Doctor Verified

डेंगू के लक्षण महसूस होने पर अपनाएं ये 4 आयुर्वेदिक उपाय, मिलेगी राहत

ayurvedic tips for dengue : डेंगू के लक्षण नजर आने पर आप घर पर ही इसके इलाज के लिए कुछ आयुर्वेदिक उपाय आजमा सकते हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Jul 12, 2022 11:07 IST
डेंगू के लक्षण महसूस होने पर अपनाएं ये 4 आयुर्वेदिक उपाय, मिलेगी राहत

आजकल डेंगू के मामलों में लगातार इजाफा (dengue in hindi) हो रहा है। यह स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। इससे बचाव के लिए लोगों को अपने घर और उसके आस-पास सफाई रखना बहुत जरूरी है। दरअसल, डेंगू एक तरह का बुखार है, जो एडीज एजिप्टी (aedes aegypti) प्रजाति के मादा मच्छरों के काटने से फैलता है। शुरुआत में इसके बेहद सामान्य लक्षण (dengue symptoms) नजर आते हैं, लेकिन अगर इन लक्षणों पर ध्यान न दिया जाए, तो बाद में पेट में तेज दर्द, बेचैनी और उल्टी में खून आने जैसी गंभीर समस्याएं पैदा हो सकती हैं। इसलिए आपको इसके शुरुआती लक्षण दिखते ही अपना इलाज शुरू कर देना चाहिए। अगर आप में डेंगू का कोई भी सामान्य लक्षण दिखे, तो आप कुछ आयुर्वेदिक उपाय आजमा सकते हैं। इन उपायों की मदद से डेंगू के लक्षणों में काफी राहत मिलेगी। आयुर्वेदाचार्य श्रेय शर्मा से जानें इन उपायों के बारे में-

डेंगू के लक्षण (dengue symptoms)

  • तेज बुखार (high fever)
  • सिरदर्द (Headache)
  • जी मिचलाना (nausea)
  • उल्टी (vomit)
  • रैशेज (rashes)
  • जोड़ों में दर्द (joint pain)
  • मांसपेशियों में दर्द (muscle pain)

जब किसी व्यक्ति को डेंगू का मच्छर काटता है, तो उसे शुरुआत में ऊपर बताए गए लक्षण नजर आ सकते हैं। अलग-अलग शख्स में इसके लक्षण भी अलग-अलग नजर आ सकते हैं। अगर आपको भी इनमें से कोई लक्षण नजर आए, तो तुरंत कुछ आयुर्वेदिक उपाय (ayurvedic tips for dengue) ट्राई कर सकते हैं। डेंगू बुखार तीन तरह के होते हैं।

डेंगू के लिए आयुर्वेदिक उपाय (ayurvedic remedies for dengue)

डेंगू कुछ मामलों में गंभीर तो कुछ मामलों में इतना सामान्य होता है कि इसका इलाज आसानी से घर पर किया जा सकता है। इसके लिए लोग दवाइयों, घरेलू उपायों के साथ ही आयुर्वेदिक उपायों का भी सहारा लेते हैं।

इसे भी पढ़ें - कोविड और डेंगू के लक्षणों में क्या फर्क है? क्या प्लेटलेट्स कम होना सिर्फ डेंगू का लक्षण है?

coconut water for dengue patients

1. नारियल पानी (coconut water for dengue)

नारियल का पानी डेंगू के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। नारियल का पानी डेंगू से बचने का एक शानदार और प्रभावी तरीका है। दरअसल, डेंगू में बुखार और उल्टी होती रहती है, जिससे शरीर पूरी तरह से डिहाइट्रेट हो जाता है। ऐसे में बॉडी को हाइड्रेट करने के लिए आप नारियल पानी का सेवन कर सकते हैं। अगर आपको डेंगू के लक्षण नजर आए, तो तुरंत दिन में दो बार नारियल पानी पीना शुरू कर दें। नारियल पानी के सेवन से स्वास्थ्य को कई लाभ मिलते हैं

2. पपीते के पत्ते (papaya leaves for dengue)

डेंगू से बचाव के लिए पपीते के पत्ते काफी प्रभावी माने जाते हैं। यही कारण है कि अधिकतर लोग डेंगू होने पर पपीते के पत्तों को डाइट में शामिल करते हैं। पपीते के पत्ते डेंगू के लक्षणों को कम करने, शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने और प्लेटलेट्स काउंट को बढ़ाने में मदद करते हैं। जिन लोगों के डेंगू में प्लेटलेट कम हो जाती हैं, उन्हें पपीते के पत्तों का रस पिलाना चाहिए, इससे प्लेटलेट्स काउंट बढ़ने लगते हैं।

3. मेथी (Fenugreek leaves for dengue)

मेथी को स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद माना गया है। डेंगू के मरीजों के लिए भी मेथी का सेवन करना लाभदायक होता है। मेथी की पत्तियां डेंगू में होने वाले जोड़ों के दर्द और मांसपेशियों के दर्द से राहत दिलाता है। इसके सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) बढ़ती है। इसके लिए आप रोजाना रात को मेथी को पत्तों को पानी में भिगोकर रख दें। इसके बाद अगले दिन सुबह उठकर इस पानी का छानकर सेवन कर लें। कुछ दिनों तक लगातार इस उपाय को करने से आपकी समस्या में काफी हद तक आराम मिलेगा।

इसे भी पढ़ें - क्यों माना जाता है डेंगू को खतरनाक? जानें डेंगू बुखार के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां

neem leaves for dengue

4. नीम के पत्ते (neem leaves for leaves)

डेंगू के लक्षणों में कमी करने के लिए नीम की पत्तियां भी बेहद असरदार होती है। आयुर्वेद में नीम को बेहद लाभकारी माना गया है। यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है, इसमें एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरस और एंटी सेप्टिक गुण भी होते हैं, जो शरीर में डेंगू के वायरस को बढ़ने और फैलने से रोकने में मदद करते हैं। इतना ही नहीं नीम की पत्तियां प्लेटलेट्स काउंट को भी बढ़ाने में मददगार होती हैं।

Disclaimer