PCOS में फायदेमंद होते हैं कद्दू के बीज, जानें खाने का तरीका

Pumpkin Seeds For PCOS: पीसीओएस (PCOS) की समस्या में कद्दू के बीज का सेवन बहुत फायदेमंद होता है, जानें कैसे करें इसका सेवन। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 14, 2022Updated at: Jul 14, 2022
PCOS में फायदेमंद होते हैं कद्दू के बीज, जानें खाने का तरीका

Pumpkin Seeds Benefits in PCOS: पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम यानी पीसीओएस महिलाओं की फर्टिलिटी और पीरियड्स को प्रभावित करने वाली एक समस्या है। यह समस्या शरीर में हॉर्मोन के असंतुलित होने पर होती है। पीसीओएस के लिए खराब जीवनशैली, इंसुलिन के स्तर में असंतुलन, हार्मोनल इम्बैलेंस और आनुवंशिक कारण जिम्मेदार माने जाते हैं। PCOS को मैनेज करने के लिए कद्दू के बीज का सेवन बहुत फायदेमंद माना जता है। कद्दू के बीज में मौजूद गुण पीसीओएस के लक्षणों को कम करने का भी काम करते हैं। आपको PCOS के लक्षण दिखने पर डॉक्टर की सलाह लेकर कद्दू के बीज का सेवन जरूर करना चाहिए।

पीसीओएस में कद्दू के बीज के फायदे- Pumpkin Seeds Benefits in PCOS

कद्दू के बीज में मौजूद गुण सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माने जाते हैं। PCOS से जूझ रही महिलाओं के लिए कद्दू के बीज को सुपरफूड माना जाता है। इन बीज में मौजूद गुण शरीर में हॉर्मोन के बैलेंस करने का काम करते हैं। कद्दू के बीज में आयरन, कैल्शियम, बीटा-कैरोटीन, फैटी एसिड,  फाइबर, जिंक, मैग्नीशियम, मैंगनीज, एंटीऑक्सिडेंट और फाइटोस्टेरॉल जैसे पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। इनका सेवन करने से हड्डियों के कमजोर होने की समस्या में भी फायदा मिलता है। इसके अलावा कद्दू के बीज में मौजूद ट्रिप्टोफैन भी पीसीओएस में बहुत फायदेमंद होते हैं।

Pumpkin Seeds Benefits For PCOS

PCOS से जूझ रही महिलाओं के लिए कद्दू के बीज इन तरीकों से फायदेमंद माने जाते हैं-

  • इसमें मौजूद जरूरी फैटी एसिड पीसीओएस के लक्षणों को कम करते हैं।
  • कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में फायदेमंद। 
  • हॉर्मोन को बैलेंस करने में उपयोगी।
  • पीरियड्स के बाद ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम करता है।
  • नींद के पैटर्न को बेहतर बनाने में उपयोगी।

PCOS में कैसे करें कद्दू के बीज का सेवन?- How To Eat Pumpkin Seeds in PCOS?

पीसीओएस की समस्या में कद्दू के बीज का सेवन कई तरीकों से कर सकते हैं। आप कद्दू के बीज को डाइट में इन तरीकों से शामिल करें-

1. कद्दू के बीज को हल्का रोस्ट करके स्नैक्स की तरह से इसका सेवन कर सकते हैं।

2. ओटमील या पुडिंग में भी कद्दू के बीज को पीसकर मिला सकते हैं।

3. कद्दू के बीज कच्चे भी खाए जा सकते हैं, आप इसे स्नैक्स के रूप में एक चम्मच सुबह-शाम खा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: PCOS से पीड़ित महिलाएं वजन कम करने के लिए खाएं ये 5 फूड्स

पीसीओएस की समस्या में दिखने वाले लक्षणों में पीरियड्स अनियमित होना, वजन बढ़ना या कम होना, चेहरे पर बाल उगना, स्किन से जुड़ी समस्याएं, मूड स्विंग, बाल झड़ने की समस्या, ओवरी में सिस्ट बनना, टेस्टोस्टेरोन बढ़ना और डिप्रेशन आदि की समस्या हो सकती है। पीसीओएस के लक्षण दिखने पर आपको सबसे पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए। डाइट और लाइफस्टाइल का ध्यान रखने से आप पीसीओएस की समस्या को आसानी से मैनेज कर सकते हैं।

(Image Source: Freepik.com)

Disclaimer