Doctor Verified

ओरल कीमोथेरेपी क्या है? डॉक्टर से जानें इसके फायदे और नुकसान

कैंसर के इलाज में ओरल कीमोथेरेपी इलाज को आसान बनाने का काम करती है, जानें ओरल कीमोथेरेपी के फायदे और नुकसान। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Mar 28, 2022Updated at: Mar 28, 2022
ओरल कीमोथेरेपी क्या है? डॉक्टर से जानें इसके फायदे और नुकसान

आज के समय में खानपान और लाइफस्टाइल से जुड़े कारकों की वजह से कैंसर की बीमारी लोगों में तेजी से बढ़ रही है। कैंसर की बीमारी में कीमोथेरेपी के माध्यम से इलाज किया जाता है। शरीर में मौजूद कैंसर सेल्स को खत्म करने के लिए कीमोथेरेपी का सहारा लिया जाता है। कीमोथेरेपी में कैंसर की बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए इलाज किया जाता है। कैंसर के इलाज में कीमोथेरेपी कई तरीके से की जाती है। कीमोथेरेपी का एक प्रकार है ओरल कीमोथेरेपी (Oral Chemotherapy in Hindi) जिसमें आपको दवाओं के सेवन की सलाह दी जाती है। आमतौर पर ओरल कीमोथेरेपी में आपको दवाओं का सेवन करना होता है। आइये विस्तार से जानते हैं ओरल कीमोथेरेपी के फायदे और नुकसान के बारे में।

ओरल कीमोथेरेपी क्या है? (What is Oral Chemotherapy?)

Oral-Chemotherapy-in-Hindi

कैंसर की बीमारी में इलाज के लिए कीमोथेरेपी को सबसे प्रभावी माध्यम माना जाता है। कीमोथेरेपी के माध्यम से इलाज कराने के लिए आपको एक नियमित समय के अंतराल पर अस्पताल जाना पड़ता है, जहां पर आपको इंजेक्शन आदि के माध्यम से दवाएं दी जाती हैं। SRH हॉस्पिटल के सीनियर रेजिडेंट डॉ पी के मिश्र के मुताबिक ओरल कीमोथेरेपी में आपको सिर्फ दवाओं का सेवन करना होता है। ओरल कीमोथेरेपी में कैंसर की दवा (टैबलेट या कैप्सूल) को आप मुहं के माध्यम से लेते हैं। यह दवाएं आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित की जाती हैं। ओरल कीमोथेरेपी में आपको बार-आर अस्पताल जाने की जरूरत नहीं होती है। ओरल कीमोथेरेपी में कैंसर के इलाज के लिए कई दवाएं इस्तेमाल की जाती हैं जो कैप्सूल या टैबलेट आदि के फॉर्म में हो सकती हैं।

इसे भी पढ़ें : Cancer Prevention: इलाज के बाद दोबारा हो सकता है कैंसर का खतरा, बरतें ये 5 सावधानियां

ओरल कीमोथेरेपी के फायदे (Oral Chemotherapy Benefits in Hindi)

कैंसर की बीमारी में ओरल कीमोथेरेपी के माध्यम से इलाज बहुत आसान माना जाता है। इसमें आपको बार-बार अस्प्ताल जाने की जरूरत नहीं होती है। कीमोथेरेपी में आपको एक एक्सपर्ट की निगरानी में इंजेक्शन के माध्यम से दवाएं लेनी होती हैं लेकिन ओरल कीमोथेरेपी में आपको डॉक्टर के बताये अनुसार दवाओं का सेवन करना होता है। आज के समय में ओरल कीमोथेरेपी के माध्यम से ब्रेस्ट कैंसर का इलाज, ल्यूकोमिया, प्रोस्टेट कैंसर और किडनी के कैंसर का इलाज किया जा सकता है। ओरल कीमोथेरेपी के प्रमुख फायदे इस प्रकार से हैं।

  • ओरल कीमोथेरेपी में मरीज की देखभाल अपेक्षाकृत कम करनी पड़ती है।
  • आपको बार-बार अस्प्ताल जाने की जरूरत नहीं होती है।
  • कीमोथेरेपी में इंजेक्शन का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन ओरल कीमोथेरेपी में आपको इंजेक्शन की आवश्यकता नहीं होती है।

ओरल कीमोथेरेपी के नुकसान (Oral Chemotherapy Side Effects in Hindi)

ओरल कीमोथेरेपी के माध्यम से कैंसर के मरीजों का इलाज करने में काफी आसानी होती है लेकिन इसके कई साइड इफेक्ट्स भी हैं। चाहे ओरल कीमोथेरेपी हो या सामान्य कीमोथेरेपी दोनों में ही मरीज के शरीर में कुछ साइड इफेक्ट्स देखने को मिलते हैं। लेकिन इसकी वजह से होने वाले साइड इफेक्ट्स कम समय के लिए रहते हैं और इलाज के बाद अपने आप ठीक हो सकते हैं। ओरल कीमोथेरेपी में सबसे बड़ा डर ये होता है कि अगर मरीज समय पर अपनी दवा लेना भूल जाए तो इसकी वजह से उसकी सेहत पर गंभीर असर पड़ता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक अनुमान के मुताबिक ओरल कीमोथेरेपी लेने वाले 50 प्रतिशत मरीज समय पर अपनी दवा लेना भूल जाते हैं। इसकी वजह से आपको कैंसर के इलाज में ओरल कीमोथेरेपी का फायदा नहीं मिल पाता है। ओरल कीमोथेरेपी को कई शोध और अध्ययन सामान्य कीमोथेरेपी की तुलना में कम प्रभावी मानते हैं। ओरल कीमोथेरेपी के कुछ प्रमुख साइड इफेक्ट्स इस प्रकार से हैं।

  • बाल झड़ने की समस्या।
  • स्किन के रंग में बदलाव।
  • अत्यधिक थकान महसूस करना।
  • इन्फेक्शन या फ्लू के लक्षण।
  • एक बार में अधिक दवाओं के सेवन की वजह से सेहत पर प्रभाव।

हर मरीज में कीमोथेरेपी और ओरल कीमोथेरेपी के साइड इफेक्ट्स अलग-अलग हो सकते हैं। कई बार इसकी वजह से होने वाले साइड इफेक्ट्स बहुत गंभीर हो जाते हैं जो आपकी समस्या को बहुत बढ़ा सकते हैं। ओरल कीमोथेरेपी में इस्तेमाल होने वाली कई दवाएं इतनी खतरनाक होती हैं कि उन्हें खाने के लिए आपको दस्तानों को पहनना पड़ सकता है। ऐसे में इन गोलियों को घर में बच्चे या अन्य लोगों की पहुंच से दूर रखना चाहिए। हमेशा डॉक्टर की सलाह के अनुसार की दवाओं का सेवन करना चाहिए।

(All Image Source - Freepik.com)

Disclaimer