अपच, डायरिया, बुखार जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करता है तुलसी का चूर्ण, जानें घर पर बनाने का तरीका

तुलसी के बीज, पत्‍त‍ियों से चूर्ण तैयार क‍िया जाता है जो बुखार, पेट से जुड़ी समस्‍याओं को ठीक करने में मदद करता है, आइए जानते हैं इसके फायदे

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Sep 06, 2021 10:29 IST
अपच, डायरिया, बुखार जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करता है तुलसी का चूर्ण, जानें घर पर बनाने का तरीका

ज्‍यादातर घरों में तुलसी का पौधा पाया जाता है या आसपास आसानी से म‍िल जाता है, इस पौधे में कई औषध‍िय गुण होते हैं। तुलसी का पत्‍ता चबाने से मुंह से जुड़ी बीमार‍ियां, पेट से संबंधी श‍िकायतें दूर होती हैं। तुलसी का बीज भी च‍िकित्‍सा गुणों से भरपूर होता है। तुलसी के पत्त‍ियों और बीज का चूर्ण भी तैयार क‍िया जाता है। इससे बुखार, अपच, डायर‍िया जैसी समस्‍याएं दूर होती हैं। बुखार की समस्‍या दूर करने के लि‍ए भी तुलसी का चूर्ण फायदेमंद माना जाता है। इस लेख में हम तुलसी का चूर्ण बनाने का तरीका और उसके फायदों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

tulsi churna

(image source:tarladalal)

तुलसी का चूर्ण कैसे बनाएं? (How to make tulsi churna)

  • तुलसी का चूर्ण बनाने के ल‍िए आप तुलसी के बीजों को कूटकर पीस लें।
  • अब उसमें काला नमक, दालचीनी पाउडर, सौंफ पाउडर, म‍िला लें। 
  • आप चाहें तो काली मिर्च को कूटकर भी डाल सकते हैं। 
  • सब चीजों को अच्‍छी तरह से म‍िला लें। 
  • अब आप इस चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। 
  • चूर्ण बनाने के लि‍ए आप तुलसी के पाउडर में म‍िश्री म‍िलाकर पीसकर खा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- पाचन तंत्र मजबूत करने और इम्‍यून‍िटी बढ़ाने के ल‍िए करें जंगली लहसुन का सेवन, जानें अन्‍य फायदे

1. अपच की समस्‍या को दूर करे तुलसी चूर्ण (Tulsi churna cures indigestion)

रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय ढूंढ रहे हों या अपच की समस्‍या हो आप तुलसी के चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। तुलसी के चूर्ण का सेवन गुनगुने पानी के साथ करें तो अपच की समस्‍या दूर हो जाएगी। आपको इसे द‍िन में तीन से चार बार लेना है। 

2. बुखार को उतारने के लि‍ए खाएं तुलसी चूर्ण (Tulsi churna cures fever)

तुलसी के चूर्ण को लौंग डालकर बनाएं और उसमें सेंधा नमक डालकर चाय या गुनगुने पानी के साथ पीएं। इससे बुखार उतर जाता है। आप तुलसी के चूर्ण में शहद म‍िलाकर उसे चाटें तो कफ की समस्‍या दूर होती है।

3. डायर‍िया म‍ें राहत द‍िलाएं तुलसी का चूर्ण (Tulsi churna cures diarrhea)

tulsi churna uses

(image source:punjabkesari)

अक्‍सर गलत खाने के कारण लोगों को डायर‍िया की समस्‍या हो जाती है। ये समस्‍या बच्‍चे या बड़े क‍िसी को भी हो सकती है। डायर‍िया, पेट में दर्द जैसी समस्‍याओं को दूर करने के लि‍ए आप तुलसी के चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। डायर‍िया की समस्‍या से न‍िजात पाने के ल‍िए आप तुलसी के चूर्ण में जीरा म‍िलाकर उसे खाएं तो ज्‍यादा फायेदा पहुंचेगा। 

4. मुंह की बदबू दूर करे तुलसी चूर्ण (Tulsi churna helps to get rid of mouth smell)

कमजोर पाचन तंत्र के चलते मुंह से बदबू आने की समस्‍या लोगों को अक्‍सर होती है, इसे ठीक करने के ल‍िए भी आप तुलसी के चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। तुलसी का चूर्ण खाने से मुंह की दुर्गन्‍ध खत्‍म होती है।

इसे भी पढ़ें- घाव, खुजली, जलन जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करता है पित्तपापड़ा का पौधा, जानें इसके प्रयोग

5. रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ाए तुलसी चूर्ण (Tulsi churna boosts immunity)

शरीर की रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ाने और मौसमी बीमार‍ियों से बचने के ल‍िए न‍ियम‍ित तौर पर तुलसी के चूर्ण का सेवन फायदेमंद होता है। सर्दी-जुकाम जैसी समस्‍या को दूर करने के लि‍ए आप तुलसी का चूर्ण खा सकते हैं। 

तुलसी का चूर्ण कैसे इस्‍तेमाल करें? (How to use tulsi churna) 

आप तुलसी चूर्ण को खाने के बाद भी खा सकते हैं। सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ तुलसी के बीज का चूर्ण खाना भी फायदेमंद होता है। तुलसी का चूर्ण आप फ्रेश बनाकर दो से तीन द‍िनों तक स्‍टोर सकते हैं। इसे स्‍टोर करने के लि‍ए एक साफ एयरटाइट कंटेनर लें और उसमें चूर्ण रखकर इस्‍तेमाल करें। 

अगर आप क‍िसी बीमारी से पीड़‍ित हैं तो आयुर्वेद‍िक डॉक्‍टर से सलाह लेकर ही तुलसी के चूर्ण का इस्‍तेमाल करें। 

(main image source:samruddhiorganic, i.pinimg.com)

Read more on Ayurveda in Hindi 

Disclaimer