Doctor Verified

कैंसर का पता लगाने के ल‍िए क‍िया जाता है सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्ट, जानें इसकी पूरी प्रक्र‍िया

कैंसर का पता लगाने के ल‍िए सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट क‍िया जाता है, जानते हैं इसके बारे में 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Apr 10, 2022Updated at: Apr 10, 2022
कैंसर का पता लगाने के ल‍िए क‍िया जाता है सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्ट, जानें इसकी पूरी प्रक्र‍िया

इस लेख में हम जानेंगे सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट के बारे में ज‍िसका पता कैंसर को पता लगाने के ल‍िए क‍िया जाता है। हालांक‍ि सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट उन लोगों के ल‍िए प्रभावी नहीं है ज‍िनमें बीमारी के लक्षण नजर नहीं आते हैं। ज‍िन लोगों की सर्जरी होती है, रेड‍िएशन थेरेपी होती है उनमें ट्यूमर होने की आशंका बढ़ने लगती है और सीए125 का स्‍तर भी बढ़ता है ज‍िसे चेक करने के ल‍िए सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट करवाने की जरूरत पड़ती है। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।  

cancer test

drdivine.com    

सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट क्‍या होता है? (What is serum tumor marker test)

कैंसर का पता लगाने के ल‍िए सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट क‍िया जाता है, इस टेस्‍ट को हम सीए125 टेस्‍ट के नाम से भी जानते हैं। सीए का मतलब कैंसर एंटीजन होता है। सीए 125 खून में पाए जाने वाला प्रोटीन माना जाता है। सीए 125 के लेवल को जांचने के ल‍िए सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट क‍िया जाता है। ये एक सामान्‍य ब्‍लड टेस्‍ट की तरह की होता है। इस टेस्‍ट के जर‍िए सीए125 नाम के प्रोटीन का पता लगाया जाता है। 

इसे भी पढ़ें- ओरल कीमोथेरेपी क्या है? डॉक्टर से जानें इसके फायदे और नुकसान   

कब करवाएं सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट? (When to opt for serum tumor marker test)

अगर आपको पेट फूलने की समस्‍या है, पेट जल्‍दी भर जाता है, भूख कम लगती है, पेट में  दर्द होता है तो आप  सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट करवा सकते हैं। पीर‍ियड्स के दौरान सीरम मार्कर ट्यूमर टेस्‍ट नहीं क‍िया जाता है। सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट करने के लि‍ए डॉक्‍टर खून का सैंपल लेते हैं। सैपल लेने के बाद डॉक्‍टर क‍िसी भी तरह के परहेज के ल‍िए नहीं कहते हैं। अगर आप क‍िसी तरह का सप्‍लीमेंट या दवा का सेवन करते हें तो आपको पहले ही डॉक्‍टर को बता देना चाह‍िए।

सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट कैसे क‍िया जाता है? (How serum tumor marker test is performed)

  • इस टेस्‍ट को करने के ल‍िए बांह के ऊपर एलास्‍ट‍िक बैंड बांधकर ब्‍लड फ्लो को रोका जाता है।
  • ब्‍लड न‍िकलने वाली जगह को दवा से साफ कर द‍िया जाता है।
  • नस में इंजेक्‍शन लगाया जाता है।
  • टेस्‍ट के ल‍िए पर्याप्‍त ब्‍लड न‍िकालकर एलाइस्‍ट‍िक बैंड को न‍िकाल द‍िया जाता है।
  • इंजेक्‍शन लगाने वाली जगह को थोड़ा दबाया जाता है।
  • जांच के ल‍िए सैंपल को लैब भेज द‍िया जाता है और र‍िजल्‍ट 3 से 7 द‍िन में आ जाते हैं।

सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट का पर‍िणाम (Result of serum tumor marker test)

cancer test tips

drdivine.com 

सीए125 का रि‍जल्‍ट 35 यून‍िट्स प्रत‍ि म‍िलीलीटर होता है तो इसके स्‍तर को सामान्‍य से अध‍िक मान ल‍िया जाता है। अगर इसका स्‍तर नॉर्मल रेंज से ज्‍यादा है तो आपको हल्‍की समस्‍या हो सकती है। नॉर्मल रेंज से अध‍िक सीए125 की मात्रा फैलोप‍ियन ट्यूब कैंसर, एंडोमैट्र‍ियल कैंसर, ओवेर‍ियन कैंसर आद‍ि के लक्षण हो सकते हैं। इसके अलावा भी कई ऐसी कंडीशन हैं जो सीए125 के स्‍तर को बढ़ा देती हैं जैसे पीर‍ियड्स, ल‍ीवर के रोग, फाइब्रॉइड आदि‍।   

इसे भी पढ़ें- कोलन कैंसर के शुरुआती लक्षण नजरअंदाज करना क्यों है खतरनाक? जानें इस बीमारी के कारण और इलाज

सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट क्‍यों करते हैं? (Serum tumor marker test importance)

  • ज‍िन मह‍िलाओं को गंभीर बीमार‍ियों का ज्‍यादा खतरा होता है उन्‍हें डॉक्‍टर वजाइनल अल्‍ट्रासाउंड के ल‍िए सीरम ट्यूमर मार्कर टेस्‍ट करवाने की सलाह देते हैं।
  • ज‍िन लोगों की जेनेट‍िक म्‍यूटेशन की फैम‍िली ह‍िस्‍ट्री है उन्‍हें भी डॉक्‍टर इस टेस्‍ट को करवाने की सलाह दे सकते हैं।
  • कैंसर के दोबारा होने की आशंका होने पर ये टेस्‍ट क‍िया जाता है। कई बार ओवेर‍ियन कैंसर के फ‍िर से होने के चांस रहते हैं ज‍िसके ल‍िए ये टेस्‍ट क‍िया जाता है।
  • अगर आपको पेर‍िटोन‍ियल कैंसर, फैलोप‍ियन ट्यूब कैंसर, एंडोमेट्र‍ियल कैंसर, ओवेर‍ियन कैंसर है तो डॉक्‍टर आपको इसे करवाने की सलाह दे सकते हैं।     

अगर आपमें कैंसर के लक्षण नजर आ रहे हैं तो आप ये टेस्‍ट डॉक्‍टर की सलाह पर करवा सकते हैं। 

main image source: drdivine.com 

Disclaimer