाने बनाते हैं लोग, जानें कैसे सही रखें एक्सरसाइज रूटीन

अक्सर लोग जोश में वर्कआउट या जिम शुरू तो करते हैं, लेकिन कुछ समय में ही जोश ठंडा हो जाता है। जानें एक्सरसाइज का रूटीन सही रखने के खास तरीके

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Sep 10, 2021Updated at: Sep 10, 2021
जिम न जाने या एक्सरसाइज न करने के अक्सर ये 5 बहाने बनाते हैं लोग, जानें कैसे सही रखें एक्सरसाइज रूटीन

आप सेहतमंद जिंदगी का सपना तो देखते हैं, लेकिन खुद को बहानों से उभार नहीं पाते हैं। जितना जरूरी शरीर के लिए खाना है ठीक उतना ही जरूरी शरीर के लिए वर्कआउट (Workout) भी है। वर्कआउट के फायदों से शायद ही कोई अंजान होगा। वर्कआउट से बचने के लिए लोग हजारों बहाने बनाते हैं। वहीं कुछ लोग लाख सोचने के बाद भी वर्कआउट को अपने दैनिक जीवन का हिस्सा नहीं बना पाते हैं। क्या आप भी उन्हीं लोगों में शामिल हैं जो वर्कआउट न करने के लिए बहाने खोजने में माहिर हैं। व्यायाम करने से आपकी शरीर में रक्त का प्रवाह संतुलित रहता है, मांसपेशियां मजबूत रहने के साथ ही ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) भी नियंत्रित रहता है।

वर्कआउट न करने वालों की सेहतमंद जिंदगी का सिलसिला ज्यादा लंबे समय तक अपनी दूरी तय नहीं कर पाता है। ऐसे लोगों के बीमारियों से जल्दी ग्रसित होने की संभावनाएं अधिक बन जाती हैं। हजारों बहाने के बीच फंसे व्यक्ति को न चाहकर भी समय आने पर व्यायाम के लिए समय निकालना ही पड़ता है। तो क्यों न आज से ही व्यायाम या वर्कआउट को अपने जीवन का हिस्सा बना लिया जाए। आइये जानते हैं वह कौन से बहाने हैं, जो आपके जिम जाने या व्यायाम करन से रोकते हैं।

gym workout

समय नहीं है

समय का अभाव आजकल ज्यादातर लोगों के पास है, लेकिन सेहत के प्रति जागरूक लोग खुद को फिट रखने के लिए आसानी से समय निकाल लेते हैं। वहीं बहाने बनाने वाले पर्याप्त समय होने के बावजूद भी वर्कआउट से वंचित रह जाते हैं। इसके लिए आपको टाइम मैनेजमेंट (Time Management) सीखना होगा कि आप किस तरह अन्य जरूरी कामों के साथ वर्कआउट के लिए भी समय निकालें। यह वर्कआउट न करने का बहुत ही सामान्य बहाना है। खासकर यह महिलाओं के मुंह से ज्यादा सुनने को मिलता है कि हमारे पास वर्कआउट करने का समय नहीं है क्योंकि घर के अन्य कार्य भी सुबह के समय ही होते हैं। आपका शरीर ही आपकी संपत्ती है इसे स्वस्थ रखने के लिए दिन में कम से कम आधा घंटा जरूर निकालें। इसे आदत में लाने में भले ही थोड़ा समय लग सकता है। इसकी शुरूआत धीरे-धीरे करें।

इसे भी पढ़ें: जिम नहीं जाते हैं तो घर पर करें ये काम और कुछ योगासन, हो जाएगी पूरे शरीर की एक्सरसाइज

lack of sleep

नींद पूरी नहीं हुई

शरीर के लिए 6 से 8 घंटे की नींद पर्याप्त होती है इससे कम सोना भी आपको नुकसान पहुंचा सकता है और ज्यादा सोना भी, लेकिन आलस (Laziness) से भरपूर ऐसे भी लोग हैं, जो 8 घंटे की नींद लेने के बाद भी सुबह वर्कआउट के समय नींद न पूरी होने का बहाना बना लेते हैं। ऐसा करने से वे बीमारियों के लिए गढ़्ढा खोद रहे हैं। नींद पूरी न होना अधिकांश लोगों का बहाना होता है शायद आपका भी हो। ऐसी आदत आपको आलसी और आगे चलकर गंभीर रूप से बीमार बना सकती है। कोशिश करें कि रात में थोड़ा जल्दी सो जाएं ताकि सुबह आप भरपूर नींद लेने के बाद वर्कआउट करने के लिए खुद को तैयार करें।   

कल के वर्कआउट से थकान है

वर्कआउट को नजरअंदाज (Ignorance of workout) करने वाले ऐसे भी कुछ लोग हैं, जो और कुछ नहीं तो पुराने या बीते कल के वर्कआउट को लेकर ही थकान जाहिर करते हैं। वहीं वर्कआउट के प्रति जागरूक लोग थकान होने के बाद भी वर्कआउट के लिए हर समय तत्पर रहते हैं। अगर आपको वर्कआउट के अगले दिन तक भी थकान महसूस होती है तो कुछ स्ट्रैचिंग एक्सर्साइज (Stretching Exercises) करनी चाहिए। यदि आप बिगिनर हैं तो उतना ही वर्कआउट करें जितना आप आसानी से कर सकें।

इसे भी पढ़ें: बोतल, कुर्सी, बैग जैसी चीजों से करें जिम जैसा वर्कआउट, फिटनेस ट्रेनर से जानें घर पर एक्सरसाइज के स्मार्ट तरीके

अकेले वर्कआउट नहीं होता

वर्कआउट से बचने के लिए अकेले होना भी एक ठोस बहाना है। आपको अपनी सेहतमंद होने की यात्रा (Fitness Journey) खुद ही तय करनी होगी। ऐसा बिलकुल गलत है कि आप किसी पार्टनर के साथ वर्कआउट करेंगे तो आपको उसका ज्यादा लाभ मिलेगा। बहुत से लोग यह बहाना बनाते हैं कि आज मेरा जिम पार्टनर नहीं आ रहा तो मैं अकेले वर्कआउट नहीं करूंगा। किसी पार्टनर के साथ वर्कआउट करने से केवल आपको समय का अहसास नहीं होता और आप अपने वर्कआउट को लंबे समय तक खींच सकते हैं। फिटनेस के प्रति जागरूक होकर अकेले ही वर्कआउट करना सीखें।

gym bahane

मैं अच्छा नहीं दिखता

बहुत से लोगों के पास यह भी बहाना होता है कि वे अच्छे नहीं दिखते हैं। अधिकांश महिलाएं यह बहाना बनाती हैं कि मैं तो मोटी हूं या मैं तो बहुत पतली हूं। मैं जब वर्कआउट करूंगी तो लोगों की नजर मुझपर ही रहेगी और वे मेरी खिल्ली उड़ाएंगे। वहीं अपनी फिटनेस का ख्याल रखने वाले कुछ ऐसे भी लोग हैं जिनकी शरीर का कोई अंग प्रभावित होने के बाद भी वे वर्कआउट से मुंह नहीं मोड़ते हैं। अगर आपके मन में भी इस तरह के ख्याल हैं तो खुद में बदलाव लाएं। जिम नहीं जाना चाहते तो पार्क जाकर या घर में रहकर ही वर्कआउट करें और अपनी डाइट को सख्ती के साथ फॉलो करें।

वर्कआउट न सिर्फ आपको सेहतमंद बनाएगा बल्कि आपके निजी जीवन और दिनचर्य़ा में भी कई बदलाव लाता है। इसलिए बहानों के जंजाल से खुद को निकालें और सेहतमंद जिंदगी की यात्रा की शुरूआत करें।

Read More Articles on Exercise Fitness in Hindi

Disclaimer