सबके लिए नहीं फायदेमंद होती कीटो डाइट, इन 5 तरह के लोगों के लिए हो सकती है नुकसानदायक

Who Should Not Follow Keto Diet: कीटो डाइट फॉलो करना सभी के लिए फायदेमंद नहीं होता है, बल्कि कुछ लोगों के लिए यह परेशानी का सबब बन सकता है।

 

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: May 27, 2022Updated at: May 27, 2022
सबके लिए नहीं फायदेमंद होती कीटो डाइट, इन 5 तरह के लोगों के लिए हो सकती है नुकसानदायक

वजन घटाने के लिए तरह-तरह की डाइट फॉलो करते हैं, जिनमें से एक है कीटो डाइट। वजन घटाने के लिए बहुत से लोग कीटो डाइट लेना पसंद करते हैं। क्योंकि इससे अच्छे परिणाम देखने को मिलते हैं। कीटो डाइट  एक हाई फैट और लो कार्ब डाइट है, जिसमें आप अपने खाने से करीबन 75 प्रतिशत फैट, 5-10 कार्ब्स और 20 प्रोटीन लेते हैं। इस डाइट में कार्ब की मात्रा कम होने पर शरीर अपनी एनर्जी के लिए फैट निर्भर होता है। लेकिन क्या सभी के लिए कीटो डाइट लेना फायदेमंद होता है? क्या सभी लोगों को कीटो डाइट फॉलो करने से समान परिणाम देखने को मिलते हैं? जी नहीं, ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। बल्कि कुछ लोगों के लिए कीटो डाइट को फॉलो करना परेशानी का सबब बन सकता है। साथ ही अगर कोई पहले से किसी स्वास्थ्य समस्या से पीड़ित है तो कीटो डाइट को फॉलो करने से उनकी समस्याएं बढ़ सकती हैं। इस लेख में हम आपको ऐसे 5 लोगों के बारे में जिन्हें भूलकर भी कीटो डाइट फॉलो नहीं करनी चाहिए (Who Should Not Follow Keto Diet)।

आइए पहले जानते हैं वजन घटाने में कैसे फायदेमंद है कीटो डाइट (Keto Diet For Weight Loss In Hindi)

कीटो डाइट को वजन कम करने के लिए बेहद प्रभावी माना जाता है। जब आप कीटो डाइट को फॉलो करते हैं तो इसमें आप अधिक फैट डाइट में शामिल करते हैं जिससे शरीर में धीरे-धीरे कीटोन्स बनने लग जाते हैं। यह कीटोन्स आपके शरीर में मौजूद फैट को बर्न करके आपको एनर्जी देते हैं, जिससे धीरे-धीरे वजन कम होना शुरू हो जाता है। लेकिन ऐसा नहीं है कि यह सभी लोगों के लिए समान रूप से काम करती है। इसके परिणाम एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकते हैं।

Who Should Not Follow Keto Diet In Hindi

किन लोगों को कीटो डाइट फॉलो नहीं करनी चाहिए? (Who Should Not Follow Keto Diet)

1. डायबिटीज रोगी 

डायबिटीज रोगियों को वजन घटाने की सलाह दी जाती है, लेकिन इसके लिए कीटो डाइट को फॉलो नही करना चाहिए। अगर टाइप 1 डायबिटीज या टाइप 2 डायबिटीज पीड़ित व्यक्ति कीटो डाइट को फॉलो करते हैं तो इससे उनका ब्लड शुगर लेवल अनियंत्रित हो सकता है। इससे कई अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं।

इसे भी पढें: ऐसा होना चाहिए आपका हेल्दी ब्रेकफास्ट, डायटीश‍ियन से जानें नाश्‍ते को सेहतमंद बनाने के ट‍िप्‍स

2. अगर कोई महिला प्रेग्नेंट है

अगर कोई महिला प्रेग्नेंट है डिलीवरी के बाद बच्चे को स्तनपान करवा रही है, तो कीटो डाइट को फॉलो करना सिर्फ महिला के लिए नहीं शिशु के लिए भी नुकसानदायक साबित हो सकता है। क्योंकि आपके गर्भ में शिशु ग्रोइंग एज में होता है। साथ ही इस दौरान महिला को अधिक एनर्जी की आवश्यकता होती है, जो कीटो डाइट से नहीं मिल पाती है। इससे आपके बच्चे के विकास पर भी असर पड़ता है। साथ ही जन्म के समय पोषण की कमी जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।

3. पेट संबंधी समस्याएं होने पर

कीटो डाइट लेने से कुछ लोगों में कब्ज और खराब पेट जैसी समस्याएं देखने को मिलती हैं। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति पहले से पेट से जुड़ी समस्याओं का सामना कर रहा है तो इससे उसकी समस्याएं बढ़ सकती हैं। साथ ही अगर कोई व्यक्ति आंत संबंधी विकार जैसे इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (IBS) से जूझ पीड़ित है तो कीटो डाइट फॉलो करने से उनकी समस्याएं बढ़ सकती हैं।

4. जिन लोगों की सर्जरी हुई है

अगर किसी व्यक्ति ने कुछ समय पहले या हाल ही में किसी स्वास्थ्य समस्या के चलते सर्जरी करवाई है उन्हें कीटो डाइट फॉलो नहीं करनी चाहिए। ऐसा इसलिए है कि सर्जरी के बाद शरीर को स्पीडी रिकवरी की जरूरत होती है। जिसके लिए आपको कैलोरी, विटामिन, मिनरल्स प्रोटीन, फैट आदि से भरपूर आहार लेना होता है। जो कि कीटो डाइट से नहीं मिलते हैं।

इसे भी पढें: इम्यूनिटी बढ़ाने से लेकर हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल तक, जानें खरबूजा खाने के 6 फायदे

5. कम उम्र के लोग

कीटो डाइट यंग लोगों को करने की सलाह नहीं दी जाती है। खासकर 18 साल से कम उम्र वाले लोग। क्योंकि इस उम्र में उनका शारीरिक विकास होता है। इस उम्र में उन्हें बैलेंस्ड कार्ब्स, प्रोटीन व फैट आदि की जरूरत होती है। जो कि उन्हें कीटो डाइट से नहीं मिलता है। इससे उनके शारीरिक विकास में बाधा आती है।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer