चेहरे की झुर्रियों और एजिंग को कम करने में मदद करता है Botox, एक्सपर्ट से जानें इसके कुछ गंभीर नुकसान

बॉटक्स (Botox) यूं तो एक कॉस्मेटिक सर्जरी है, जिसका इस्तेमाल कई तरह से किया जाता है पर इससे कुछ नुकसान भी हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में विस्तार से।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Apr 22, 2021Updated at: Apr 22, 2021
चेहरे की झुर्रियों और एजिंग को कम करने में मदद करता है Botox, एक्सपर्ट से जानें इसके कुछ गंभीर नुकसान

बॉटक्स (Botox)एक तरह का उपचार है, जो कि झुर्रियों और शरीर के विभिन्न परेशानियों को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।  पर असल में  बॉटक्स एक प्रोटीन है जो बोटुलिनम विष से बना है, जो जीवाणु क्लोस्ट्रीडियम बोटुलिनम (bacterium Clostridium botulinum)पैदा करता है। यह एक तरह का वही विष है जो कि बोटुलिज्म का कारण बनता है। आज के समय में जब लोग समय से पहले बूढ़े दिखने लगते हैं या खराब लाइफ स्टाइल के कारण उनके चेहरे को नुकसान होता है, तो लोग इसे एक कॉस्मेटिक सर्जरी के रूप में इस्तेमाल करते हैं। पर इस तरह की सर्जरी जितना फायदेमंद है, उतना ही नुकसानदेह भी है। वो कैसे इसे जानने के लिए हमने प्रसिद्ध डर्मेटोलॉजिस्ट और सौंदर्य चिकित्सा चिकित्सक डॉ. निवेदिता दादू (Nivedita Dadu) से बात की। तो, आइए बॉटक्स के बारे में  डॉ. निवेदिता से जानते हैं सब कुछ।

Inside1wrinkles 

बॉटक्स क्या है (What is Botox)?

डॉ. निवेदिता दादू की मानें, तो बॉटक्स एक ऐसी दवा है जो किसी मांसपेशी को कमजोर या शिथिल करती है। साथ ही यह त्वचा को कम कर सकता है। त्वचा की टाइटनिंग और झुर्रियों को भी कम करने में मदद कर सकता है। होता ये है कि बॉटक्स नाम का ये प्रोटीनबोटुलिनम विष से बना होता है, जो कि मांसपेशियों को अनुबंधित करने वाली नसों को अवरुद्ध करके काम करते हैं और  झुर्रियों की उपस्थिति को नरम बनाते हैं। इससे फाइन लाइनों और आंखों के आसपास झुर्रियों को दूर करने के लिए प्रभावी उपाचार के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। यहआंखों के बीच माथे पर भी इस्तेमाल किया जाता है, ताकि वहां कि झुर्रियों को कम किया जा सके। वह बॉटक्स का प्राथमिक उपयोग चेहरे की झुर्रियों की उपस्थिति को कम कर रहा है। अमेरिकन बोर्ड ऑफ कॉस्मेटिक सर्जरी के अनुसार, बॉटक्स इंजेक्शन सबसे लोकप्रिय कॉस्मेटिक प्रक्रिया है। लोग अक्सर चेहरे और बालों पर इसका इस्तेमाल करते हैं। जैसे कि भौंहों के बीच की झुर्रियों को दूर करने के लिए, आंखों के चारों ओर झुर्रियों को दूर करने के लिए, माथे के बीच में,  मुंह के कोनों पर लाइनों को कम करने के लिए,  ठोड़ी पर और आंखों के नीचे काले घेरों को कम करने के लिए।

बॉटक्स तंत्रिका आपूर्ति को लक्षित करता है, तंत्रिका सिग्नलिंग को बाधित करता। ऐसी प्रक्रियाएं जो मांसपेशियों के संकुचन को उत्तेजित करती हैं और अस्थायी मांसपेशी पैरालिसिस का कारण बनती हैं। किसी भी मांसपेशी को अनुबंधित करने के लिए, तंत्रिका एक रासायनिक संदेशवाहक जारी करती है जैसे कि एसिटाइलकोलाइन (acetylcholine) जो अंत में मांसपेशियों की कोशिकाओं से मिलते हैं। एसिटाइलकोलाइन (acetylcholine), मांसपेशियों की कोशिकाओं पर रिसेप्टर्स को जोड़ता है और कोशिकाओं को अनुबंधित या छोटा करने का कारण बनता है। बॉटक्स इंजेक्शन एसिटाइलकोलाइन के रिलीज को रोकता है, जो मांसपेशियों की कोशिकाओं को रोकता है।  बोटुलिनम टॉक्सिन उपचार मांसपेशियों को कम कठोर होने में मदद करता है। बॉटक्स कॉस्मेटिक अस्थायी रूप से तंत्रिका संकेतों और मांसपेशियों के संकुचन को अवरुद्ध करके काम करता है। यह आंखों के आसपास और भौंहों के बीच झुर्रियों की उपस्थिति में सुधार करता है। यह चेहरे की मांसपेशियों के संकुचन को रोककर नई लाइनों के निर्माण को भी धीमा कर सकता है।

इसे भी पढ़ें : कोविड की वजह से ब्यूटी ट्रीटमेंट बीच में छूट गया है तो इन तरीकों से घर पर पाएं ब्राइट व टाइट स्किन

बॉटक्स का उपयोग कैसे किया जाता है?

बोटोक्स का उपयोग करने वाले सबसे आम कारण चेहरे की झुर्रियों की उपस्थिति को कम करना है। लेकिन बॉटक्स शॉट लेने से अन्य स्थितियों का इलाज करने में मदद मिल सकती है, जैसे:

  • -अंडरआर्म से ज्यादा आने वाले पसीना (हाइपरहाइड्रोसिस) को रोकने के लिए 
  • -ब्लिंकिंग जिसे आप नियंत्रित नहीं कर पाते हैं, उसे ठीक करने के लिए
  • -सरवाइकल डिस्टोनिया, एक न्यूरोलॉजिकल विकार जो गंभीर गर्दन और कंधे की मांसपेशियों की ऐंठन का कारण बनता है, उसे सही करने में। 
  • -क्रोनिक माइग्रेन को ठीक करने में
  • -ओवर एक्टिव ब्लैडर को ठीक करने में। 
Inside2earbotox

बॉटक्स के फायदे-Benefits of Botox

बॉटक्स एक विष है, लेकिन जब सही तरीके से और छोटी खुराक में उपयोग किया जाता है, तो इसके कई कारण हो सकते हैं। इसके कॉस्मेटिक और मेडिकल उपयोग दोनों हैं। बॉटक्स इंजेक्शन त्वचा की झुर्रियों की उपस्थिति को कम करने के लिए यह अस्थायी रूप से मांसपेशियों को आराम कर सकता है, जिससे लाभ हो सकता है। विभिन्न मांसपेशी या तंत्रिका विकार वाले लोग बॉटक्स का उपयोग मांसपेशियों में ऐंठन नियंत्रण के लिए करत हैं। गंभीर अंडर आर्म पसीना को कम करने के लिए भी इसका इस्तेमाल होता है। बॉटक्स इंजेक्शन इंजेक्ट किए जाते हैं मांसपेशियों में, जहां यह उन ऊतकों में तंत्रिका आवेगों को रोकता है। मांसपेशियों की गतिविधि  के कारण झुर्रियां कम हो जाती हैं, और यह आपके रूप को नरम और छोटा बना देती है। बॉटक्स फेशियल लाइनों को नरम करने में भी मदद कर सकता है लेकिन हम हमेशा के लिए इनसे छुटकारा नहीं पा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें : आपकी खूबसूरती में चार चांद लगा सकते हैं ये 6 ब्यूटी ट्रीटमेंट, एक्सपर्ट से जानें इनके खास फायदे

बॉटक्स के नुकसान -Side effects of Botox

 बोटोक्स उपचार झुर्रियों के लिए सबसे प्रभावी उपचार है। लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं। जैसे कि

  • -इसके साइड इफेक्ट्स में सबसे पहले इंजेक्शन लगने वाली जगह पर दर्द होता है। इसके अलावा कई बार संक्रमण और सूजन की भी लोग शिकायत करते हैं। 
  • -सूजन और रेडनेस भी कई बार लोग  बॉटक्स के नुकसान के रूप में महसूस करते हैं।
  • -कई बार ब्लीडिंग और चोट जैसे भी हल्के साइड इफेक्ट्स नजर आते हैं। 
  • - बहुत से लोगों को बॉटक्स करवाने के बाद एलर्जी की प्रतिक्रिया होती है, जैसे कि खुजली, घरघराहट, अस्थमा, दाने निकल आना, लाल धब्बे, चक्कर आना और बेहोशी। 
  • -इसके अलावा कई बार बॉटक्स साइट और आसपास के ऊतकों को प्रभावित करते हैं। 
  • -मुंह का सूख जाना, थकान, सिरदर्द और गर्दन में दर्द आदि जैसे लक्षण भी नजर आते हैं।
  • -कुछ दुर्लभ मामलों में, ड्रॉपिंग पलकें या भौहें में भी कुछ परेशानियां महसूस होती हैं।

ऐसे मामलों में आप अपने एक्सपर्ट से बात करें, हालांकि कुछ महीनों के भीतर अपनी प्राकृतिक स्थिति में ये आ कर ठीक हो जाता है। साथ ही कोशिश करें कि इन साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए एक्सपर्ट से इसे करवाएं और करवाने से पहले अपनी स्वास्थ्य स्थितियों को अच्छी तरह से जान लें। 

बॉटक्स होने में केवल कुछ मिनट लगते हैं। आपको इसमें एनेस्थीसिया की जरूरत नहीं होती है। इसमें एक्सपर्च केवल छोटी सी असुविधा के साथ विशिष्ट मांसपेशियों में बॉटक्स को इंजेक्ट करने के लिए एक छोटी सुई का उपयोग करता है। आम तौर पर पूर्ण प्रभाव लेने में 7 से 14 दिन लगते हैं। प्रक्रिया से कम से कम 1 सप्ताह पहले शराब आदि से बचना सबसे अच्छा है। आपको उपचार से 2 सप्ताह पहले एस्पिरिन और सूजन-रोधी दवाएं लेना बंद कर देना चाहिए ताकि घाव को रोकने में मदद मिल सके। 24 घंटे के लिए इंजेक्शन साइट को रगड़ने से बचें ताकि आप बोटोक्स को दूसरे क्षेत्र में न फैलाएं। आपका डॉक्टर आपको शॉट्स के बाद 4 घंटे तक सीधा रहने और व्यायाम करने से एक दिन की छुट्टी लेने के लिए भी कह सकता है। तो, अगर आप बॉटक्स करवाने के बारे में सोच रहे हैं, तो अपने एक्सपर्ट से बात करें और सब कुछ समझ कर ही इसे अपनाएं। 

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer