अपनाएं केमिकल फ्री कॉस्मेटिक, जानें इन 5 चीजों को घर पर बनाने का आयुर्वेदिक तरीका

केमिकल फ्री आयुर्वेदिक कॉस्मेटिक का इस्तेमाल करना हर तरह से आपके शरीर के लिए सुरक्षित है। तो आइए जानते हैं इन्हें घर पर बनाने का तरीका।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: May 20, 2020Updated at: May 20, 2020
अपनाएं केमिकल फ्री कॉस्मेटिक, जानें इन 5 चीजों को घर पर बनाने का आयुर्वेदिक तरीका

केमिकल फ्री कॉस्मेटिक सामान (Chemical Free Cosmetics) इन दिनों प्रचलन में आ गया है। कोरोनावायरस के कारण घर पर रहते हुए अचानक से लोगों में घरेलू नुस्खों और प्राकृतिक चीजों के प्रति जागरूकता आ गई है। वहीं हम सभी को केमिकल्स वाले कॉस्मेटिक के नुकसान (Harmful Effects Of Cosmetics) के बारे में अच्छे से पता है। कॉस्मेटिक चीजों के इस्तेमाल का नुकसान सिर्फ हमारे बाहरी अंग जैसे कि स्किन और बालों को ही नहीं होता है, बल्कि इससे शरीर को अंदरूनी तौर भी नुकसान होता है। पर इन चीजों के बिना हमारा काम भी नहीं चल सकता। ऐसे में आप कुछ आयुर्वेदिक विकल्प भी अपना सकते हैं। तो आइए जानते हैं रोजमर्जा के किन चीजों को आप घर में ही आयुर्वेदिक तरीके से बना सकते हैं।

insideayurvedicbodywash

घर पर बनाएं ये 5 चीजें

शैंपू

सिर से शुरू करते हैं शैंपू और कंडीशनर में बहुत सारे रसायन होते हैं जो आपके बालों की गुणवत्ता को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसे में आप रेशमी मुलायम बालों के लिए एक आयुर्वेदिक शैम्पू बना सकते हैं। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है बस आपको जरूरत होगी- हिबिस्कस पौधे की कोमल पत्तियों, बेल के पत्तों के रस और काली मिर्च के पौधे की पत्तियों की। उन्हें रात भर पानी में भिगो दें। अगली सुबह, इससे पहले कि आप बाल धोएं, इन सभी को पीस कर बाल धो लें। भले ही झाग न बनें पर ये स्कैल्प की अच्छे तरीके से सफाई कर सकता है।

कंडिशनर

शैंपू की तरह ही आप घर पर ही कंडिशनर भी तैयार कर सकते हैं। इसके लिए

  • - शिकाकाई
  • -मेथी के बीज
  • -तुलसी के पत्ते
  • -हरा चना या मूंग
  • -ताजा करी पत्ते

आपको सभी अवयवों को पानी से साफ करें और सूखने के लिए बाहर रखना होगा। पूरी तरह से सूखने में उन्हें दो दिन लग सकते हैं। फिर, उन्हें एक महीन पाउडर में पीस लें। फिर बाल धोने के बाद बालों को इस पानी से धो लें।

insidetulsi

इसे भी पढें : हजारों साल के आयुर्वेदिक ज्ञान से मिले इन 5 नियमों को अपनाकर आप भी रहें स्वस्थ, जानें दोषों के लक्षण और उपचार

आयुर्वेदिक टूथपेस्ट

जब आप घर पर 100% प्राकृतिक टूथपेस्ट बना सकते हैं, तो रासायनिक-संक्रमित टूथपेस्ट विज्ञापन प्राकृतिक अवयवों के लिए क्यों जाएं? इसको बनाने के आपको एक बड़ा चम्मच कपूर, एक बड़ा चम्मच चीनी, एक चम्मच फिटकरी, दो चम्मच सूरजमुखी तेल और पांच बूंद लौंग का तेल चाहिए होगा। कपूर और फिटकरी आपके दांतों को मजबूत और सफेद बनाएंगे, जबकि लौंग का तेल आपके मसूड़ों को मजबूत करेगा। चीनी पेस्ट में मिठास डालेगी, इसलिए आप ब्रश करते समय अच्छा लगेगा। इस आयुर्वेदिक टूथपेस्ट को नीम की टहनी वाले टूथब्रश से मिलाएं। इसके लिए लगभग 24 घंटे पहले पानी में नीम की टहनी भिगोएं, ताकि यह नरम हो जाए। ब्रिसल्स के रूप में उपयोग करने के लिए एक टिप क्रश करें और पेस्ट लगाकर इस्तेमाल करें।

बाथ पाउडर या बॉडी वॉश

बाथ पाउडर या बॉडी वॉश हम में से उन लोगों के लिए है जिन्हें बहुत पसीना आता है। यह आयुर्वेदिक पाउडर न केवल आपको सुबह-सुबह तरोताजा करेगा, बल्कि पूरे दिन आपको सुगंधित भी रखेगा। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है बस बबूल के पेड़ के फल को हल्दी से मिला कर रख लें। अब उसमें 200 ग्राम चंदन और 200 ग्राम तुलसी पाउडर मिला लें। इन्हें एक महीन पाउडर में पीस लें।पाउडर को एक एयर-टाइट कंटेनर में स्टोर करें। जब भी आपको इसका इस्तेमाल करना हो, तो इसे पेस्ट बनाने के लिए थोड़े से पानी के साथ मिलाएं और इसका उपयोग करें जैसा कि आप एक बॉडी वॉश का उपयोग करते हैं।

insidesoap

इसे भी पढें : सुबह खाली पेट घी पीने से बॉडी सेल्स को मिलता है खास पोषण, जानें सेवन का सही तरीका और फायदे

आयुर्वेदिक क्रीम

इस आयुर्वेदिक क्रीम को बनाने के लिए आपको केसर और बादाम का तेल चाहिए, जो आपकी त्वचा को लाइटन करें और मुहांसो और काले धब्बों से लड़ने के लिए पोषण प्रदान करें। आपको इन क्रीम को बनाने के लिए इतना करना है कि एक कटोरी लें, उसमें कोको बटर मिलाएं, कुछ केसर डालें और बादाम का तेल मिलाकर चेहरे पर लगा लें। ध्यान रखें कि बादाम का तेल हल्का ही मिलाएं। ये छोड़ा सा क्रीम भी फेस पर लगाना आपके लिए कई तरह से फायदेमंद होगा।

Read more articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer