Eye Care: आंखों में रहती है थकान, तो इस आसान उपायों से करें इसे फिर से तरो ताजा

आंखों में थकान होना एक सामान्य बात है। कई बार आंखों में थकान के कारण आपको दर्द, खुजली व परेशानी का सामना करना पड़ता है। हालांकि इस थकान को दूर करने के लिए आपको बहुत कुछ करने की जरूरत नहीं होती, बस आप कुछ आसान टिप्स अपना कर इस थकान को दूर कर सकते है

मिताली जैन
अन्य़ बीमारियांWritten by: मिताली जैनPublished at: Oct 28, 2019
Eye Care: आंखों में रहती है थकान, तो इस आसान उपायों से करें इसे फिर से तरो ताजा

आंखें शरीर का सबसे सेंसेटिव हिस्सा होती हैं और शायद सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक यही सबसे अधिक काम करती हैं। खासतौर से, जिन लोगों का काम अधिकतर स्क्रीन का है या फिर जिन्हें बहुत ही बारीकी का काम करना पड़ता है, उनकी आंखें बेहद जल्द थक जाती है। आंखों में थकान होने पर खुजली या जलन का अहसास होता है। हालांकि यह गंभीर नहीं होता, लेकिन फिर भी आंखों की थकान को दूर करने के लिए आपको कुछ कदम उठाने पड़ते हैं ताकि आपकी आंखों पर बहुत अधिक जोर न पड़े और आपकी आंखें रिलैक्स होेकर अपना काम कर सकें। जब आंखों पर सही तरह से ध्यान नहीं दिया जाता है और वह बहुत अधिक थक जाती हैं तो आपको सिरदर्द, डबल विजन, धुंधला दिखाई देना आदि समस्याएं भी होने लगती हैं।  तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे आसान टिप्स बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप आंखों की थकान को आसानी से दूर कर सकते हैं- 

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

सुनेत्रम आई केयर की आई स्पेशलिस्ट डॉ. रत्नामाला मृणालिनी कहती हैं कि आंखों को शरीर के अन्य अंगों की अपेक्षा अधिक देखभाल होती हैं क्योंकि यह अन्य अंगों की अपेक्षा अधिक नाजुक हैं और सुबह आंख खुलने से लेकर रात को सोने तक इन्हें काम करना पड़ता है। इसलिए इन्हें रिलैक्स करने के लिए आपको जब भी समय मिले, आप आंखें बंद करके उसके उपर खीरा या ठंडे टी-बैग्स रखें। यह आपकी आंखों को सूदिंग इफेक्ट देते हैं। वहीं अगर आपके पास कुछ नहीं है तो काम के बीच-बीच में बस आंखों को बंद करके कुछ सेकंड के लिए बैठ जाएं। इससे भी आंखों की थकान  दूर होती हैं। वहीं आप नियमित रूप से आंखों के कुछ सूक्ष्म व्यायाम भी कर सकते हैं। यह आपकी आंखों को हेल्दी बनाता है।

जब कंप्यूटर पर करें काम

आपकी आंखें कंप्यूटर पर काम करते हुए जल्दी न थकें, इसके लिए आप अपनी कंप्यूटर स्क्रीन को आंखों से 20-26 इंच दूर और आंखों के स्तर से थोड़ा नीचे रखें। इसके अलावा अपनी कंप्यूटर स्क्रीन को रोज साफ करें। कंप्यूटर स्क्रीन पर मौजूद धूल-मिट्टी या फिंगर प्रिंट के कारण आपको ग्लेयर या रिफलेक्शन की समस्या हो सकती है। साथ ही समय के अनुसार, कंप्यूटर स्क्रीन की लाइटिंग को भी जरूर एडजस्ट करें ताकि आपकी आंखों पर अतिरिक्त जोर न पड़े।

इसे भी पढें: आंख की चोट से खुद की रक्षा करने के आसान तरीके

बदलें काम की आदतें

अगर आप चाहते हैं कि आपकी आंखें व आप स्वयं भी हेल्दी रहें तो आप 20-20-20 रूल को अपनाएं। अर्थात् पहले 20 मिनट तक काम करें और फिर बीस कदम चहलकदमी करें। इसके बाद कम से कम 20 सेकंड के लिए आंखों को बंद करके रखें। इतना ही नहीं, लगातार कंप्यूटर स्क्रीन पर देखने से आंखें कमजोर हो जाती हैं। इसलिए कुछ देर बाद आंखों को ब्लिंक जरूर करें। इससे आंखों में ड्राईनेस नहीं आती।

लाइटिंग पर फोकस

आपको शायद पता न हो लेकिन आंखों के जल्दी थकने या उन पर अतिरिक्त जोर पड़ने का एक मुख्य कारण लाइटिंग भी होता है। मसलन, अगर खिड़की से तेज धूप या प्रकाश अंदर आ रहा हो या फिर इनडोर की लाइटिंग ही कुछ ऐसी हो, जिससे आंखों को अधिक मेहनत करनी पड़ती हो। इसलिए अगर तेज प्रकाश बाहर से आ रहा है तो आप खिड़की पर परदे या शेड्स लगाकर उस रोशनी को मिनिमाइज कर सकती हैं। वहीं इनडोर में भी आप कम लाइट वाले बल्ब या फ्लोरोसेंट ट्यूब का उपयोग करें।

इसे भी पढें: चलती गाड़ी में है किताब पढ़ने की आदत? तो इस रोग के लिए रहें तैयार

रखें आंखों का ख्याल

  • अगर आप चाहते हैं कि आपकी आंखें जल्दी न थकें या उन पर किसी तरह का जोर न पड़े तो आप उनका सही तरह से ख्याल रखें। इसके लिए आप गर्म पानी में भिगोए हुए वॉशक्लॉथ को आंखों पर रखें। इससे आपको आंखों की थकान से आराम मिलेगा।
  • एक हेल्दी डाइट लें और उनमें विटामिन ए युक्त ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करें, जो आपकी आंखों को हेल्दी बनाते हों।
  • जब जरूरत न हो तो आप स्क्रीन से थोड़ी दूरी ही बनाएं और अपनी आंखों को ब्रेक देने की कोशिश करें।

Inputs: Dr. Swarnima Agrahari, MBBS, MS Ophthalmology, Manohar Das Eye Hospital, Prayagraj

Read More Article on Other Diseases In Hindi 

Disclaimer