आयुर्वेद में कई समस्याओं के लिए फायदेमंद माना जाता है दगड़ फूल (पत्थर का फूल), जानें इसके लाभ

दगड़ फूल एक आयुर्वेदिक औषधि और गर्म मसाला है, जिसके सेवन के ढेर सारे लाभ होते हैं। जानें किडनी की पथरी से लेकर पाचन तक इसके फायदे ही फायदे।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Feb 10, 2020
आयुर्वेद में कई समस्याओं के लिए फायदेमंद माना जाता है दगड़ फूल (पत्थर का फूल), जानें इसके लाभ

दगड़ फूल एक ऐसा पौधा होता है, जो अपने आप ही किसी पुरानी दीवार या खाली पथरीली जगह पर उग आते हैं। पत्थरों पर उगने की इनकी योग्यता के कारण ही इन्हें पत्थर फूल या पठार फूल या कल्पासी कहा जाता है। अंग्रेजी में इस फूल को 'ब्लैक स्टोन' कहते हैं। इसकी तेज खुश्बू के कारण कुछ लोग इसे मसाले में भी प्रयोग करते हैं। साधारण से दिखने वाले इस फूल में कई औषधीय गुण होते हैं, जिसके कारण इसे बहुत सारी आयुर्वेदिक औषधियों में प्रयोग किया जाता है। ये सूखे हुए मशरूम या सूखे हुए फूलों की तरह नजर आते हैं। दगड़ फूल में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं और ये पुरुषों के गुप्त रोगों में भी बड़ा फायदेमंद माना जाता है। आइए आपको बताते हैं इस फूल के कुछ खास स्वास्थ्य लाभ।

पाचन सही रहता है

दगड़ फूल का इस्तेमाल गर्म मसाले की तरह किया जाता है। ये सूप, सब्जियों आदि में फ्लेवर और सुगंध बढ़ाता है। दगड़ फूल पेट की समस्याओं में बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व और मिनरल्स आपकी अपच, गैस, कब्ज और मलत्याग में परेशानी जैसी समस्याओं को ठीक करते हैं। अपने रोजाना के खाने में दगड़ फूल का इस्तेमाल करके आप अपने पाचन को ठीक रख सकते हैं। शेफ कुनाल ने अपने इंस्टाग्राम टाइमलाइन पर एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वो बता रहे हैं कि दगड़ फूल कैसे मिलता है और मसाले के रूप में कितना फायदेमंद है।

दूर करता है किडनी की पथरी

आयुर्वेद में दगड़ फूल का इस्तेमाल किडनी की समस्याओं को ठीक करने में किया जाता है। ये किडनी की पथरी में विशेष लाभप्रद पाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि दगड़ फूल के सेवन से पेशाब से जुड़ी बीमारियां ठीक होती हैं और किडनी की पथरी का बनना रुक जाता है।

100 ग्राम दगड़ फूल मसाला खरीदें 29% डिस्काउंट मूल्य पर: Chounk Black Stone Flower Spice (Dagad Phool , Kalpasi), 100g At Offer Price of: Rs. 170/-

दर्द दूर करने और त्वचा समस्याओं में

दगड़ फूल में एंटी-इंफ्लेमेट्री (सूजनरोधी) गुण होते हैं। इसके अलावा इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल, एंटी-वायरल और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं। इसके सेवन से शरीर में होने वाली अंदरूनी सूजन दूर होती है, जिसे नजरअंदाज करना कई तरह की गंभीर परेशानियों का कारण बन सकता है। एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों के कारण ही कुछ लोग इसे कैंसर रोधी भी मानते हैं। दगड़ फूल दर्द दूर करने के लिए अच्छी आयुर्वेदिक औषधि मानी जाती है।

इसे भी पढ़ें: ये आयुर्वेदिक नुस्खे दिलाएंगे आपको वायरल इंफेक्शन से छुटकारा, बदलते मौसम में बढ़ जाता है वायरल

घाव जल्दी भरता है

दगड़ फूल आपकी त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। चूंकि इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, इसलिए इसके सेवन से त्वचा रोगों में जल्दी आराम मिलता है। खुजली, चकत्ते, दाने और दूसरी तरह के स्किन इंफेक्शन होने पर आप दगड़ फूल का सेवन करें या इसकी चाय पिएं। दगड़ फूल आपके त्वचा के घाव को तेजी से भरने में भी फायदेमंद माना जाता है। सर्जरी, एक्सीडेंट या गहरी चोट के बाद त्वचा के घाव को भरने के लिए आप अपने आहार में दगड़ फूल का सेवन बढ़ा सकता है।

इसे भी पढ़ें: बीमारियों, बालों और त्वचा की इन 7 समस्याओं में फायदेमंद हैं मेथी के दाने, आयुर्वेद विशेषज्ञ से जानें लाभ

कहां मिलेगा ये फूल

ये फूल ऑनलाइन स्टोर्स, सुपर मार्केट या किराने की दुकानों में आसानी से मिल जाता है। हालांकि इन्हें खरीदते समय इस बात का ध्यान देना जरूरी है कि ये बहुत अधिक झुर्रीदार न हों। इसे एयर टाइट कंटेनर में स्टोर करना चाहिए, ताकि नमी से इसकी सुगंध में कोई प्रभाव न पड़े।

Read more articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer