अधपका मीट खाने वाले व्यक्ति के शरीर में मिले 700 से ज्यादा टेपवॉर्म, जानें शरीर को होने वाले नुकसान

झेजियांग यूनिवर्सिटी के हॉस्पिटल ऑफ कॉलेज ने एक व्यक्ति के सिरदर्द और जकड़न की शिकायत के बाद उसके शरीर में 700 से ज्यादा टेपवॉर्म को पाया है।  

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaUpdated at: Nov 22, 2019 10:59 IST
अधपका मीट खाने वाले व्यक्ति के शरीर में मिले 700 से ज्यादा टेपवॉर्म, जानें शरीर को होने वाले नुकसान

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

चीन के झेझियांग प्रांत के रहने वाले झु झोंग फा नाम के एक व्यक्ति को जब सिरदर्द और जकड़न की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया तो उसके शरीर में 700 से ज्यादा टेपवॉर्म  होने की बात सामने आई। उसे ये लक्षण करीब महीनेभर से दिखाई दे रहे थे। उसने इस समस्या के लिए मांस और सब्जी से बने पकवानों को जिम्मेदार ठहराया है। डॉक्टरों को इस बात का कोई अंदाजा नहीं था कि झेझियांग यूनिवर्सिटी के हॉस्पिटल ऑफ कॉलेज से मदद लेने का फैसला करते समय उनके लक्षण क्या थे।

tapeworm

अस्पताल के संक्रमण विभाग के डॉ. वांग जियान-रोंग ने जब झु की चिकित्सा जांच की तो उन्होंने झु में टीनियता (taeniasis) रोग पाया। उन्होंने झु के पूरे शरूर में 700 से ज्यादा टेपवॉर्म पाए।

टेपवॉर्म हमारे शरीर में आमतौर पर संक्रमित पोर्क ( जिसे सही तरीके से नहीं पकाया गया हो) में मौजूद टेपवॉर्म के अंडे खाने से आते हैं। डॉ. वांग का कहना है कि मरीज के मस्तिष्क में बहुत सी जगह में इन टेपवॉर्म के होने की बात सामने आई है।

इसे भी पढ़ेंः कहीं आप तो नहीं खा रहे फूल झाड़ू की घास से बना जीरा, जानें असली और नकली जीरा पहचानने का तरीका

उन्होंने कहा, ''मरीज के फेफड़ों और मांसपेशियों में भी टेपवॉर्म भरे हुए थे, जिसके कारण सीने में जकड़न की शिकायत थी।'' उन्होंने कहा कि वॉर्म पहले ही मरीज के अंगों को काफी नुकसान पहुंचा चुके हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, जब टेपवॉर्म के अंडे किसी व्यक्ति के तंत्रिका तंत्र में जाते हैं तो वह मरीज में न्यूरोलॉजिकल लक्षण का कारण बन सकते हैं, जिसमें मिर्गी का दौरा भी शामिल है।

tapeworm

डॉक्टरों का कहना है, ''ऐसा  सिर्फ तब होता है जब आप सुअरों में पाए जाने वाले टेपवार्म के किसी प्रकार के अंडों को निगल लेते हैं। ऐसा तब होता है जब आप किसी मांस वाले पशु का छोटा सा टुकड़ा अपने मुंह में रखते हैं। ये सिर्फ पोर्क खाने से नहीं होता।''

इसे भी पढ़ेंः हथेलियों पर दिखाई दे ऐसा निशान तो हो सकता है फेफड़ों का कैंसर, शोधकर्ताओं ने बताया कारण

वहीं झु का कहना है कि उन्होंने महीने भर पहले मांस और सब्जी से बने पकवान खाएं थे, जिसमें से मीट सही तरीके से पका हुआ नहीं था। डॉ. वांग ने बताया, ''हम अपने दैनिक जीवन में बहुत ज्यादा मांस युक्त भोजन करते हैं, जैसे रोस्ट लैंब और रोस्ट पोर्क।'' उन्होंने कहा कि अगर वह अधपका है तो जब हम उसे निगलेंगे तो टेपवॉर्म के अंडे जिंदा ही रहेंगे। 

उन्होंने बताया, ''और अगर आप अधपका मीट खाते हैं, तो टेपवॉर्म के आपके शरीर में जाने और कई अलग-अलग बीमारियां होने की संभावना बहुत ज्यादा हद तक बढ़ जाएगी।''

टेपवार्म संक्रमण वैसे तो दुर्लभ है लेकिन यह विश्व के अलग-अलग हिस्सों में आम रूप से देखा जाता है। इसके लक्षण आम होते हैं और इसका आसानी से उपचार किया जा सकता है। लेकिन कभी-कभार वॉर्म शरीर के अन्य हिस्सों में फैल जाते हैं और गंभीर समस्या खड़ी कर सकते हैं।

डॉक्टर के मुताबिक, इस तरह के संक्रमण को रोकने के लिए टॉयलेट का प्रयोग करते वक्त स्वच्छता और पूरा पका हुआ भोजन करने की सलाह दी जाती है।

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer