मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है छुट्टियों में बाहर घूमना, जानें इसके फायदे

छुट्ट‍ियों के दौरान घूमना हमारे मानस‍िक स्‍वास्‍थ्‍य के ल‍िए फायदेमंद होता है, आप भी जानें घूमने के फायदे 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 30, 2021
मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है छुट्टियों में बाहर घूमना, जानें इसके फायदे

छुट्ट‍ियों के समय घर पर बैठने से अच्‍छा है आप छोटी ट्र‍िप पर जाएं। घूमने से हमारा मानस‍िक और शारीर‍िक स्‍वास्‍थ्‍य बेहतर होता है। घूमने से हमें पॉज‍िट‍िव‍िटी म‍िलती है, माइंड को एनर्जी म‍िलती है और हमारी कार्य क्षमता भी बढ़ जाती है। द‍िमाग को भी र‍िलैक्‍स होना अच्‍छा लगता है, आप द‍िमाग को आराम देंगे तो बेहतर तरीके से काम कर सकेंगे। छुट्टि‍यों में घूमने से आपका स्‍ट्रेस कम होता है, मन को खुशी म‍िलती है और आप समस्‍याओं से निकलकर कुछ समय के ल‍िए र‍िलैक्‍स कर पाते हैं। इस लेख में हम छुट्टि‍यों के दौरान घूमने के फायदों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के बोधिट्री इंडिया सेंटर की काउन्‍सलिंग साइकोलॉज‍िस्‍ट डॉ नेहा आनंद से बात की।

travelling and mind

(image source:google)

1. छुट्टि‍यों में घूमने से स्‍ट्रेस कम होता है (Travelling can reduce stress) 

अगर आप तनाव के लक्षण से घ‍िरे हैं तो आपको छुट्टियों में कहीं घूमने का प्‍लान जरूर बनाना चाह‍िए। साइकोलॉज‍िस्‍ट ये मानते हैं क‍ि घूमने से स्‍ट्रेस कम होता है। घूमने से कॉर्ट‍िसोस लेवल कम होता हे ज‍िससे आप र‍िलैक्‍स फील करते हैं। रोजाना काम और डेली लाइफ के बीच इंसान परेशान होने लगता है और लाइफ से उसका इंट्रेस्‍ट कम हो जाता है ज‍िसे बढ़ाने के ल‍िए आपको महीने में कम से कम एक बार घूमने जरूर जाना चाह‍िए। इससे आपका माइंड र‍िलैक्‍स होगा, आपको एनर्जी भी म‍िलेगी।

इसे भी पढ़ें- गलत तरीके से मेड‍िटेशन (ध्यान) करने के हो सकते हैं ये 5 नुकसान, मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ सकता है बुरा असर

2. छुट्ट‍ियों में घूमने से माइंड को खुशी और एनर्जी मिलती है (Travel to get a happy mind & body)

जब भी आप कोई ट्र‍िप प्‍लान करते हैं आपका मन उस जगह जाने के ल‍िए उत्‍सुक रहता है और खुश रहने के ल‍िए नई जगह जाना, नए अनुभव जरूरी होते हैं। हालांक‍ि आपको अपना ट्र‍िप बनाने के साथ उसे प्‍लान भी करना है तभी आप ट्र‍िप पर इंजोए कर सकेंगे। अगर आप बहुत समय से खुद को ड‍िप्रेस फील करवा रहे हैं तो छुट्ट‍ियों पर जाएं, नैचुरल वातावरण के बीच आपके माइंड और बॉडी को एनर्जी भी म‍िलेगी और आप खुशी के साथ वाप‍िस लौटेंगे।

3. छुट्ट‍ियों में ट्रैवल करने से द‍िमाग तेज होता है (Travelling can help to get sharp mind)

travelling and mental health

(image source:google)

अगर आप ट्रैवल करते रहते हैं तो आपको चीजों की बेहतर जानकारी होगी, अलग-अलग अनुभव और सफर के दौरान आने वाली चुनौत‍ियों का सामना करके आपका माइंड शार्प यानी द‍िमाग तेज होता है। घूमने के दौरान आपकी मुलाकात कई लोगों से होती है ज‍िससे ज‍िंदगी का नया नजर‍िया पता चलता है, हो सकता है आपकी उलझन का जवाब भी आपको घूमने के दौरान म‍िल जाए। साइकोलॉज‍िस्‍ट मानते हैं क‍ि घूमने से हमारा द‍िमाग खुलता है और हम नई चीजों के बारे में सोच सकते हैं।

4. घूमने से माइंड र‍िलैक्‍स होता है (Trips provide healthy and relax mind)

घूमने से आपका माइंड र‍िलैक्‍स होता है, बहुत से लोग सेंस‍िट‍िव नेचर के होते हैं उनके द‍िमाग में बहुत सी बातें चलती रहती है ज‍िस कारण से वो र‍िलैक्‍स फील नहीं कर पाते। आपको समय-समय पर घूमने जाना चाहि‍ए ताक‍ि ड‍िप्रेशन के लक्षण या दुख आपको घेर न पाए और माइंड र‍िलैक्‍स रहे। कोश‍िश करें क‍ि आप नेचर के करीब जा सकें, इससे आपकी बॉडी को पॉज‍िट‍िव‍िटी म‍िलेगी।

इसे भी पढ़ें- अपने लुक्स (शारीरिक बनावट, रंग, कद) को लेकर चिंतित रहना डालता है मानसिक सेहत पर बुरा असर, जानें बचाव के टिप्स

5. घूमने से क्र‍िएट‍िव‍िटी बढ़ती है (Travelling enhances creativity)

travelling and health

(image source:google)

घूमने से क्र‍िएट‍िव‍िटी बढ़ती है। आपकी लोज‍िकल थ‍िक‍िंग बढ़ती है ज‍िससे आप समस्‍याओं का समाधान आसानी से न‍िकाल पाते हैं। नई जगह जाने से आप अपने द‍िमाग को पूरी तरह से इस्‍तेमाल करते हैं ज‍िससे द‍िमाग की कसरत होती है। घूमने से आप द‍िमाग को बेहतर तरीके से इस्‍तेमाल करते हैं ज‍िससे ब्रेन चीजों पर अच्‍छी तरह से फोकस कर पाता है। जिन लोगों की याद्दाश अच्‍छी नहीं है या उन्‍हें भूलने की बीमारी है उन्‍हें हर महीने जरूर घूमना चाह‍िए।

अब जब आपने घूमने के फायदे जान ही ल‍िए हैं तो इस बार वीकेंड पर बैग पैक करें और नए सफर की ओर बढ़ें। अपने साथ समय ब‍िताना हम सबके मानस‍िक स्‍वास्‍थ्‍य के ल‍िए जरूरी है।

(main image source:womenshelf, google)

Read more on Mind & Body in Hindi 

Disclaimer