घाव, सूजन, त्वचा रोग जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करती है 'गोरख इमली', जानें इस औषधि के प्रयोग का तरीका

गोरख इमली एक औषध‍िय पेड़ है ज‍िसके तने, छाल, फूल, पत्‍तों का इस्‍तेमाल कई रोगों को ठीक करने के ल‍िए क‍िया जाता है, जानते हैं इसके फायदे

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Aug 13, 2021Updated at: Aug 13, 2021
घाव, सूजन, त्वचा रोग जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करती है 'गोरख इमली', जानें इस औषधि के प्रयोग का तरीका

गोरख इमली एक पेड़ है ज‍िसमें आयुर्वेद‍िक गुण होते हैं। गोरख इमली के इस्‍तेमाल से घाव, सूजन, दर्द, त्‍वचा रोग, बुखार आद‍ि समस्‍याओं का इलाज क‍िया जाता है। मुंह की बदबू, अपच की समस्‍या, शरीर में होने वाली जलन में भी ये औषध‍ि फायदेमंद मानी जाती है। भारत के कई ह‍िस्‍से जैसे उत्‍तर भारत, दक्ष‍िण भारत और समुद्रतटों के आसपास पाया जाता है। गोरख इमली के फल, तना, छाल, पत्‍तों में औषधिय गुण होते हैं। आप गोरख इमली का काढ़ा बनाकर पी सकते हैं या गोरख इमली के पत्‍तों और फल का गूदा, लेप या रस इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इस लेख में हम शरीर की समस्‍याओं में गोरख इमली के फायदों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

gorakh imli benefits

(image source: wikipedia)

1. घाव होने पर इस्‍तेमाल करें गोरख इमली (Gorakh imli cures wound)

अगर आपके शरीर पर घाव है तो आप उसे ठीक करने के लि‍ए गोरख इमली का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इसके ल‍िए आप गोरख इमली के पत्‍ते और फल के गूदे को पीस लें और उसे त्‍वचा पर लगा लें। इससे घाव जल्‍दी भर जाएगा। घाव को ठीक करने के ल‍िए गोरख इमली के तने में लगी गोंद को इस्‍तेमाल भी किया जाता है। इस गोंद को घाव पर लगाने से घाव जल्‍दी भर जाता है। 

इसे भी पढ़ें- काला जीरा (शाह जीरा) से दूर हो सकती हैं मोटापा, पेट दर्द, फुंसी जैसी ये 5 समस्याएं, जानें उपयोग का तरीका

2. अपच की समस्‍या दूर करती है गोरख इमली (Gorakh imli cures indigestion)

अगर आपको अपच की समस्‍या है तो आप गोरख इमली का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। गोरख इमली की छाल को पीसकर पाउडर बना लें, उस पाउडर में सेंधा नमक और छुटकी भर काली म‍िर्च पाउडर, इलाइची पाउडर म‍िला लें और गुनगने पानी में डालकर प‍िएं तो अपच की समस्‍या दूर हो जाएगी। दस्‍त की समस्‍या में भी गोरख इमली फायदेमंद होता है। इसके फल के गूदे को पीसकर गुनगुने पानी में डालें और शहद म‍िलाकर प‍िएं तो दस्‍त की समस्‍या दूर हो जाएगी।

3. सूजन दूर करता है गोरख इमली का पत्‍ता (Gorakh imli leaf cures swelling)

gorakh imli leaves

(image source: wikipedia)

त्‍वचा में सूजन नजर आ रही है तो आप गोरख इमली के पत्‍तों को पीसकर काढ़ा बना लें और गुनगुने पानी के साथ पी लें, इससे शरीर में मौजूद सूजन दूर होगी। बुखार उतारने के ल‍िए भी गोरख इमली का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। इसके ल‍िए आप गोरख इमली की छाल का चूरण बना लें और चूरण को गुनगुने पानी में डालकर प‍िएं तो लाभ होगा।

इसे भी पढ़ें- घाव, दर्द और त्वचा रोगों में फायदेमंद है 'खोकली का पौधा', जानें इस आयुर्वेदिक औषधि के 5 लाभ

4. शरीर की बदबू दूर करती है गोरख इमली (Gorakh imli helps to get rid of bed smell)

शरीर से बदबू आने की समस्‍या है या पसीने की बदबू से परेशान हैं तो आप गोरख इमली का इस्‍तेमाल करें, इसके इस्‍तेमाल से शरीर की बदबू दूर होती है। आपको गोरख इमली के सूखे पत्‍ते लेने हैं और उन्‍हें पीस लेना है। जो पाउडर तैयार हो उसमें चंदन पाउडर म‍िला लें, अब शरीर पर इसे लगा लेना है और आधे घंटे बाद त्‍वचा को साफ पानी से धो लें। इससे शरीर की बदबू दूर हो जाएगी। 

5. त्‍वचा से जुड़ी समस्‍याओं में फायदेमंद है गोरख इमली (Benefits of gorakh imli in skin problems)

गोरख इमली के इस्‍तेमाल से त्‍वचा की जलन कम होती है, अगर आपको स्‍क‍िन से जुड़ी समस्‍या के कारण त्‍वचा में जलन है तो आप गोरख इमली के फल के रस का काढ़ा बनाकर पी सकते हैं। काढ़ा बनाने के लि‍ए फल के रस को न‍िकालें, उसमें शहद म‍िलाएं और गुनगुने पानी में म‍िलाकर पी लें। दर्द होने पर भी गोरख इमली का रस लगाया जा सकता है, इससे दर्द कम हो जाता है। फुंसी में पस भरा है तो आप गोरख इमली के फल के गूदे को लगाएं, पस न‍िकल जाएगा।  

अगर आप गोरख इमली का इस्‍तेमाल करने जा रहे हैं तो एक बार आयुर्वेद‍िक डॉक्‍टर से सलाह जरूर लें। 

(main image source: wikipedia)

Read more on Ayurveda in Hindi 

Disclaimer