करवा चौथ के व्रत में जरूर अपनाएं खानपान के ये टिप्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 10, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • पूरे दिन खाली पेट रहने के बाद न खाएं ज्यादा तैलीय भोजन। 
  • आप अपना करवा चौथ व्रत कोई फल खाकर भी खोल सकती हैं।
  • पनीर के पकवान कम तेल में बना कर खाना ठीक रहता है।
  • कम मीठे की  ड्रायफ्रूट्स से भरपूर मिठाईयां भी ले सकती हैं आप।

यूं तो हर उपवास का अपना महत्व होता है, लेकिन करवा चौथ की बात जरा हटकर है। करवा चौथ का दिन किसी भी महिला के लिए खास होता है। इस दिन का इंतजार वे पूरे साल बड़ी बेसब्री से करती हैं। करवा चौथ के रोज सुहागनें और लड़कियां अन्‍न जल का त्‍याग कर अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। करवा चौथ के उपवास में महिलाएं चंद्रमा के निकलने पर अपने पति के हाथ से पानी पीकर और कुछ खाकर ही अपना उपवास खोलती हैं। चलिए जानते हैं करवा चौथ के दिन उपवास खोलने के बाद खान-पान में कैसी सावधनियां अपनानी चाहिए। 

Karwachauth In Hindi


इसे भी पढ़ें : करवा चौथ पर चेहरे को दें चांद सा निखार

 

करवा चौथ के व्रत में खानपान में बरतें ये सावधानियां

  • करवा चौथ का व्रत खोलने के बाद कई बार महिलाएं अधिक तैलीय और उच्‍च कैलोरी युक्‍त भोजन कर लेती हैं। दिन भर भूखे रहने के कारण ऐसा होना लाज़मी भी हैं। लेकिन आप चाहें तो इन तैलीय और उच्‍च कैलोरी युक्‍त व्यंजनों से बचकर भी करवा चौथ के भोजन का मजा ले सकती हैं। इससे आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा।
  • करवा चौथ के व्यंजनों के साथ ही मिठाइयों और फलों को भी महत्त्‍वपूर्ण माना जाता है। ऐसे में आप अपना व्रत कोई फल खाकर भी खोल सकती हैं।
  • जब भी आप करवा चौथ का व्रत खोलें तो ध्यान रखें कि आप पूरा दिन खाली पेट थी, इसीलिए आपको कुछ भी हैवी खाने से पहले फलों का जूस, पानी या कोई तरल पदार्थ जैसे सूप इत्यादि पीना चाहिए। इससे आप व्यंजनों का मजा भी ले सकती हैं और व्रत के बाद होने वाली कमजोरी से भी बच सकेंगी।
  • करवा चौथ के दिन आप स्वस्थ रहने के लिए दूध की चाय के बजाय ग्रीन टी या लेमन टी ले सकती हैं, इससे आपको उपवास करने में भी आसानी होगी।
  • करवा चौथ में सर्गी (सास की ओर से बहू को दी जाने वाली मिठाई या अन्‍य कोई खाद्य पदार्थ) बहुत महत्वपूर्ण होती है। सर्गी को महिलाएं अक्‍सर घर पर ही बनाना पसंद करती हैं। ऐसे में आप सर्गी में मीठा कम डालकर या फिर डायबिटीज से पीडि़त महिलाएं सर्गी बनाते समय शुगर फ्री उत्पादों का प्रयोग कर सकती हैं।
  • मीठें व्यंजनों के रूप में आप खीर भी ले सकती हैं। खीर को अधिक पौष्टिक बनाने के लिए उसमें ड्रायफ्रूट्स डाल सकती हैं। साथ ही दूध और पानी की मात्रा का भी खीर बनाते समय ध्यान रखें।
  • आमतौर पर करवा चौथ के अवसर पर महिलाएं तैलीय भोजन जैसे पूरी, आलू, पनीर इत्यादि बनाती हैं। ऐसे में आप इसके बजाय पनीर के पकवान कम तेल में बना सकती हैं।
  • मिठाइयों में आप ड्रायफ्रूट्स से भरपूर मिठाईयां ले सकती हैं जिनमें मीठे की मात्रा कम से कम हो।
  • तैलीय चीजों के बजाय आपको हल्का-फुल्का खाना लेना चाहिए ये आपकी हेल्थ के लिए फायदेमंद होगा।

इसे भी पढ़ें : स्‍वादिष्‍ट छेने की खीर

चलिए जब बात करवा चौथ के व्यंजनों की हो ही रही है तो हम आपको एक लजींज रेसपी भी बता ही देते हैं। हम आपको बता रहे हैं सेब की खीर बनाने की रेसेपी।


सेब की खीर

खीर भी आपने कई तरीके की खाई होंगी पर सेब की खीर सच मुच बड़ी लाजवाब होती है। और यदि इसे करवा चौथ के मौके पर बना कर खाया और खिलाया जाए तो बात ही क्या। सेब ज्यादातर लोगों को पसंद होता ही है और यह पौष्टिक भी होता है। साथ ही इसका स्वाद में भी लाजवाब होता है। हम आपको बता रहे हैं एप्‍पल खीर यानी की सेब की खीर बनाने की विधी। जिन लोगों को मीठा बिल्‍कुल पसंद नहीं है, अगर आप उन्‍हें यह खीर खिलाएंगी तो उन्‍हें भी यह बहुत पसंद आएगी। आइये जानते हैं सेब की खीर बनाने की विधि।


सेब की खीर बनाने की
विधि-

सबसे पहले सेब को छील कर और घिस कर एक मीडियम साइज पैन में डाल लें। अब इसमें चीनी डाल कर हल्‍की आंच पर तब तक पकाएं जब तक कि चीनी अच्‍छे से घुल न जाए। अब उसमें दूध और क्रीम मिलाएं और उबलने के लिये छोड़ दीजिये। इसे तक तक चलाते रहें जब तक कि यह क्रीमी न हो जाए। आपकी सेब की खीर तैयैर है। इसके बाद इसमें थोड़े ड्राई फ्रूट्स डाल कर सर्व करें।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कॉमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty

Read More Article On Festival Special in Hindi

 

 
Write a Review
Is it Helpful Article?YES51 Votes 19419 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर