गर्मी में जरूर पिएं सौंफ का शरबत, डायटीशियन से जानें इस शर्बत के ढेर सारे फायदे और आसान रेसिपी

गर्मी के मौसम में कोल्ड ड्रिंक्स और सोडा से कहीं बेहतर है कि आप ठंडा-ठंडा सौंफ का शर्बत पिएं, जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraUpdated at: Mar 29, 2021 14:00 IST
गर्मी में जरूर पिएं सौंफ का शरबत, डायटीशियन से जानें इस शर्बत के ढेर सारे फायदे और आसान रेसिपी

गर्मियों का आगमन शुरू हो चुका है। ऐसे में खुद को हाइड्रेट (Hydrate) रखना बेहद जरूरी है। गर्मियों में धूप से बचने के लिए लोग तरह-तरह के शरबत और घरेलू नुस्खों का प्रयोग करते हैं। जो किसी के लिए फायदेमंद साबित होता है तो किसी के लिए सहयोगी नहीं होता। शरबत या रस का सेवन करते समय यह ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है कि यह हमारे स्वास्थ्य के लिहाज से ठीक भी है या नहीं। ऐसे में आप वरियाली के शरबत (Varyali Sherbat) का प्रयोग कर सकते हैं। जो पूरी तरह से आयुर्वेदिक (Ayurvedic) है। यह शरबत सौंफ और सौंफ के बीजों से मिलकर बनाता है। सौंफ सेहत के लिहाज से बहुत उपयोगी जड़ी बूटी है। इसे माउथ फ्रेशनर के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है। यह खाना पकाने में उपयोग की जाने वाली एक अत्यधिक सुगंधित जड़ी बूटी है। माना जाता है सौंफ का शर्बत आपको उर्जा से भरपूर करने में भी कारगर है। युद्ध के समय पर भी योद्धा इस शरबत का सेवन किया करते थे। सौंफ के बीज में विटामिन सी (Vitamin C), कैल्शियम (Calcium), मैग्नीशियम (Magnesium), पोटेशियम और मैंगनीज जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व प्रदान करते हैं। डायटीशियन मुनमुन गनेरीवाल से जानिए वरियाली के शरबत की रेसेपी। यहां जानिए इसके फायदों के बारे में भी। 

यह भी पढ़ें-: चिलचिलाती धूप में शरबत पीकर बुझाएं अपनी प्यास, जानें आम पोरा शरबत और इमली का अमलाना बनाने का तरीका

जानें इसकी रेसिपी

वरियाली का शरबत बनाने के लिए आप यहां दी गई विधि का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

  • इसके लिए आप आधा कप सौंफ पाउडर लीजिए।
  • आप चाहें तो नींबू के रस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। हालांकि यह अनिवार्य नहीं है, लेकिन शरबत का स्वाद और बढ़ाने के लिए आप इसका प्रयोग भी कर सकते हैं। 
  • एक बड़े चम्मच में काले किसमिश को रखें। 
  • आप इसमें रॉक शुगर का भी प्रयोग कर सकते हैं। 
Fennel Sherbat

शरबत बनाते समय बरतें यह सावधानियां

अब आपको अपने शरबत की सामाग्रियां इकट्ठी कर लेनी है। 

  • वरियाली या सौंफ को एक जगह पर रखकर उसे एक मिक्सर ग्राइंडर में पीस लें। 
  • इसके बाद वरियाली के पाउडर को कम से कम 2 घंटे के लिए पानी में डालकर रख दें। 
  • अब एक चम्मच काले किसमिश (black raisins) को भी दो से तीन घंटे के लिए पानी में डालकर रख दें। 
  • इसके बाद सफेद ऱॉक शुगर का भी इस्तेमाल करें। 
  • अब आप दो से तीन घंटे बाद अपनी सामाग्रियों (ingredients) को पानी से बाहर निकाल लें। एक छलनी लेकर इन सामाग्रियों (ingredients) वाले पानी को छान लें। लेकिन ध्यान रहे कि ऐसा आपको दो घंटे पूरे हो जाने के बाद ही करना है। 
  • अब जो किसमिस आपने पानी में भिगाए हैं उन्हें अच्छे से पीस लें और एक कटोरे में निकालकर रख लें। इसमें रॉक शुगर समेत बची हुई सामाग्रियां भी मिला दें। लीजिए आपके शरबत की सामाग्री तैयार है। आप चाहें तो इसमें नींबू की कुछ बूंदों को उपर से भी मिला सकते हैं। 

वरियाली के शरबत के फायदे

  • वरियाली का शरबत आपके पाचन तंत्र (digestive system) को दुरुस्त रखने में काफी सहायक है। इसके स्वास्थ्यवर्धक गुण आपके पेट में होने वाली समस्याएं जैसे कब्ज, अपच आदि को जड़ से खत्म कर देते हैं। 
  • वरियाली का शरबत आपके शरीर में मौजूद गैस्ट्रिक एंजाइमों के उत्पादन को भी बढ़ाते हैं। जिससे आपका पाचन तंत्र अपना कार्य सुचारू रूप से करता है। 
  • आंखों की सेहत के लिहाज से भी वरियाली के शरबत का उपयोग किया जाता है। इसका सेवन आपकी आंखों की रोशनी बढ़ाने में मददगार है। चश्मे और आंखों की अन्य़ समस्याओं से ग्रस्त लोगों को इसका सेवन जरूर करना चाहिए। 
  • वरियाली का शरबत आपकी बॉडी को डिटॉक्स करता है और आपके रक्त को भी साफ करता है। 
  • रोजाना वरियाली के शरबत का सेवन करने से आप कैंसर जैसी बीमारी के खतरे से भी अपना बचाव कर सकते हैं। 
  • अगर आप अपने बढ़ते वजन को नियंत्रित नहीं कर पा रहे हैं तो नियमित तौर पर वरियाली के शरबत के सेवन से आप वजन कम कर सकते हैं। वजन कम (weight loss) करने में इसे रामबाण माना जाता है।

वरियाली के शरबत को बनाने की विधि पूरी तरह से डायटीशियन द्वारा प्रमाणित है। इस शरबते के नियमित सेवन से आप अपने स्वास्थ्य को कई लाभ पहुंचाएंगे। इस लेख में दिए गए तरीके से इस शरबत को बनाएं।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer