गर्भावस्था के दौरान इन चीजों को न करें नजरअंदाज, हो सकते हैं गर्भपात के संकेत

गर्भपात के कई कारण हो सकते है, लेकिन इससे बचने के लिए इसके संकेतों को समझना बहुत जरूरी है। इस लेख को पढ़ें और गर्भपात के संकेत जानें।

सम्‍पादकीय विभाग
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Oct 18, 2013
गर्भावस्था के दौरान इन चीजों को न करें नजरअंदाज, हो सकते हैं गर्भपात के संकेत

कोई भी महिला जब गर्भधारण करती है, तो वह यह कल्पना भी नहीं कर सकती कि उसे गर्भपात अर्थात मिसकैरेज जैसी समस्या से गुजरना पड़ सकता है। लेकिन कई बार लापरवाही या अनजाने में ही गर्भपात हो जाता है तो कई बार कुछ अन्य कारणों से गर्भावस्था को क्षति हो जाती है। एक अध्ययन के अनुसार लगभग 30 फीसदी महिलाओं का गर्भपात तब हो जाता है जब उन्हें इस बात का पता भी नहीं रहता कि वह गर्भवती हैं। वहीं दूसरी ओर 15 फीसदी महिलाओँ का गर्भपात मात्र 15 हफ्ते के अंदर ही हो जाता है।वैसे तो गर्भपात होने के अनेक कारण हो सकते हैं जैसे, धूम्रपान, शराब पीना या गर्भ निरोधक दवाओं का अधिक सेवन आदि। गर्भपात में महिला के शरीर से कुछ भ्रूण का हिस्सा और शिशु के आसपास का तरल पदार्थ बाहर निकल जाता है। अधिकतर गर्भपात गर्भावस्था के सोलह हफ्तों में ही हो जाते हैं। ऐसे में शरीर में दिखने वाले संकेतों को पहचानना बहुत जरूरी है। 

गर्भपात के संकेत 

पेट दर्द

गर्भावस्था के दौरान कई बार पेट दर्द की समस्या या नाभि से नीचे के हिस्से में दर्द महसूस होता है लेकिन ज्यादातर ये गर्भावस्था का ही दर्द होता है। लेकिन कई बार ये दर्द गर्भपात का भी हो सकता है। पेट दर्द गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कई तरह की परेशानियों से गुजरना पड़ता है। कुछ औरतों को पूरे नौ महीने शरीर के अलग अलग हिस्सों में दर्द की शिकायत रहती है जो सामान्य है। यदि आपको पीरियड्स की तरह ऐंठन के साथ या फिर ब्लीडिंग की शिकायत हो तो यह किसी खतरे का अंदेशा हो सकता है इसलिए इस अवस्था में बेहतर यही होगा कि आप अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।

इसे भी पढ़ें: जानें टूथपेस्ट से प्रेगनेंसी टेस्ट करना कितना सही?

डिस्चार्ज 

गर्भावस्था के दौरान डिस्चार्ज होना एक आम समस्या होती है। यदि यह सामान्य से अधिक होने लगे या फिर इसमें से किसी तरह की गंध आने लगे तो यह किसी संक्रमण का भी संकेत हो सकता है। इसके अलावा अगर आपके वजाइना पर यह फिर आपके पेल्विक एरिया के आस पास हल्का सा दबाव पड़ने लगे तो इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं है। यदि यह दबाव अधिक लगने लगे तो इसका मतलब है कि आपका गर्भाशय कमजोर हो रहा है। 

ब्लीडिंग 

गर्भपात का सबसे प्रमुख लक्षण एक ब्लीडिंग भी है, लेकिन जरूरी नहीं कि अगर किसी महिला को गर्भावस्था के दौरान ब्लीडिंग होती है तो इसका मतलब ये नहीं कि ये गर्भापत का ही संकेत हो। अगर आपको स्पॉटिंग या फिर थक्को के साथ ब्लीडिंग की समस्या हो रही हो तो ऐसे में तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। ब्लीडिंग के साथ ऐंठन चिंताजनक हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें: सफेद पानी के स्राव को ठीक करेगा ये अचूक उपाय है फायदेमंद, जानें अपनाने के सही तरीके

कमर दर्द

अगर आपके पीठ के नीचे के हिस्से में या फिर पेल्विक एरिया में दर्द होता है तो आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, ये गर्भपात का संकेत हो सकता है। कई गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था में ऐसे दर्द होते हैं। लेकिन अगर आपको लगातार और ज्याद तेज दर्द महसूस होता है तो आपको इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। 

 

Read more articles on Women's Health in Hindi

 

Disclaimer