क्या ज्यादा नर्म और मुलायम बिस्तर पर सोने से सेहत को नुकसान पहुंचता है? डॉक्टर से जानें पूरी बात

अगर आप भी ज्यादा नर्म या मुलायम बिस्तर पर सोते हैं तो यहां डॉक्टर से जानें इससे होने वाले नुकसान। 

 
Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Jul 01, 2021Updated at: Jul 01, 2021
क्या ज्यादा नर्म और मुलायम बिस्तर पर सोने से सेहत को नुकसान पहुंचता है? डॉक्टर से जानें पूरी बात

आज के समय में हमारी जीवनशैली में इतने बदलाव आ चुके हैं कि हर कोई आरामदायक अवस्था में ही रहना चाहता है। आजकल लोगों को नर्म और मुलायम बिस्तर पर सोने की ऐसी आदत पड़ गई है कि उन्हें हार्ड या फिर सपाट बिस्तर पर नींद ही नहीं आती है। आप शायद इस बात से अंजान होंगे कि ज्यादा नर्म बिस्तर पर सोने से आपको कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। जब आप ज्यादा नर्म बिस्तर पर सोते हैं तो इस दौरान आपकी शरीर के कुछ अंगों पर दबाव पड़ता है। जिससे उनमें दर्द होने की आशंका भी बढ़ जाती है। ऐसी आदत सबसे ज्यादा आपकी स्पाइन को प्रभावित करती है, जिससे स्पाइन के आस-पास के अंग जैसे हिप्स और लोअर बैक में भी दर्द बढ़ सकता है। इसी विषय पर अधिक जानकारी लेने के लिए हमने मुंबई के पीडी हिंडूजा हॉस्पिटल एंड एमआरसी की फिजियोथेरेपी डिपार्टमेंट की हेड डॉ. शिवांगी (Dr. Shivangi Borkar, Head Physiotherapy Department, PD Hinduja Hospital & MRC, Mumbai)  बोरकर से बातचीत की। आइये जानते हैं क्या वाकई ज्यादा मुलायम बिस्तर पर सोना आपको नुकसान पहुंचा सकता है? 

backpain

1. स्पाइन को पहुंचता है नुकसान (Damage to the Spine)

फिजियोथेरी हेड डॉक्टर शिवांगी बोरकर ने बताया कि सोने के दौरान भी आपकी स्पाइन को प्रॉपर सपोर्ट की आवश्यकता होती है। वहीं जब आप ज्यादा नर्म बिस्तर पर सोते हैं तो इस दौरान आपकी स्पाइन बिस्तर में दबी या झकी होती है, इस दौरान स्पाइन को कोई सपोर्ट नहीं रहता है। जिससे आपकी मसल्स ओवरस्ट्रेच होती है, इस कारण आपको कुछ ही समय में बैक पेन की भी समस्या हो सकती है। वहीं ऐसा करने से आपकी हड्डियों की अलाइनमेंट ठीक नहीं रहती है। वहीं अगर आप ज्यादा नर्म बिस्तर पर सोने के साथ ही तकिया को भी उंचा करकर लगा रहे हैं तो आपको सर्वाइकल पेन की भी समस्या हो सकती है।  

इसे भी पढ़ें - शरीर और दिमाग की थकान को चुटकियों में दूर करेंगी ये 5 टिप्स, तुरंत हो जाएंगे दोबारा 'चार्ज'

2. स्टिफनेस और कमर दर्द की समस्या (Stiffness and Back pain Problem)

कमर दर्द की समस्या सीधे आपके सोने, उठने, बैठने और झुकने के तरीकों से जुड़ी हुई है। खराब पोश्चर हमेशा कमर दर्द को बढ़ावा देता है। ज्यादा गर्म बिस्तर पर सोने से आपके हिप्स और पीठ शिथिल हो जाती हैं। जिससे आपको कमर दर्द होने की अधिक आशंका रहती है। ज्यादा नर्म बिस्तर पर सोने से आपकी स्पाइन और बॉडी को कोई सपोर्ट नहीं मिलता है और आपका बॉडी पोश्चर ठीक नहीं रहता है। जिससे सोकर उठने के बाद गर्दन, कमर और कंधों आदि में स्टिफनेस हो जाती है, जो आपकी दिनचर्या को प्रभावित करने के लिए काफी है।   

3. गर्दन में हो सकता है दर्द (Can Cause Neck Pain)

डॉ. शिवांगी बोरकर के मुताबिक ज्यादा नर्म बिस्तर पर सोने से आपको गहरी नींद जरूर आती है, लेकिन सोने के दौरान लंबे समय तक एक ही पोजिशन बनाए रखने से यह आपको गर्दन दर्द की भी समस्या दे सकता है। नर्म बिस्तर पर सोते समय व्यक्ति की गर्दन रीढ़ की हड्डी की सीध में न रहकर किसी भी डायरेक्शन में मुड सकती है। जिससे कई बार सुबह उठने के दौरान आपकी गर्दन में दर्द होने लगता है या कई बार गर्दन एक तरफ को मुड जाती है। इसलिए आपको सोने के दौरान भी गर्दन को रीढ़ की हड्डी की सीध में रखना है। 

kneepain

4. हड्डियों के लिए नुकसानदायक (Harmful for Bones)

ज्यादा नर्म या मुलायम बिस्तर पर सोने से आपको हड्डियों की समस्या हो सकती है। अगर आप पहले से ही हड्डी संबंधित समस्या से जूझ रहे हैं तो आपको ऐसी गलती बिलकुल नहीं करनी चाहिए। ऐसा करने से आपकी हड्डियों का अलाइनमेंट सही नहीं रहता साथ ही लंबे समय तक इस आदत को बनाए रखने से आपकी बोन फ्लैक्सिबिलिटी भी कम हो सकती है। यह आपके बोन प्रोमिनेंस को भी नुकसान पहुंचा सकता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक अर्थराइटिस या फिर लोअर बैक पेन से ग्रस्त व्यक्ति को तो खासतौर पर फॉम मैट्रेस का इस्तेमाल करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें - मूड खराब हो तो करें ये 5 काम, Luke Coutinho से जानें तुरंत मूड सही करने में क्यों फायदेमंद हैं ये तरीक

बचाव के लिए क्या करें (How to protect)

  • डॉ. शिवांगी बोरकर ने बताया कि ज्यादा सॉफ्ट बिस्तर का इस्तेमाल करने की बजाय आपको फॉम मैट्रेस पर सोना चाहिए। 
  • इससे आपका बॉडी पोश्चर बैलेंस रहेगा। स्पाइन एक्सपर्ट्स या फिजियोथेरेपिस्ट की मानें तो कॉटन की मैट्रेस पर सोना स्पाइन की हेल्थ के लिए काफी अच्छा माना जाता है। 
  • अगर आप सोने के लिए मैट्रेस का सही चुनाव नहीं कर पा रहे हैं तो अपने डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। 
  • डॉ. शिवांगी के अनुसार नर्म बिस्तर पर सोने के बाद दर्द होने पर आप कोल्ड पैक और हॉट पैक जैसी पेन मॉडेलिटी का सहारा ले सकते हैं, लेकिन उससे पहले आपको अपना बिस्तर बदलने की जरूरत है। 

यह लेख चिकित्सक द्वारा प्रमाणित है। इससे यह साबित होता है कि ज्यादा नर्म बिस्तर पर सोना आपको निश्चित तौर पर नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए लेख में चिकित्सक द्वारा दी गई टिप्स को फॉलो कर सकते हैं। 

Read more Articles on Body and Mind in Hindi

Disclaimer